1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. LPG सिलेंडर की कीमत 7 साल में हुई डबल, petrol-diesel पर टैक्‍स कलेक्‍शन में हुई 459% की वृद्धि

LPG सिलेंडर की कीमत 7 साल में हुई डबल, petrol-diesel पर टैक्‍स कलेक्‍शन में हुई 459% की वृद्धि

प्रधान ने कहा कि घरेलू सब्सिडीयुक्त एलपीजी की कीमत पिछले कुछ महीनों के दौरान बढ़ी है। दिसंबर 2020 में इसकी कीमत 594 रुपये प्रति सिलेंडर थी और अब इसकी कीमत 819 रुपये है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: March 09, 2021 13:40 IST
LPG price double in 7 years; LPG gas cylinder price doubles in 7 years- India TV Hindi News
Photo:FILE PHOTO

LPG gas cylinder price doubles in 7 years

नई दिल्‍ली।  घरेलू रसोई गैस एलपीजी (LPG) की कीमत पिछले सात सालों के दौरान दोगुना होकर 819 रुपये प्रति सिलेंडर हो गई है। वहीं पेट्रोल और डीजल पर टैक्‍स में वृद्धि के परिणामस्‍वरूप राजस्‍व संग्रह में 459 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। यह जानकारी पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को संसद में दी। लोकसभा में ईंधन कीमतों में वृद्धि पर पूछे गए सवालों का लिखित जवाब देते हुए प्रधान ने कहा कि एक मार्च, 2014 को 14.2 किलोग्राम एलपीजी सिलेंडर की खुदरा कीमत 410.5 रुपये थी, अब यही सिलेंडर बाजार में 819 रुपये में मिल रहा है।

प्रधान ने कहा कि घरेलू सब्सिडीयुक्‍त एलपीजी की कीमत पिछले कुछ महीनों के दौरान बढ़ी है। दिसंबर 2020 में इसकी कीमत 594 रुपये प्रति सिलेंडर थी और अब इसकी कीमत 819 रुपये है। इसी प्रकार, केरोसिन की कीमत मार्च 2014 में 14.96 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर इस महीने 35.35 रुपये प्रति लीटर हो गई है। पेट्रोल और डीजल की कीमत भी पूरे देश में इस समय अपने सर्वकालिक उच्‍च स्‍तर पर है। 

प्रधान ने कहा कि 26 जून 2010 को पेट्रोल और 19 अक्‍टूबर 2014 को डीजल को सरकार के नियंत्रण से मुक्‍त कर दिया गया। तब से पब्लिक सेक्‍टर ऑयल मार्केटिंग कंपनियां इंटरनेशनल प्रोडक्‍ट प्राइस, एक्‍सचेंज रेट, टैक्‍स स्‍ट्रक्‍चर, इनलैंड फ्रेट और अन्‍य लागत कारकों के आधार पर पेट्रोल और डीजल की कीमत पर उचित निर्णय लेती हैं।

मंत्री ने कहा कि 2013 में पेट्रोल-डीजल पर टैक्‍स से सरकारको 52,537 करोड़ रुपये प्राप्‍त हुए, जो बढ़कर 2019-20 में 2.13 लाख करोड़ रुपये हो गया। चालू वित्‍त वर्ष के पहले 11 माह के दौरान केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर एक्‍साइज ड्यूटी से 2.94 लाख करोड़ रुपये हासिल किए हैं। वर्तमान में सरकार पेट्रोल पर 32.90 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 31.80 रुपये प्रति लीटर की दर से एक्‍साइज ड्यूटी वसूल रही है। 2018 में पेट्रोल पर एक्‍साइज ड्यूटी 17.98 रुपये और डीजल पर 13.83 रुपये प्रति लीटर थी।

प्रधान ने कहा कि पेट्रोल, डीजल, एटीएफ, प्राकृतिक गैस और क्रूड ऑयल पर कुल एक्‍साइज कलेक्‍शन 2016-17 में 2.37 लाख करोड़ रुपये था, जो अप्रैल-जनवरी 2020-21 में बढ़कर 3.01 लाख करोड़ रुपये हो गया। नवंबर 2014 और जनवरी 2016 के बीच, सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर एक्‍साइज ड्यूटी को 9 बार बढ़ाया। इन 15 महीनों के दौरान पेट्रोल पर एक्‍साइज ड्यूटी 11.77 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 13.47 रुपये प्रति लीटर बढ़ी है।  

यह भी पढ़ें: महिलाओं को फ्री में मिलेगी कार, जानिए क्‍या है योजना 

यह भी पढ़ें: आधार नंबर की मदद से चंद मिनटों में जेनरेट करें EPF का UAN, ये है आसान तरीका?

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान में पेट्रोल का दाम अन्‍य पड़ोसी देशों की तुलना में है सबसे कम, भारत में है सबसे महंगा

यह भी पढ़ें: PPF vs NPS : जानिए क्‍या है करोड़पति बनने का फॉर्मूला, कहां होगा आपको ज्‍यादा फायदा

यह भी पढ़ें: ऊंचे गारंटीड रिटर्न देने वाली ये हैं टॉप 3 सरकारी स्कीम, जानिए फायदे

Latest Business News

Write a comment
>independence-day-2022