1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. PNB हाउसिंग फाइनेंस देगी महिलाओं को फ्री में कार, जयपुर-इंदौर में महिलाएं कर सकेंगी इससे कमाई

PNB हाउसिंग फाइनेंस देगी महिलाओं को फ्री में कार, जयपुर-इंदौर में महिलाएं कर सकेंगी इससे कमाई

पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने कहा कि इस भागीदारी के तहत जयपुर और इंदौर में महिलाओं को उपहार में इलेक्ट्रिक कारें दी जाएंगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: March 09, 2021 11:38 IST
Free cars to women gives by PNB Housing Finance see details- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Free cars to women gives by PNB Housing Finance see details

नई दिल्‍ली। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस (PNB Housing Finance) ने सुविधाओं से वंचित महिलाओं को ड्राइविंग कौशल प्रदान करने के लिए एक नई पहल की घोषणा की है। कंपनी जयपुर और इंदौर में इन महिलाओं को इलेक्ट्रिक कार (electric cars) भी उपलब्‍ध कराएी। आवास वित्त कंपनी ने इस उद्देश्य के लिए दिल्ली के एनजीओ आजाद फाउंडेशन से हाथ मिलाया है। कंपनी ने कहा कि उसकी नई पहल वूमेंस ऑन व्हील्स कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) का हिस्सा है। इस परियोजनाओं को शी का नाम दिया गया है।

इस कार्यक्रम की घोषणा आठ मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर की गई है। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने कहा कि इस भागीदारी के तहत जयपुर और इंदौर में महिलाओं को उपहार में इलेक्ट्रिक कारें दी जाएंगी। इससे इन शहरों की महिलाएं आजीविका कमा सकेंगी और वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर बन सकेंगी।

इस कार्यक्रम के तहत शहरी झोपड़ पट्टियों में रहने वाली 18 से 35 वर्ष की महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा और उन्‍हें पुर्नवास कॉलोनियों में बसाया जाएगा। 6 से 8 माह के प्रशिक्षण के दौरान न केवल तकनीकी प्रशिक्षण दिया जाएगा बल्कि स्‍व-विकास और अधिकारों के प्रति जागरूक भी किया जाएगा।  

इस पहल से महिला ड्राइवर्स को 4.5 लाख रुपये की वार्षिक आय प्राप्‍त होगी और वह महिला यात्रियों के लिए लगभग 10,000 सुरक्षित यात्रा उत्‍पन्‍न करेंगी, जो सार्वजनिक परिवहन को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाएंगी।  

उत्तराखंड में महिला स्वयं सहायता समूहों के लिए ब्याज-मुक्त ऋण योजना

अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला स्वयं सहायता समूहों के लिए ब्याज—मुक्त ऋण योजना शुरुपये करते हुए उत्तराखंड सरकार ने सोमवार को 156 समूहों को 5.27 करोड़ रुपये का ऋण वितरित किया। वर्चुअल माध्यम से गैरसैंण में आयोजित इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कोविड काल में राज्य को सेवा देने वाली प्रत्येक आंगनबाड़ी एवं आशा कार्यकत्रियों को 10-10 हजार रुपये देने तथा महिला मंगल दलों एवं महिला स्वयं सहायता समूहों को 15-15 हजार रुपये देने की भी घोषणा की।

समाज एवं प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए महिलाओं के सशक्तिकरण को जरूरी बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं की सहभागिता जितनी अधिक बढ़ेगी, उतनी ही तेजी से प्रदेश का विकास होगा।

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान में पेट्रोल का दाम अन्‍य पड़ोसी देशों की तुलना में है सबसे कम, भारत में है सबसे महंगा

यह भी पढ़ें: Punjab Budget 2021: बुजुर्गों को मिलेगी अब दोगुनी पेंशन, महिलाएं कर सकेंगीं बसों में मुफ्त सफर

यह भी पढ़ें: PPF vs NPS : जानिए क्‍या है करोड़पति बनने का फॉर्मूला, कहां होगा आपको ज्‍यादा फायदा

यह भी पढ़ें: Women's Day gift: महिला कर्मचारियों को बच्‍चे की देखभाल के लिए मिलेगी 6 माह की छुट्टी

यह भी पढ़ें: ऊंचे गारंटीड रिटर्न देने वाली ये हैं टॉप 3 सरकारी स्कीम, जानिए फायदे

Write a comment
X