Saturday, July 13, 2024
Advertisement

रूस के खिलाफ यूक्रेन का सबसे बड़ा मददगार है अमेरिका, बावजूद बाइडेन को जानें क्यों जेलेंस्की से मांगनी पड़ी माफी

अमेरिकी राष्ट्रपति ने यूक्रेन के प्रेसिडेंट व्लादिमिर जेलेंस्की से माफी मांगी है। पेरिस के एक सम्मेलन के बाद बाइडेन ने जेलेंस्की से माफी मांगी। उन्होंने कहा कि यह माफी वह यूक्रेन को हथियारों की आपूर्ति में अमेरिका की तरफ से हुई देरी के लिए मांग रहे।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: June 07, 2024 21:27 IST
यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की और अमेरिका के प्रेसिडेंट जो बाइडेन। - India TV Hindi
Image Source : PTI यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की और अमेरिका के प्रेसिडेंट जो बाइडेन।

पेरिसः अमेरिका रूस के खिलाफ युद्ध में यूक्रेन का सबसे बड़ा मददगार है। अमेरिका के बल पर ही यूक्रेन रूस जैसे दुनिया के ताकतवर देश से 2 वर्षों से अकेले मोर्चा ले रहा है। अमेरिका ने अब तक यूक्रेन को कई बार अरबों डॉलर के हथियार उपलब्ध कराए हैं। अभी भी अमेरिका ही यूक्रेन के लिए हथियारों का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता बना है। मगर कुछ बात ऐसी है कि उन सबके बावजूद अमेरिका के राष्ट्रपति जो.बाइडन को यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की से माफी मांगनी पड़ गई। 

बाइडेन ने शुक्रवार को पहली बार सार्वजनिक रूप से यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमिर जेलेंस्की से माफी मांगी। इसकी वजह अमेरिकी सैन्य सहायता में महीनों की देरी होना है। बाइडेन ने इसके लिए जेलेंस्की से माफी मांगी। हथियारों की आपूर्ति में देरी के कारण रूस को युद्ध के मैदान में बढ़त हासिल करने में मदद मिली। पेरिस ‘डी-डे लैंडिंग’ की 80वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित समारोह में दोनों नेता शामिल हुए। इस मौके पर बाइडन ने जेलेंस्की से कहा कि वह यूक्रेनी लोगों से उन महीनों के लिए माफी मांगते हैं जब उन्हें यह पता नहीं था कि और सहायता आएगी या नहीं।

अमेरिकी संसद में लटका था मामला

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यूक्रेन को सहायता देने के लिए स्वीकृत दे दी थी, लेकिन यह मामला संसद में अटक गया था। क्योंकि अमेरिका के सभी सांसद यूक्रेन को और अधिक सहायता देने के पक्ष में नहीं थे। लिहाजा बाइडेन का यह बयान उस संदर्भ में था जब अमेरिकी संसद में यूक्रेन को सैन्य सहायता देने का प्रस्ताव छह महीने तक रुका रहा। अप्रैल में हालांकि यह प्रस्ताव कांग्रेस में पारित हो गया और बाइडेन ने यूक्रेन को 61 अरब अमेरिकी डॉलर की सैन्य सहायता पैकज पर हस्ताक्षर किए। बाइडेन ने जोर देकर कहा कि अमेरिकी लोग हमेशा यूक्रेन के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा, “हम अब भी साथ हैं। पूरी तरह से।  (एपी) 

यह भी पढ़ें

भारत से तनाव के बीच नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू, निमंत्रण किया स्वीकार


लाई चिंग ते और पीएम मोदी के बीच एक्स पर बधाई संदेश को लेकर बीजिंग की आपत्ति पर भड़का ताइवान, चीन को सुना दी खरी-खरी
 

 

 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement