Friday, April 19, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. Paytm Crisis के बीच PhonePe के सीईओ का बयान, ग्राहकों का एक बड़ा हिस्सा जरूर मिलेगा

Paytm Crisis के बीच PhonePe के सीईओ का बयान, ग्राहकों का एक बड़ा हिस्सा जरूर मिलेगा

PhonePe के सीईओ समीर निगम ने कहा कि अगर कहीं नुकसान हो रहा है तो इसका फायदा हमें जरूर मिलेगा।

Abhinav Shalya Edited By: Abhinav Shalya
Updated on: February 20, 2024 9:23 IST
फोनपे- India TV Paisa
Photo:FILE फोनपे

पेटीएम संकट के बीच फोनपे के सीईओ समीर निगम ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने एक ईवेंट के दौरान कहा कि अगर उनके प्रतिद्वंदी का कोई नुकसान होता है तो इसका फायदा उनके प्लेटफॉर्म के यूजर्स बेस में होगा। निगम का बयान ऐसे समय पर आया है जब आरबीआई द्वारा पेटीएम पेमेंट बैंक पर रोक लगा दी गई है, जिस वजह से पेटीएम को संकट का सामना करना पड़ रहा है। 

मुंबई टेक वीक में बोलते हुए निगम ने कहा कि अगर कहीं कोई नुकसान होता है तो मुझे लगता है हमें एक अच्छा शेयर मिलेगा, लेकिन अगर मैं ये कहूं कि मुझे इसका कोई फायदा नहीं मिलेगा तो आप हमें पाखंडी कहेंगे। अगर मैं ये कहूं कि हम पूरा हिस्सा ले लेंगे तो आप अवसरवादी कहेंगे। मैं इन दोनों के बीच में रहना चाहता हूं। 

रिजर्व बैंक ने पेटीएम पेमेंट बैंक पर लगाई रोक

भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से 31 जनवरी को पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर रोक लगाने का ऐलान किया गया था। साथ ही पेटीएम को आदेश दिया था कि वे 29 फरवरी से पेटीएम पेमेंट बैंक की करीब सभी सेवाएं रोक दे, हालांकि, बाद में पेटीएम पेमेंट बैंक को राहत देते हुए इसकी समयसीमा को 15 मार्च कर दिया गया था।

पेटीएम क्यूआर कोड और मशीन सभी काम करते रहेंगे

पेटीएम की ओर से दिए गए स्पष्टीकरण के मुताबिक, पेटीएम के क्यू आर कोड, साउंडबॉक्स और कार्ड मशीन सभी 15 मार्च के बाद भी काम करेगी। आरबीआई द्वारा भी इस बात की पुष्टि की गई है। वहीं, पेटीएम का कहना है कि वे अपने नोडल अकाउंट को एक्सिस बैंक में शिफ्ट कर रहे हैं। इससे मर्चेंट्स को भी पहले की तरह ही सुविधा मिलती रहेगी। वहीं, ईडी की ओर से कंपनी के लेनदेन में फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट (FEMA) का कोई उल्लंघन नहीं पाया गया है। 

बता दें, आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की ओर से पेटीएम पमेंट बैंक पर रोक को लेकर एक बयान दिया गया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि आरबीआई पेटीएम पर लिए गए इस एक्शन का रिव्यू नहीं करेगा।  ये मुद्दा पूरी तरह से वित्तीय अनुपालन न करने का है। असेसमेंट करने के बाद ही केंद्रीय बैंक की ओर से इस पर फैसला लिया है।  

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement