Thursday, April 18, 2024
Advertisement

अगर आप भी मंगल ग्रहवासी बनना चाहते हैं तो जल्दी कीजिए आवेदन, NASA पूरा करने जा रहा मानवों का सबसे बड़ा सपना

धरतीवासियों के मंगल ग्रह पर बसने का सपना अब पूरा होने जा रहा है। नासा ने इसके लिए लोगों से आवेदन मांगा है। नासा अपने पहले मार्श मिशन में 1 वर्ष के लिए कुछ लोगों को मंगल ग्रहवासी बनाने जा रहा है। इसमें उसके रहने के लिए 3 डी घर और खाने-पीने की व्यवस्था होगी। मार्श वाक, फसल उत्पादन, व्यायाम कार्य विकसित होंगे।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: February 22, 2024 11:46 IST
नासा के मार्श मिशन में जुटे वैज्ञानिक।- India TV Hindi
Image Source : NASA नासा के मार्श मिशन में जुटे वैज्ञानिक।

मंगल ग्रह पर जीवन की खोज में जुटे नासा के वैज्ञानिक अब उस मुकाम तक पहुंच गए हैं, जिसके बारे में सोचना मानवों का सबसे बड़ा सपना था। नासा के वैज्ञानिक मंगल ग्रह पर मानवों को बसाने की तैयारी कर चुके हैं। पहली खेप में लोगों को एक साल के लिए भेजा जाएगा। मंगल ग्रह पर रहने के लिए वैज्ञानिकों ने 3 डी घर तैयार किया है। यहां मार्श वाक से लेकर, योग, व्यायाम करने और फसल उगाने का प्रयास करने की व्यवस्था की गई है। वैज्ञानिकों के साथ ऐसे भी लोगों की तलाश की जा रही है, जो वहां उनके कार्यों में सहयोग कर सकें। रख-रखाव और फसल उगाने की जिम्मेदारी निभा सकें। 

इसलिए यदि आप भी मंगल ग्रहवासी बनना चाहते हैं तो फिर देर किस बात की है, फटाफट आवेदन कीजिए और नासा के वैज्ञानिकों के साथ मंगल ग्रह वासी बन जाइए। मगर इसके लिए नासा ने कुछ शर्तें रखी हैं, जो भी व्यक्ति उन पैमानों को पूरा करता है, वह मंगल ग्रहवासी बनने का आवेदन कर सकता है। नासा ने साल भर चलने वाले सिमुलेटेड मंगल मिशन के लिए कॉल शुरू की है। यानि नासा अपने एक-वर्षीय मंगल सतह मिशन में भाग लेने के लिए आवेदकों की तलाश कर रहा है। ताकि लाल ग्रह पर मानव अन्वेषण के लिए एजेंसी की योजनाओं को सूचित करने में मदद मिल सके।

वर्ष 2025 में मंगल ग्रहवासी बना देगा नासा

नासा ने तीन नियोजित ग्राउंड-आधारित मिशन तैयार किया है। इसे CHAPEA (क्रू हेल्थ एंड परफॉर्मेंस एक्सप्लोरेशन एनालॉग) कहा जा रहा है। यह वसंत 2025 में शुरू होने वाला है। प्रत्येक CHAPEA मिशन में ह्यूस्टन में NASA के जॉनसन स्पेस सेंटर में स्थित 1,700-वर्ग-फुट, 3D-मुद्रित आवास के अंदर रहने और काम करने वाले चार-व्यक्ति स्वयंसेवक दल शामिल होंगे।  मार्स ड्यून अल्फा कहा जाने वाला यह यह आवास मंगल ग्रह पर एक मिशन की चुनौतियों का अनुकरण करता है, जिसमें संसाधन सीमाएं, उपकरण विफलता, संचार में देरी और अन्य पर्यावरणीय तनाव शामिल हैं।

मंगल पर फसल उगाने की भी तैयारी

इस मिशन पर जाने वाले चालक दल के कार्यों में सिम्युलेटेड स्पेसवॉक, रोबोटिक संचालन, आवास रखरखाव, व्यायाम और फसल वृद्धि भी शामिल है। यानि पहली बार वैज्ञानिक मंगल ग्रह पर फसल उगाने का हैरान कर देने वाला कार्यक्रम शुरू करने जा रहे हैं। इसके लिए ऐसे प्रेरित अमेरिकी नागरिकों या स्थायी निवासियों की तलाश कर रहा है जो स्वस्थ हों, धूम्रपान न करने वाले हों और जिनकी आयु 30 से 55 वर्ष के बीच हो। वह चालक दल के सदस्यों और मिशन नियंत्रण के बीच प्रभावी संचार के लिए अंग्रेजी में बातचीत करने में कुशल हों। आवेदकों को अद्वितीय, पुरस्कृत रोमांचों की तीव्र इच्छा होनी चाहिए और मंगल ग्रह पर पहली मानव यात्रा की तैयारी के लिए नासा के काम में योगदान देने में रुचि होनी चाहिए।

मंगल ग्रह पर जाने वाले आवेदकों के पास होनी चाहिए ये योग्यता

मंगल ग्रह पर जाने के लिए स्वस्थ होने और धूम्रपान रहित होने के साथ कई अन्य शर्तें भी हैं, जिन्हें पूरा करना जरूरी है। आवेदकों के लिए अंतिम तिथि मंगलवार, 2 अप्रैल रखी गई है। अंतरिक्ष यात्री उम्मीदवार आवेदकों के लिए चालक दल का चयन अतिरिक्त मानक नासा मानदंडों का पालन करेगा। इसके लिए उनके पास किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से इंजीनियरिंग, गणित, या जैविक, भौतिक या कंप्यूटर विज्ञान जैसे एसटीईएम क्षेत्र में मास्टर डिग्री के साथ कम से कम दो साल का पेशेवर एसटीईएम अनुभव या विमान चलाने का न्यूनतम एक हजार घंटे का अनुभव आवश्यक है। जिन अभ्यर्थियों ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में डॉक्टरेट कार्यक्रम की दिशा में दो साल का काम पूरा कर लिया है, मेडिकल डिग्री पूरी कर ली है, या एक परीक्षण पायलट कार्यक्रम पूरा कर लिया है, उन पर भी विचार किया जाएगा। चार साल के पेशेवर अनुभव के साथ, जिन आवेदकों ने सैन्य अधिकारी प्रशिक्षण या एसटीईएम क्षेत्र में विज्ञान स्नातक की डिग्री पूरी कर ली है, उन पर विचार किया जा सकता है।

मिशन में भाग लेने वालों को मिलेगा मुआवजा

मिशन में भाग लेने के लिए मुआवजा भी उपलब्ध है। उम्मीदवारों की स्क्रीनिंग प्रक्रिया के दौरान अधिक जानकारी प्रदान की जाएगी। चूंकि नासा आर्टेमिस अभियान के माध्यम से चंद्रमा पर वैज्ञानिक खोज और अन्वेषण के लिए दीर्घकालिक उपस्थिति स्थापित करने के लिए काम कर रहा है। ऐसे में CHAPEA मिशन सिस्टम को मान्य करने और लाल ग्रह पर भविष्य के मिशनों के लिए समाधान विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण वैज्ञानिक डेटा प्रदान करेगा। पहले CHAPEA क्रू के अपने साल भर के मिशन के आधे से अधिक समय पूरे होने के साथ, NASA मंगल अभियानों के दौरान क्रू के स्वास्थ्य और प्रदर्शन समर्थन को सूचित करने में मदद करने के लिए सिम्युलेटेड मिशनों के माध्यम से प्राप्त अनुसंधान का उपयोग कर रहा है। नासा के आर्टेमिस अभियान के तहत, एजेंसी चंद्रमा पर दीर्घकालिक वैज्ञानिक अन्वेषण की नींव स्थापित करेगी, पहली महिला, पहले रंगीन व्यक्ति और अपने पहले अंतरराष्ट्रीय साथी अंतरिक्ष यात्री को चंद्रमा की सतह पर उतारेगी, और मंगल ग्रह पर मानव अभियानों की तैयारी करेगी।

 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement