Tuesday, February 27, 2024
Advertisement

जम्मू कश्मीर में भारी बारिश, बर्फबारी और हिमस्खलन की चेतावनी, इन जिलों में खतरा ज्यादा

अगले 24 घंटों में बांदीपोरा, बारामूला, गांदरबल, कुपवाड़ा, कुलगाम और रामबन जिलों में 1,500 से 2,500 मीटर से ऊपर मध्यम खतरे के स्तर का हिमस्खलन होने की संभावना है।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Updated on: January 30, 2023 23:52 IST
जम्मू कश्मीर में भारी बारिश, बर्फबारी और हिमस्खलन की चेतावनी- India TV Hindi
Image Source : PTI जम्मू कश्मीर में भारी बारिश, बर्फबारी और हिमस्खलन की चेतावनी

जम्मू-कश्मीर आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (जेकेडीएमए) ने सोमवार को केंद्र शासित प्रदेश के विभिन्न इलाकों के लिए हिमस्खलन की चेतावनी जारी की और लोगों को अनावश्यक रूप से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी। अगले 24 घंटों में डोडा, किश्तवाड़ और पुंछ जिलों में समुद्र तल से 2,500 मीटर ऊपर उच्च खतरे का स्तर हिमस्खलन होने की संभावना है। उन्होंने चेतावनी दी, अगले 24 घंटों में बांदीपोरा, बारामूला, गांदरबल, कुपवाड़ा, कुलगाम और रामबन जिलों में 1,500 से 2,500 मीटर से ऊपर मध्यम खतरे के स्तर का हिमस्खलन होने की संभावना है। अगले 24 घंटों में अनंतनाग जिले में 1,500 मीटर से ऊपर हिमस्खलन होने की संभावना है। इन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों से सावधानी बरतने और हिमस्खलन संभावित क्षेत्रों में जाने से बचने को कहा गया है।

घाटी में टूट गया बर्फ का पूरा पहाड़ 

हाल ही में लगातार बर्फबारी के कारण प​हाड़ी इलाके बर्फ की चादर से लिपटे पड़े हैं। पहली नजर में तो आप अंदाजा ही नहीं लगा सकते हैं कि आखिर यह है क्या? इसी बीच जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ जिले के पड़दार इलाके में में भी हाल ही में हिमस्खलन हुआ। इसका वीडियो भी सामने आया। इस वीडियो में देखा गया कि बर्फ का पूरा एक पहाड़ टूटकर नीचे गिर रहा है। बर्फ का गिरता हुआ पहाड़ ऐसा दिख रहा है मानो दूध की नदी बह रही हो। 

अटल टनल हाइवे पर भी हुई भारी बर्फबारी

हाल ही में हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति में अटल टनल हाईवे पर भारी बर्फबारी हुई। इसके बाद ट्रैफिक पर असर पड़ा था। भारी बर्फबारी के बाद उपजे हालात से निपटने के लिए प्रशासन भी अलर्ट मोड पर रहा है। बता दें कि अटल टनल हिमाचल प्रदेश में लाहौल-स्पीति जिले के लाहौल और कुल्लू जिले के मनाली को जोड़ती है। यह टनल हिमाचल प्रदेश के रोहतांग दर्रे में 13,058 फुट ऊंचे पहाड़ के नीचे बनी है।

भारी बर्फबारी से यातायात ठप, जनजीवन अस्त व्यस्त

हिमाचल प्रदेश के ऊंचे और जनजातीय क्षेत्रों में सोमवार को मध्यम से भारी बर्फबारी दर्ज की गई। जिससे यातायात ठप और जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। मौसम विभाग के मुताबिक, बर्फबारी के कारण तीन राष्ट्रीय राजमार्गों सहित 484 सड़कों को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। राज्य में शिमला, किन्नौर, लाहौल तथा स्पीति, कुल्लू और चंबा जिलों के कुछ हिस्सों में मध्यम से भारी हिमपात दर्ज की गई।

वहीं, रोहतांग दर्रा, चिटकुल और अटल सुरंग के दक्षिण पोर्टल पर 75 सेमी बर्फबारी दर्ज की गई। जबकि, शिमला के खदराला में 60 सेमी, सोलंग में 55 सेमी, कोठी में 45 सेमी, सांगला में 41.5 सेमी, कल्पा में 39.2 सेमी, नारकंडा और काजा में 30 सेमी बर्फबारी दर्ज की गई। इसके अलावा पूह में 28 सेमी, खोकसर में 18 सेमी, शिलारू में 17.5 सेमी, टिस्सा में 17 सेमी, चौपाल और कुफरी में 16 सेमी तथा केलांग तथा समदो में 14 सेमी और मनाली में तीन सेमी बर्फबारी दर्ज की गई।

जम्मू कश्मीर के इन जिलों में भारी बारिश और बर्फबारी का अलर्ट

मौसम विभाग ने चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, शिमला, लाहौल और स्पीति और किन्नौर की मध्य और ऊंची पहाड़ियों में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश/बर्फबारी के लिए 'ऑरेंज' अलर्ट जारी किया है। वहीं, शुक्रवार तक निचली पहाड़ियों में गरज के साथ बारिश और बिजली गिरने की भविष्य़वाणी की गई है। मौसम विभाग के मुताबिक, डलहौजी में 33 मिमी बारिश दर्ज की गई। 

ये भी पढ़ें

चीनी घुसपैठ पर संसद में होगी चर्चा? जानिए केंद्र सरकार ने सुरक्षा से जुड़े इस मामले पर क्या दिया जवाब?

दुश्मन देश ईरान पर इजरायल ने किया बड़ा हमला, घुसकर ड्रोन से मचाई तबाही, उड़ा दी फैक्टरी

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement