Saturday, May 25, 2024
Advertisement

मालदीव के राष्ट्रपति के खिलाफ आ गया ये बड़ा मामला, रिपोर्ट लीक होने से मुइज्जू की कुर्सी पर मंडराया खतरा

भारत से पंगा लेने वाले मालदीव के राष्ट्रपति मो. मुइज्जू की कुर्सी खतरे में पड़ गई है। मुइज्जू के खिलाफ भ्रष्टाचार की एक रिपोर्ट लीक होने से मालदीव में विवाद पैदा हो गया है। विपक्ष ने मुइज्जू के खिलाफ महाभियोग लाने की मांग शुरू कर दी है। इससे मुइज्जू की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: April 17, 2024 22:10 IST
मो. मुइज्जू, मालदीव के राष्ट्रपति। - India TV Hindi
Image Source : AP मो. मुइज्जू, मालदीव के राष्ट्रपति।

माले: भारत के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू की कुर्सी जाने का खतरा अब बढ़ गया है। बता दें की मालदीव में संसदीय चुनाव से ठीक पहले, राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू के 2018 से किए गए कथित भ्रष्टाचार की रिपोर्ट लीक होने के बाद विपक्षी दलों ने मामले की जांच और उन पर महाभियोग की मांग शुरू कर दी है, वहीं राष्ट्रपति ने आरोप को खारिज कर दिया है। मालदीव में मजलिस (संसद) के लिए रविवार को चुनाव होने हैं और मुख्य विपक्षी मालदीव डेमोक्रेटिक पार्टी (एमडीपी) और मुइज्जू की पीपुल्स नेशनल कांग्रेस (पीएनसी) के बीच आरोप-प्रत्यारोप तेज हो गया है।

स्थानीय मीडिया की खबरों में कहा गया है कि देश में राजनीतिक तूफान सोमवार को सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक गुमनाम हैंडल 'हसन कुरुसी' द्वारा एक किए गए एक पोस्ट से शुरू हुआ। पोस्ट में मालदीव पुलिस सेवा और मालदीव मौद्रिक प्राधिकरण की वित्तीय खुफिया इकाई द्वारा तैयार किए गए दस्तावेजों सहित खुफिया रिपोर्ट लीक कर दी गई, जो कथित तौर पर राष्ट्रपति मुइज्जू से संबंधित है। समाचार पोर्टल मालदीव रिपब्लिक के अनुसार 2018 की इन रिपोर्ट में राष्ट्रपति मुइज्जू के निजी बैंक खाते में धन अंतरण में अनियमितताओं का दावा किया गया है।

मुइज्जू पर हैं वित्तीय कदाचार के आरोप

रिपोर्ट में वित्तीय कदाचार के 10 महत्वपूर्ण संकेतकों को रेखांकित किया गया है। समाचार पोर्टल ने कहा कि इन संकेतकों से राजनीति से जुड़े व्यक्तियों के साथ संलिप्तता, गबन, रकम के लेनदेन को छिपाने के लिए कॉर्पोरेट संस्थाओं के उपयोग आदि का पता लगता है। इन आरोपों से देश में राजनीतिक तूफान पैदा हो गया और विभिन्न सोशल मीडिया मंचों पर प्रतिक्रियाएं आने लगीं। मालदीव डेमोक्रेटिक पार्टी और पीपुल्स नेशनल फ्रंट ने पूरे मामले की जांच की मांग की। पूर्व उपराष्ट्रपति डॉ. मोहम्मद जमील अहमद ने लीक हुई खुफिया रिपोर्ट के बाद मुइज्जू पर महाभियोग चलाने की मांग की।

मुइज्जू ने कहा-फंसाने की हो रही कोशिश

समाचार पोर्टल ने दावा किया कि पहली बार वित्तीय खुफिया इकाई की रिपोर्ट लीक हुई है। उसने कहा कि रिपोर्ट या आरोपों की वैधता के संबंध में सरकारी निकायों की कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। मुइज्जू ने मंगलवार देर रात भ्रष्टाचार के आरोपों पर जवाब देते हुए कहा कि विपक्ष उन्हें फंसाने की कितनी भी कोशिश करे, उसे कामयाबी नहीं मिलेगी क्योंकि उन्होंने कोई गलती नहीं की है। उन्होंने विपक्ष पर हताशा के कारण रिपोर्ट लीक करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव अभियानों के दौरान भी यही आरोप लगाए गए थे। (भाषा) 

यह भी पढ़ें

लाहौर हाईकोर्ट में इमरान खान को मिली सबसे बड़ी जीत, पाकिस्तान के लोकतंत्र को लगा तमाचा

UAE के अलावा ओमान से पाकिस्तान तक बारिश और बाढ़ का तांडव, 82 लोगों की मौत

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement