1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. लॉकडाउन लागू करने में ड्रोन का इस्तेमाल, निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के लिए कई लोगों पर मामला दर्ज

लॉकडाउन लागू करने में ड्रोन का इस्तेमाल, निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के लिए कई लोगों पर मामला दर्ज

कोरोना वायरस को लेकर देश में जारी तीन हफ्ते के लॉकडाउन के दूसरे दिन बृहस्पतिवार को पाबंदियों का उल्लंघन करने के खिलाफ चेतावनी जारी करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया।

Bhasha Bhasha
Updated on: March 26, 2020 19:58 IST
use of drones to enforce lockdown- India TV
use of drones to enforce lockdown

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर देश में जारी तीन हफ्ते के लॉकडाउन के दूसरे दिन बृहस्पतिवार को पाबंदियों का उल्लंघन करने के खिलाफ चेतावनी जारी करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया। साथ ही आवश्यक सामग्रियों की आपूर्ति में बाधा नहीं आए इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार के अधिकारियों ने प्रयास तेज कर दिए हैं। राष्ट्रव्यापी अभूतपूर्व बंद का एक दुखद पहलू सामने आया जब 28 वर्षीय एक व्यक्ति ने मुंबई के कांदिवली में घर से बाहर निकलने के लिए अपने छोटे भाई की कथित तौर पर हत्या कर दी।

कांदिवली के समता नगर थाने के एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार की रात को बंद का हवाला देते हुए राजेश लक्ष्मी ठाकुर ने अपने छोटे भाई दुर्गेश को बाहर नहीं निकलने की बार-बार चेतावनी दी और नहीं मानने पर उसने दुर्गेश की गोली मारकर हत्या कर दी। अधिकारी ने बताया कि राजेश को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार की रात को देशवासियों को अगले तीन हफ्ते तक घर की लक्ष्मण रेखा नहीं लांघने की अपील की थी ताकि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए बंद को सफल बनाया जा सके। केंद्र और राज्य सरकारों की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक कोविड-19 से अभी तक कम से कम 15 लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 649 हो गई है। पुलिसकर्मियों की कड़ी निगहबानी के बीच सड़कें सुनसान रहीं लेकिन निषेधाज्ञा का उल्लंघन भी हुआ।

पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने कहा कि पुडुचेरी में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस के एक विधायक पर बंद के नियमों का कथित तौर पर उल्लंघन करने और अपने घर के बाहर करीब 200 लोगों को थैले में सब्जियां बांटने के लिए मामला दर्ज किया गया। उन्होंने संवाददाताओं को व्हाट्सएप पर भेजे संदेश में बताया कि ए.जॉन कुमार और बुधवार को नेल्लीथोप गांव में उनके घर के बाहर इकट्ठा हुए लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। ओरलियापेट की पुलिस ने भी मामला दर्ज होने की पुष्टि की है। पुलिस के वाहन आवासीय इलाकों में गए और सार्वजनिक सूचना प्रणाली के माध्यम से घोषणा की कि सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू है जिसमें पांच से अधिक लोगों के एक जगह इकट्ठा होने पर पाबंदी है और लोगों को घरों के अंदर ही रहने की सलाह दी गई।

श्रीनगर में एक अधिकारी ने बताया कि लोगों की आवाजाही पर पाबंदी लगाने के लिए पुलिस ने ड्रोन का इस्तेमाल कर इस बारे में घोषणाएं कीं। तमिलनाडु में पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 144 का उल्लंघन करने के लिए 1200 से अधिक लोगों पर मामले दर्ज किए। पुलिसकर्मियों ने लोगों में जागरूकता फैलाने के साथ ही उललंघन करने वालों को दंडित करने के लिए अनोखे तरीके अपनाए। शिवगंगा में पुलिस ने उल्लंघन करने वालों के हाथ में थोड़े समय के लिए जागरूकता से संबंधित बैनर पकड़ाए जबकि उन्हें एक-दूसरे से दूर खड़ा किया गया। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए पुलिस ने ऐसा किया। वेल्लोर जिले के गुडियाथम में निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर सार्वजनिक स्थानों पर घूम रहे लोगों को पुलिस ने कानून का पालन करने की शपथ दिलाई।

उत्तर प्रदेश में पुलिस ने आदेशों का उल्लंघन करने के लिए पिछले तीन दिनों में 2802 प्राथमिकियां दर्ज की हैं और 8649 लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं। देश के दूसरे हिस्सों से भी निषेधाज्ञा के साथ पृथक रहने की स्थितियों का उल्लंघन करने के लिए लोगों पर मामले दर्ज किए जाने की सूचना है। लोगों को सामाजिक दूरी का ख्याल रखते हुए किराने का सामान, सब्जियां और दवाएं जैसी आवश्यक सामग्रियां खरीदने की अनुमति दी गई। कई शहरों में पुलिस द्वारा ट्रकों और खाद्यान्न आपूर्ति कर्मियों को रोके जाने की सूचना के बीच अधिकारियों ने पुलिसकर्मियों को समझाया कि बंद लागू करते समय किसी को नहीं डराएं। राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली पुलिस ने अपने सभी कर्मियों को निर्देश दिया कि आवश्यक सेवाओं में लगे लोगों और वाहनों को अपना काम करने दें।

सभी यातायात, पिकेट और बीट पुलिसकर्मियों को बताया गया है कि वे ज्ञात खुदरा दुकानों, संचालकों और ऑनलाइन डिलीवरी सेवाओं को काम करने दें। दिल्ली पुलिस की ई-कॉमर्स वेबसाइट के प्रतिनिधियों के साथ बैठक और आवश्यक सेवाओं के सुचारू आवाजाही में मदद देने के आश्वासन के एक दिन बाद यह कदम उठाया गया है। अधिकारियों ने बताया कि बंद के दौरान सब्जी की ठेली कथित तौर पर क्षतिग्रस्त करने के लिए दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि कांस्टेबल राजबीर आनंद पर्बत थाने में तैनात था। सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल होने के एक दिन बाद यह आदेश आया। वीडियो में कांस्टेबल को एक-एक कर तीन ठेली पलटते हुए देखा जा सकता है।

उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने भी आवश्यक सामानों की आपूर्ति करने वाली दुकानों को चौबीसो घंटे खोलने की अनुमति देने का निर्णय किया है ताकि लोगों की भीड़ न लगे। चंडीगढ़ में लोगों तक आवश्यक सामानों की आपूर्ति के लिए चंडीगढ़ परिवहन की बसों को तैनात किया गया। देश भर में लोगों के घरों में रहने के दौरान राष्ट्रीय पुस्तक न्यास (एनबीटी) ने अपनी चुनिंदा और ज्यादा बिकने वाली किताबों को नि:शुल्क डाउनलोड करने की सुविधा दी है ताकि लोगों को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। एक अधिकारी ने बताया, ‘‘पीडीएफ केवल पढ़ने के लिए है और किसी भी अनधिकृत या व्यावसायिक प्रयोग की अनुमति नहीं है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
coronavirus
X