1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. ऑटो कंपनियों को लगा झटका, covid 2.0 की वजह से अप्रैल में वाहनों की बिक्री घटी

ऑटो कंपनियों को लगा झटका, covid 2.0 की वजह से अप्रैल में वाहनों की बिक्री घटी

इस साल अप्रैल में वाहनों की बिक्री की तुलना एक साल पहले के समान माह से नहीं की जा सकती, क्योंकि उस समय राष्ट्रीय लॉकडाउन की वजह से वाहनों की बिक्री शून्य थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 01, 2021 19:31 IST
Major auto cos log subdued sales in April amid COVID-19- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Major auto cos log subdued sales in April amid COVID-19

नई दिल्‍ली। देश की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनियों मारुति सुजुकी, हुंडई मोटर, टाटा मोटर्स, किया मोटर्स ने शनिवार को बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर की वजह से अप्रैल में उनके वाहनों की बिक्री मार्च की तुलना में घटी है। हालांकि महिंद्रा एंड महिंद्रा और होंडा कार्स इंडिया ने अपने यात्री वाहनों की बिक्री में वृद्धि दर्ज की है। इस साल अप्रैल में वाहनों की बिक्री की तुलना एक साल पहले के समान माह से नहीं की जा सकती, क्‍योंकि उस समय राष्‍ट्रीय लॉकडाउन की वजह से वाहनों की बिक्री शून्‍य थी।

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने शनिवार को बताया कि कोविड-19 के कारण डिस्पैच के प्रभावित होने से अप्रैल के महीने में उसकी कुल बिक्री चार प्रतिशत घटकर 1,59,691 इकाई रह गई, जो बिक्री इस साल मार्च में 1,67,014 इकाइयों की हुई थी। कंपनी, पिछले साल अप्रैल में घरेलू बाजार में देशव्यापी लॉकडाऊन होने के कारण वाहन की कोई भी इकाई की बिक्री नहीं कर पाई थी। एमएसआई ने कहा कि पिछले महीने उसकी घरेलू बिक्री 1,42,454 इकाई की हुई थी, जो मार्च में 1,55,417 इकाइयों की बिक्री से आठ प्रतिशत कम है। ऑल्टो और एस-प्रेसो सहित मिनी कारों की बिक्री अप्रैल में दो प्रतिशत बढ़कर 25,041 इकाई हो गई जो मार्च में 24,653 इकाई थी।

स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर सहित कॉम्पैक्ट सेगमेंट में वाहनों की बिक्री इस साल मार्च के 82,201 कारों के मुकाबले 12 प्रतिशत घटकर अप्रैल में 72,318 इकाई रह गई। इस साल मार्च में 1,628 इकाइयों की तुलना में मध्यम आकार की सेडान सियाज की बिक्री चार प्रतिशत घटकर 1,567 इकाई रह गई। एमएसआई ने कहा कि विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस और अर्टिगा सहित यूटिलिटी वाहन की बिक्री तीन प्रतिशत घटकर 25,484 इकाई रह गई जो मार्च में 26,174 इकाई थी। हालांकि, अप्रैल में निर्यात 49 प्रतिशत बढ़कर 17,237 इकाइयों की हुई जबकि मार्च में यह निर्यात 11,597 इकाई थी। इस प्रमुख ऑटो कंपनी ने पिछले साल भी अप्रैल में 632 इकाइयों का निर्यात करने में कामयाबी हासिल की थी।

हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड (एचएमआईएल) ने शनिवार को बताया कि अप्रैल 2021 में उसने कुल 59,203 इकाइयों की बिक्री की है, जो मार्च में की गई 64,621 इकाइयों की बिक्री से आठ प्रतिशत की गिरावट को दर्शाता है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि घरेलू बिक्री 49,002 इकाई की हुई, जबकि पिछले महीने 10,201 इकाई का निर्यात हुआ। इस साल अप्रैल की बिक्री का, पिछले साल के इसी महीने की बिक्री से तुलना नहीं है क्योंकि तब देश में कोरोनोवायरस महामारी के प्रकोप के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाऊन के कारण घरेलू बिक्री नहीं हुई थी। हालांकि, कंपनी ने पिछले साल अप्रैल में 1,341 इकाइयों का निर्यात किया था। एचएमआईएल के निदेशक (बिक्री, विपणन और सेवा) तरुण गर्ग ने कहा, ‘‘इन चुनौतीपूर्ण समय में, हम राष्ट्र के साथ एकजुटता में खड़े हैं और प्रभावितों के समर्थन के लिए सभी प्रयास जारी रखे हुए हैं जबकि हमारे प्रयास, मौजूदा समय में मुख्य रूप से लोगों का जीवन और आजीविका का समर्थन करने पर केंद्रित हैं। हमें अप्रैल 2021 में भी अच्छे बिक्री के परिणाम मिले हैं।

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने शनिवार को कहा कि पिछले महीने डीलरों को 9,622 कारें भेजीं। इनोवा क्रिस्टा और फॉरच्यूनर वाहन के निर्माता इस कंपनी ने पिछले साल अप्रैल में कोई बिक्री नहीं कर पाई थी। इसकी वजह कोविड-19 के प्रसार के कारण इसको फैलने से रोकने के लिए सरकार द्वारा राष्ट्रव्यापी स्तर पर लॉकडाऊन लगाया जाना था। टीकेएम के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, नवीन सोनी ने एक बयान में कहा, ''चुनौतियों के बावजूद, हम व्यक्तिगत यातायात की जरूरतों के कारण अच्छी मांग देख रहे हैं।’’ सोनी ने कहा कि हालांकि, देश के विभिन्न हिस्सों में लॉकडाउन ने थोक और खुदरा बिक्री के बीच अंतर को बढ़ाया है। सोनी ने कहा कि फिलहाल कंपनी की प्रमुख जिम्मेदारी अपने कर्मचारियों, उनके परिवारों और अन्य अंशधारकों के स्वास्थ्य को सुरक्षित करना है।

कोरोना के साथ GST राजस्‍व संग्रह ने बनाया एक नया रिकॉर्ड, छुआ अबतक का सबसे ऊंचा आंकड़ा

चारों ओर से आ रही बुरी खबरों के बीच आई ये अच्‍छी खबर....

जनवरी-मार्च तिमाही में मुकेश अंबानी की कंपनी का मुनाफा सुनेंगे तो चौंक जाएंगे आप

Covid-19 के बढ़ते मामलों के बीच मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला...

कोरोना की दूसरी लहर के बीच सरकार ने अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों पर लिया ये फैसला...

 

Write a comment
X