1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Apple ने नहीं दिखाई थी Tesla को खरीदने में दिलचस्‍पी, आज बनी दुनिया की सबसे बहुमूल्‍य ऑटो कंपनी

Apple ने नहीं दिखाई थी Tesla को खरीदने में दिलचस्‍पी, आज बनी दुनिया की सबसे बहुमूल्‍य ऑटो कंपनी

एलन मस्क ने मंगलवार को एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने एप्पल के सीईओ टिम कुक से संपर्क किया था, ताकि उनकी कंपनी द्वारा टेस्ला के अधिग्रहण की संभावनाएं (मौजूदा बाजार मूल्य के दसवें हिस्से के बराबर कीमत पर) तलाशी जा सकें।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: December 23, 2020 12:21 IST
Elon Musk says had once reached out to Apple for acquiring Tesla- India TV Paisa
Photo:AP

Elon Musk says had once reached out to Apple for acquiring Tesla

सैनफ्रांसिस्‍को। दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्‍ट्रॉनिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला (Tesla) के सीईओ एलन मस्क (Elon Musk) ने मंगलवार को कहा कि वह एक समय अपनी इलेक्ट्रिक कार कंपनी एप्‍पल (Apple Inc) को बेचने पर विचार कर रहे थे, लेकिन आईफोन बनाने वाली कंपनी के सीईओ टिम कुक (Tim Cook) ने इसमें कोई दिलचस्‍पी नहीं दिखाई और वह बैठक में ही नहीं आए।

एलन मस्क ने मंगलवार को एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने एप्‍पल के सीईओ टिम कुक से संपर्क किया था, ताकि उनकी कंपनी द्वारा टेस्ला के अधिग्रहण की संभावनाएं (मौजूदा बाजार मूल्य के दसवें हिस्से के बराबर कीमत पर) तलाशी जा सकें। मस्क ने कहा कि उन्होंने बैठक में आने से इनकार कर दिया।

टेस्‍ला का बाजार मूल्‍य 616 अरब डॉलर हुआ

टेस्ला का बाजार मूल्य मंगलवार को शेयर भाव के मुताबिक 616 अरब डॉलर है। इसका दसवां हिस्सा 61.6 अरब अमेरिकी डॉलर है। मस्क ने कहा कि उन्होंने मॉडल तीन कार्यक्रम के सबसे बुरे दिनों में कुक के साथ बैठक करने की कोशिश की। मॉडल तीन कार्यक्रम के तहत टेस्ला ने आम ग्राहकों के लिए पहली इलेक्ट्रिक कार का विकास किया। टेस्ला हाल में 2018 तक वाहन उत्पादन को मुनाफे में लाने के लिए संघर्ष कर रही थी। तभी उसकी किस्मत बदल गई। इसके बाद से कंपनी लगातार मुनाफे में है।

665 प्रतिशत उछला शेयर

इस साल टेस्‍ला के शेयर 665 प्रतिशत बढ़ चुके हैं और यह दुनिया की सबसे कीमती ऑटो विनिर्माता बन गई है। मस्क का ट्वीट इस खबर के बाद आया कि एप्‍पल अपनी इलेक्ट्रिक कार बनाने पर काम कर रही है। टेस्‍ला का शेयर एसएंडपी 500 इंडेक्‍स में शामिल हो गया है।  

आप भी खरीद सकते हैं टेस्‍ला के शेयर

भारत के नागरिक भी अमेरिकी कंपनियों के शेयरों को खरीद सकते हैं। Liberalised Remittance Scheme (LRS) से संबंधित RBI के नोटिफिकेशन के तहत कोई भी भारतीय निवासी बिना किसी विशेष अनुमति के विदेशी बाजारों में हर साल सिर्फ 2,50,000 डॉलर यानी करीब 2 करोड़ रुपये का निवेश कर सकता है।

अगर आप अमेरिका में टेस्ला जैसी कंपनियों में निवेश करना चाहते हैं तो आप इन तरीकों से निवेश कर सकते हैं।

पहला तरीका : किसी इंडियन ब्रोकरेज के साथ ओवरसीज एकाउंट खोलना पड़ेगा। paisa, Vested Finance, ICICI Direct, Kotak Securities और जिरोधा जैसे तमाम ब्रोकरेज हाउस ऐसी सुविधा देते हैं।

दूसरा तरीका : आप किसी विदेशी ब्रोकरेज हाउस में एकाउंट खोलकर निवेश करें। Charles Schwab International Account, Interactive Brokers, TD Ameritrade जैसे विदेशी ब्रोकरेज हाउस ये सुविधा देते हैं। लेकिन इसमें इस बात को ध्यान रखना होगा कि एकाउंट को मेंटेन रखने के लिए भारी शुल्क और मिनिमम डिपॉजिट भी देना पड़ता है।

तीसरा तरीका : आप इंडियन म्यूचुअल फंड या विदेशी निवेश वाले किसी ETF के जरिये निवेश करें। यह अमेरिकी स्टॉक्स में सबसे आसान और किफायती तरीका है। इसके लिए आपको किसी ऐसे असेट इंडियन मैनेजमेंट कंपनी के विदेशी निवेश वाले फंड में निवेश करना होगा, जो ग्लोबल इक्विटीज में सीधे तौर पर या किसी इंटरनेशनल फंड के फीडर फंड के जरिये ग्लोबल इक्विटीज में निवेश करते हैं। इस तरह का निवेश आप अपने ट्रेडिंग और डीमैट एकाउंट का इस्तेमाल करते हुए कर सकते हैं।

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X