राहुल गांधी फिर बनेंगे कांग्रेस अध्यक्ष? CWC बैठक में प्रस्ताव रखे जाने पर कहा- विचार करूंगा

कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान एक बार फिर राहुल गांधी को मिल सकती है। पार्टी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अगले साल सितंबर में चुनाव होंगे।

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 16, 2021 17:38 IST
राहुल गांधी को फिर मिलेगी कांग्रेस की कमान! सितंबर 2022 तक होगा अध्यक्ष का चुनाव: सूत्र- India TV Hindi
Image Source : PTI राहुल गांधी को फिर मिलेगी कांग्रेस की कमान! सितंबर 2022 तक होगा अध्यक्ष का चुनाव: सूत्र

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान एक बार फिर राहुल गांधी को मिल सकती है। पार्टी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अगले साल सितंबर में चुनाव होंगे। कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत ने राहुल गांधी के नाम का प्रस्ताव रखा जिस पर G-23 नेताओं समेत सभी सदस्यों ने अपनी सहमति जताई। राहुल गांधी ने अध्यक्ष बनाए जाने के प्रस्ताव पर विचार करने को कहा है। इससे पहले आज सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक शुरू हुई।

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी कि एक नवंबर 2021 से 31 मार्च तक कांग्रेस का सदस्यता अभियान चलाया जाएगा। इसके बाद 1अप्रैल से 15 अप्रैल 2022 के बीच कांग्रेस के सांगठनिक चुनावों में हिस्सा लेने वाले वैध उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की जाएगी। 16 अप्रैल से 31 मई तक कांग्रेस में प्राथमिक समितियों, ब्लॉक समितियों एवं अन्य स्तरों पर सांगठनिक चुनाव होंगे। 01 जून से 20 जुलाई 2022 के बीच जिला कांग्रेस के अध्यक्षों, उपाध्यक्षों एवं कोषाध्यक्षों के चुनाव होंगे। 21 जुलाई से 20 अगस्त के बीच प्रदेश स्तर के सांगठनिक चुनाव होंगे और 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच कांग्रेस के अध्यक्ष का चुनाव होगा।

सूत्रों के मुताबिक, CWC की बैठक में ज्यादातर नेता राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाए जाने के पक्ष में हैं। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कपिल सिब्बल समेत ‘जी 23’ समूह के कुछ नेताओं की ओर से पिछले दिनों सार्वजनिक रूप दिए जाने की पृष्ठभूमि में शनिवार को उन्होंने उन्हें निशाने पर लिया और नसीहत देते हुए कहा कि वह ही पार्टी की स्थायी अध्यक्ष हैं तथा उनसे बात करने के लिए मीडिया का सहारा लेने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में यह भी बताया कि अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया 30 जून तक पूरी की जानी थी, लेकिन कोरोना महामारी के कारण ही इसे टालना पड़ा। 

सोनिया गांधी ने किसान आंदोलन, लखीमपुर खीरी हिंसा, महंगाई, विदेश नीति और चीन की आक्रामकता के मुद्दों को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा। कांग्रेस अध्यक्ष ने आगामी विधानसभा चुनावों का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘हमारे सामने कई चुनौतियां आएंगी, लेकिन अगर हम एकजुट रहते हैं एवं अनुशासित रहते हैं और सिर्फ पार्टी के हित पर ध्यान केंद्रित करते हैं तो मुझे पूरा विश्वास है कि हम अच्छा करेंगे। 

सोनिया गांधी ने यह भी बताया कि उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए तैयारियां आरंभ हो चुकी हैं। उन्होंने संगठानात्मक चुनाव का हवाला देते हुए कहा, ‘‘पूरा संगठन चाहता है कि कांग्रेस फिर से मजबूत हो। लेकिन इसके लिए जरूरी है कि एकजुटता हो और पार्टी के हित को सर्वोच्च रखा जाए। इन सबसे ऊपर आत्मनियंत्रण और अनुशासन की जरूरत है।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने जोर देकर कहा, ‘‘अगर आप मुझे बोलने की इजाजत दें तो मैं पूर्णकालिक और सक्रिय अध्यक्ष हूं।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन