Saturday, March 02, 2024
Advertisement

इतने साल के लिए भारत लाया जाएगा छत्रपति शिवाजी का वाघ नख, यूके में साइन हुआ एमओयू

छत्रपति शिवाजी महाराज ने इसी वाघ नख की मदद से बीजापुर सल्तनत के दुर्दांत सेनापति अफजल खान को मारा था। इस कारण ब्रिटेन के विक्टोरिया एंड एल्बर्ट म्यूजियम में रखे गए इस वाघ नख के लिए लोगों में काफी आस्था है।

Subhash Kumar Written By: Subhash Kumar @ImSubhashojha
Updated on: October 03, 2023 23:41 IST
 छत्रपति शिवाजी महाराज के 'वाघ नख- India TV Hindi
Image Source : ANI छत्रपति शिवाजी महाराज के वाघ नख।

छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रसिद्ध वाघ नख के भारत आने का रास्ता साफ हो गया है। महाराष्ट्र सरकार के मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और उदय सामंत ने लंदन में स्थित विक्टोरिया और अल्बर्ट संग्रहालय के साथ वाघ नख को भारत लाने के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर कर लिया है। भारत की ये ऐतिहासिक धरोहर लंबे समय से ब्रिटेन (यूके) के संग्रहालय में रखी हुई है। छत्रपति शिवाजी महाराज के वाघ नख को लेकर लोगों में काफी श्रद्धा का भाव है।

इतने साल के लिए आएगा

महाराष्ट्र के मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और उदय सामंत मंगलवार 2 अक्टूबर को छत्रपति शिवाजी महाराज के वाघ नख को भारत भेजे जाने के लिए समझौता करने लंदन स्थित विक्टोरिया और अल्बर्ट संग्रहालय पहुंचे थे। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, वाघ नख को 3 साल तक भारत में रखने के एमओयू पर साइन किया गया है। 

ऐतिहासिक है वाघनख
ब्रिटेन के विक्टोरिया एंड एल्बर्ट म्यूजियम में रखा गया छत्रपति शिवाजी महाराज का ये वाघनख काफी ऐतिहासिक है। उन्होंने इसी वाघनख के जरिए बीजापुर सल्तनत के सेनापति अफजल खान को मारा था। इस कारण लोगों में इसे लेकर काफी आस्था है। इसे वापस लाकर भारत के लोगों के देखने के लिए रखा जाएगा। इसके अलावा सरकार की ओर से छत्रपति शिवाजी महाराज की जगदंबा तलवार को भी वापस लाने पर विचार-विमर्श किया जा रहा है। 

कार्यक्रम भी आयोजित होंगे 
कुछ ही दिनों पहले मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने जानकारी दी थी कि वाघनख को लाने के लिए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ,उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उपमुख्यमंत्री अजित पवार भी साथ रहेंगे। इसके भारत आते ही बड़ा समारोह भी आयोजित किया जाएगा। उन्होंने बताया था कि छत्रपति शिवाजी महाराज के राज्याभिषेक समारोह के 350वें वर्ष के अवसर पर संस्कृति विभाग द्वारा कई कार्यक्रम, डाक टिकट का प्रकाशन का भी फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि वाघनख और जगदंबा तलवार कोई वस्तु नहीं बल्कि हमारी आस्था है। 

ये भी पढ़ें- Explainer: क्यों दिल्ली एनसीआर में बार-बार आते हैं भूकंप, कितना संवेदनशील है राजधानी का क्षेत्र? यहां जानें

ये भी पढ़ें- नेशनल लिबरेशन फ्रंट ऑफ त्रिपुरा और ऑल त्रिपुरा टाइगर फोर्स पर बड़ी कार्रवाई, भारत सरकार ने गैरकानूनी संगठन घोषित किया

 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement