1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. Tesla 2021 से शुरू करेगी भारत में अपना ऑपरेशन, नितिन गडकरी ने बताई ये बात

Tesla 2021 से शुरू करेगी भारत में अपना ऑपरेशन, नितिन गडकरी ने बताई ये बात

टेस्ला इंक के सह-संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एलन मस्क ने अक्टूबर में घोषणा की थी कि कंपनी 2021 में भारतीय बाजार में उतरेगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: December 29, 2020 8:46 IST
Tesla will start India ops early next year, said gadkari- India TV Paisa
Photo:INDIA TV

Tesla will start India ops early next year, said gadkari

नई दिल्‍ली। अमेरिका की इलेक्ट्रिक कार क्षेत्र की प्रमुख कंपनी टेस्ला (Tesla) अगले साल भारत में अपना परिचालन शुरू करेगी। कंपनी भारत में मांग के आधार पर विनिर्माण इकाई लगाने की संभावना तलाशेगी। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को यह जानकारी दी। भारत के भारी-भरकम आठ लाख करोड़ रुपये के कच्चे तेल के आयात को कम करने के लिए गडकरी हरित ईंधन और इलेक्ट्रिक वाहनों पर जोर दे रहे हैं।

टेस्ला इंक के सह-संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एलन मस्क ने अक्टूबर में घोषणा की थी कि कंपनी 2021 में भारतीय बाजार में उतरेगी। गडकरी ने कहा कि अमेरिका की वाहन क्षेत्र की दिग्ग्ज कंपनी टेस्ला अगले साल से भारत में अपनी कारों के लिए वितरण केंद्र खोलेगी। मांग के आधार पर कंपनी यहां अपना विनिर्माण कारखाना लगाने पर भी विचार करेगी। भारत में अगले पांच साल में दुनिया का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक वाहन उत्पादक बनने की क्षमता है।

मंत्री ने कहा कि भारत ने 2030 तक कॉर्बन उत्सर्जन में 30 से 35 प्रतिशत की कटौती की प्रतिबद्धता जताई है। साथ ही भारत अपने आठ लाख करोड़ रुपये के कच्चे तेल के आयात को कम करने का प्रयास कर रहा है। ऐसे में हम हरित ईंधन और बिजली के साथ इलेक्ट्रिक वाहनों पर ध्यान दे रहे हैं। गडकरी ने कहा कि भारत बिजली अधिशेष वाला देश है और यहां ई-मोबिलिटी समाधान के लाभ की संभावनाएं व्यापक हैं।

गडकरी ने कहा कि केंद्र का 2030 में निजी कारों में इलेक्ट्रिक वाहनों का हिस्सा 30 प्रतिशत करने का लक्ष्य है। इसके अलावा वाणिज्यिक कारों में इसे 70 प्रतिशत, बसों में 40 प्रतिशत और दोपहिया और तिपहिया में 80 प्रतिशत करने का लक्ष्य है। इसके लिए सरकार विभिन्न प्रोत्साहन देगी। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन के लिए सरकार की योजना देशभर में सभी 69,000 पेट्रोल पंपों पर कम से कम एक ई-चार्जिंग कियोस्क लगाने की है।

HPCL पेट्रोल पंपों पर मिलेगी बैटरी अदला-बदली की सुविधा

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) के बाद अब हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि.

(एचपीसीएल) अपने चुनिंदा पेट्रोल पंपों पर इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बैटरी अदला-बदली की सुविधा उपलब्ध कराएगी। इसके तहत वह कुछ ही मिनटों में डिस्चार्ज बैटरी के स्थान पर पूरी तरह से चार्ज बैटरी उपलब्ध कराएगी। इसके लिए एचपीसीएल ने वोल्टअप के साथ करार किया है। वोल्टअप एक स्थान पर दोपहिया और तिपहिया वाहनों के लिए बैटरी अदला-बदली सुविधा प्रदान करने वाली स्टार्टअप है।

वोल्टअप ने बयान में कहा कि इस भागीदारी के तहत जयपुर में दो बैटरी अदला-बदली स्टेशन शुरू किए गए हैं। इस भागीदारी के तहत अगले छह माह में देशभर में 50 बैटरी अदला-बदली समाधान केंद्र खोले जाएंगे। चार्जिंग ढांचे की कमी, ऊंची लागत और चार्जिंग में लगने वाले लंबे समय की वजह से देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के रास्ते में अड़चनें आ रही हैं। बयान में कहा गया है कि इस कमी को दूर करने के लिए वोल्टअप और एचपीसीएल ने हाथ मिलाया है। इस भागीदारी के तहत देशभर में एचपीसीएल के नेटवर्क और वोल्टअप की बैटरी अदला-बदली प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में दक्षता का लाभ उठाया जाएगा। इससे पहले आईओसी ने अपने पेट्रोल पंपों पर बैटरी अदला-बदली सुविधा के लिए सन मोबिलिटी के साथ भागीदारी की थी। 

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X