1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Flipkart ने GIC, SoftBank, Walmart से जुटाये 26805 करोड़ रुपये, मूल्‍याकंन हुआ 37.6 अरब डॉलर

Flipkart ने GIC, SoftBank, Walmart से जुटाये 26805 करोड़ रुपये, मूल्‍याकंन हुआ 37.6 अरब डॉलर

2007 में स्थापित फ्लिपकार्ट ग्रुप में फ्लिपकार्ट, फैशन विशेषज्ञ साइट मिंत्रा और ईकार्ट शामिल हैं। डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म फोन-पे में भी ग्रुप की बहुलांश हिस्सेदारी है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: July 12, 2021 12:49 IST
 Flipkart raises fund from GIC, SoftBank, Walmart, valuation hits 37.6 billion dollar - India TV Paisa
Photo:FLIPKART

 Flipkart raises fund from GIC, SoftBank, Walmart, valuation hits 37.6 billion dollar

नई दिल्ली। फ्लिपकार्ट ग्रुप (Flipkart Group) ने सोमवार को बताया कि उसने जीआईसी, सीपीपी इन्वेस्टमेंट (कनाडा पेंशन प्‍लान इनवेस्‍टमेंट बोर्ड), सॉफ्टबैंक विजन फंड 2 और वॉलमार्ट से 3.6 अरब अमेरिकी डॉलर (26,805.6 करोड़ रुपये) डॉलर का वित्त पोषण हासिल किया है। ताजा वित्त पोषण के साथ फ्लिपकार्ट समूह का बाजार मूल्यांकन बढ़कर 37.6 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया है।

भारत के ई-कॉमर्स बाजार में अमेजन, रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के जि‍योमार्ट अैर अन्‍य से प्रतिस्‍पर्धा कर रही फ्लिपकार्ट ने कहा कि वह देश में तेजी से बढ़ते उपभोक्‍ता आधार की जरूरतों को पूरा करने के लिए व्‍यक्तियों, टेक्‍नोलॉजी, सप्‍लाई चेन और इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर में निवेश करना जारी रखेगी।

ताजा वित्‍तपोषण चरण में सॉवरेन फंड डिसरप्‍टएडी, कतर इनवेस्‍टमेंट अथॉरिटी, खजानाह नेशनल बरहाद के साथ ही साथ दिग्‍गज निवेशक टेनसेंट, विलहॉगबाइ कैपिटल, अंतरा कैपिटल, फ्रैंकलिन टेम्‍पलटन और टाइगर ग्‍लोबल ने भी हिस्‍सा लिया। फ्लिपकार्ट ने एक बयान में कहा कि इस वित्‍तपोषण के साथ फ्लिपकार्ट ग्रुप का बाजार मूल्‍याकंन बढ़कर 37.6 अरब डॉलर (लगभग 2.79 लाख रुपये) हो गया है।

फ्लिपकार्ट ग्रुप के सीईओ कल्‍याण कृष्‍णमूर्ति ने कहा कि अग्रणी ग्‍लोबल इनवेस्‍टर्स के नेतृत्‍व में यह निवेश भारत में डिजिटल कॉमर्स के वादे और सभी हितधारकों के लिए इस संभावना को अधिकतम करने की फ्लिपकार्ट की क्षमता में उनके भरोसे को दिखाता है। हम अपने उपभोक्‍ताओं की सेवा करते हुए हम किराना सहित लाखों लघु एवं मध्‍यम भारतीय उद्यमों के विकास को बढ़ावा देने पर अपना ध्‍यान केंद्रित करेंगे।

उन्‍होंने कहा कि फ्लिपकार्ट नई श्रेणियों में निवेश करना जारी रखेगा और उपभोक्‍ता अनुभव को बढ़ाने के लिए मेड-इन इंडिया टेक्‍नोलॉजी का फायदा उठाएगा एवं एक वर्ल्‍ड-क्‍लास सप्‍लाई चेन का विकास करेगा। पिछले साल जुलाई में, फ्लिपकार्ट ने अपने बहुलांश शेयरधारक वॉलमार्ट के नेतृत्‍व में 1.2 अरब डॉलर (लगभग 9048 करोड़ रुपये) का वित्‍तपोषण मिलने की घोषणा की थी। उसके बाद कंपनी का मूल्‍याकंन 24.9 अरब डॉलर (1.87 लाख करोड़ रुपये) बताया गया था।

2018 में वॉलमार्क इंक ने ग्रुप में 77 प्रतिशत हिस्‍सेदारी का अधिग्रहण करने के लिए 16 अरब डॉलर का निवेश किया था। 2007 में स्‍थापित फ्लिपकार्ट ग्रुप में फ्लिपकार्ट, फैशन विशेषज्ञ साइट मिंत्रा और ईकार्ट (लॉजिस्टिक और सप्‍लाई चेन इकाई) शामिल हैं। डिजिटल पेमेंट प्‍लेटफॉर्म फोन-पे में भी ग्रुप की बहुलांश हिस्‍सेदारी है।

यह भी पढ़ें: मारुति ग्राहकों के लिए बुरी खबर, swift के साथ CNG वाहन हुए आज से इतने महंगे

यह भी पढ़ें:  इमरान खान ने अपनी सुरक्षा और प्रोटोकॉल पर लिया बड़ा फैसला...

यह भी पढ़ें: Bajaj बाइक खरीदने वालों के लिए अच्‍छी खबर, कंपनी ने कीमत 16800 रुपये घटाई

यह भी पढ़ें: Airtel उपभोक्‍ताओं के लिए खुशखबरी, कंपनी ने 99 रुपये प्रति माह में शुरू की सिक्योर इंटरनेट सेवा

Write a comment
bigg boss 15