1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. Corona Vaccine: रूस से आई एक और बड़ी खबर, खुद राष्ट्रपति पुतिन ने किया ऐलान

Corona Vaccine: रूस से आई एक और बड़ी खबर, खुद राष्ट्रपति पुतिन ने किया ऐलान

विनियामक अनुमोदन प्राप्त करने के लिए दूसरी रूसी वैक्सीन वेक्टर स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी की ओर से विकसित की गई है। वेक्टर की इस वैक्सीन को 'एपीवैककोरोना' नाम दिया गया है, जो कि एक पेप्टाइड-आधारित वैक्सीन है।

IANS IANS
Updated on: October 14, 2020 22:07 IST
Corona vaccine russia registers another vaccine after sputnik v । रूस से कोरोना वैक्सीन को लेकर एक औ- India TV Hindi
Image Source : PTI Corona vaccine: रूस से कोरोना वैक्सीन को लेकर एक और बड़ी खबर, खुद राष्ट्रपति पुतिन ने किया ऐलान

मास्को. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को घोषणा की कि उन्होंने दूसरी कोविड-19 वैक्सीन को पंजीकृत किया है। मीडिया रिपोर्ट्स में बुधवार को यह जानकारी दी गई। रूस अगस्त में एक कोविड-19 वैक्सीन को नियामक स्वीकृति देने वाला पहला देश बना था, जब स्पुतनिक-5 वैक्सीन का आधिकारिक तौर पर पंजीकरण किया गया था। हालांकि वैज्ञानिक समुदाय में से कुछ लोगों ने इसे जल्दबाजी में उतारी गई वैक्सीन बताते हुए इसकी आलोचना भी की थी।

पढ़ें- जानिए कहां तक पहुंचा भारत में कोरोना वैक्सीन का ट्रायल?

पढ़ें- रूस में तैयार हुई कोरोना की पहली वैक्सीन Sputnik V, जानिए पूरी डिटेल

विनियामक अनुमोदन प्राप्त करने के लिए दूसरी रूसी वैक्सीन वेक्टर स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी की ओर से विकसित की गई है। वेक्टर की इस वैक्सीन को 'एपीवैककोरोना' नाम दिया गया है, जो कि एक पेप्टाइड-आधारित वैक्सीन है। स्पूतनिक न्यूज एंजेसी की रिपोर्ट के अनुसार, पुतिन ने बताया कि चुमकोव केंद्र की ओर से विकसित कोविड-19 के खिलाफ तीसरी रूसी वैक्सीन भी निकट भविष्य में भी पंजीकृत की जाएगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि रूसी उप प्रधानमंत्री तात्याना गोलिकोवा ने कहा कि वह खुद 'एपीवैककोरोना' वैक्सीन के परीक्षण से गुजरी हैं और उन्हें इसके किसी भी दुष्परिणाम (साइड इफेक्ट) का अनुभव नहीं हुआ है।

पढ़ें- Coronvirus Vaccine: कब तक आएगी कोरोना की वैक्सीन? डॉ. हर्षवर्धन ने दिया ये जवाब

पढ़ें- रूस की कोरोना वैक्सीन को लेकर WHO ने कही ये बात

जनवरी की शुरुआत में अमेरिका में आ सकता है कोरोना वायरस का टीका: अमेरिकी अधिकारी

अमेरिका में कोरोना संक्रमण को काबू करने के प्रयासों का नेतृत्व कर रहे अमेरिकी प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा है कि देश में जनवरी 2021 की शुरुआत में कोरोना वायरस का टीका उपलब्ध हो सकता है, जबकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा था कि टीकाकरण इस महीने से शुरू हो सकता है। दोनों दलों के कई सांसदों, विशेषज्ञों और जनस्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि देश सर्दियों में संक्रमण के मामले बढ़ने की आशंका के मद्देनजर इससे निपटने के लिए तैयार नहीं है।

स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग (एचएचएस) में तैयारी और प्रतिक्रिया के सहायक मंत्री डॉ रोबर्ट कैडलेक ने शुक्रवार को एक ईमेल में कहा कि प्रशासन ‘‘सुरक्षित और प्रभावशाली टीकों का उत्पादन’’ तेज कर रहा है ताकि जनवरी 2021 की शुरुआत में उनकी उपलब्धता सुनिश्चित हो सके।’’

एचएचएस का कहना है कि साल के समापन से पहले टीके को मंजूरी मिल सकती है, लेकिन इसके वितरण में समय लगेगा। वहीं, ट्रम्प ने रैलियों, बहस और संवाददाता सम्मेलनों में कहा है कि टीका कुछ सप्ताह में पहुंच सकता है। ट्रम्प ने पिछले सप्ताह एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था, ‘‘हमें लगता है कि हम अक्टूबर में किसी भी समय इसे शुरू कर सकते हैं।’’ (Input- IANS/Bhasha)

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X