Tuesday, July 23, 2024
Advertisement

उत्तरी हिस्से में पड़ा सूखा तो दक्षिण चीन में बाढ़ और भूस्खलन ने मचाई तबाही, भयावह हैं हालात

चीन के दक्षिणी हिस्सों में मूसलाधार बारिश ने कहर मचा दिया है। बारिश के चलते हुए भूस्खलनों में कई लोगों की मौत हो गई है और कई अन्य लापता है। फसलें भी तबाह हो गई हैं।

Edited By: Amit Mishra @AmitMishra64927
Published on: June 18, 2024 14:03 IST
China Rain and Landslide- India TV Hindi
Image Source : AP China Rain and Landslide

बीजिंग: दक्षिणी चीन में मंगलवार को भारी बारिश ने तबाही मचा दी है। भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलनों से कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई है। बारिश और भूस्खलन की वजह से कई गांवों में बिजली ठप होने के साथ-साथ फसलें पूरी तरह से बर्बाद हो गई हैं। दक्षिणी चीन में जहां बारिश का कहर देखने को मिल रहा है तो वहीं देश के उत्तरी हिस्से को सूखे का सामना करना पड़ रहा है। 

मूसलाधार बारिश 

रविवार से तेज बारिश शरू हुई और बीते 24 घंटे की अवधि के दौरान 372.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। आधिकारिक शिन्हुआ समाचार एजेंसी की खबर के मुताबिक, अधिकारियों ने बताया कि काउंटी में कम से कम 378 घर ढह गए और 880 हेक्टेयर (2,175 एकड़) फसलें नष्ट हो गईं। वहीं वुपिंग में कम से कम 5.72 करोड़ अमेरिकी डॉलर का आर्थिक नुकसान हुआ है। तटीय प्रांत फुजियान की वुपिंग काउंटी में मूसलाधार बारिश के कारण 4 लोगों की मौत हो गई है और 2 अन्य लोग लापता हो गए हैं।

भयावह हैं हालात 

हांगकांग की सीमा से सटे दक्षिणी गुआंगदोंग प्रांत के मेइझोउ शहर में भीषण बाढ़ के कारण हुए भूस्खलन में कम से कम 5 लोगों की मौत हो गई है। स्थानीय मीडिया की खबरों के अनुसार, 15 लोग लापता हैं। मेइझोउ में 1,30,000 से अधिक घरों में बिजली गुल हो गई जबकि कुछ पड़ोसी शहरों और गांवों में सोमवार तक बिजली नहीं आई। स्थानीय अधिकारियों के अनुसार, तीन हेलीकॉप्टर और बचाव दल की 200 से अधिक टीमें लापता लोगों की तलाश में जुटी हैं और प्रभावित क्षेत्रों में सहायता पहुंचा रही हैं। (एपी)

यह भी पढ़ें:

ये लो! पाकिस्तान में ऊंट का पैर ही काट दिया, ये भी जान लीजिए ऐसा शर्मनाक काम किसने किया?

किसके पास कितने परमाणु हथियार? पाकिस्तान से मजबूत हुआ भारत, जानें क्या है चीन का नंबर

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement