1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. भारत में कोरोनावायरस से संक्रमित तीसरा मरीज भी मिला, तीनों में कॉमन है एक बात

भारत में कोरोनावायरस से संक्रमित तीसरा मरीज भी मिला, तीनों में कॉमन है एक बात

चीन में 360 से ज्यादा लोगों को मौत की नींद सुला चुका कोरोनावायरस अब पूरी दुनिया में दहशत का नया नाम बन गया है।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 03, 2020 13:44 IST
Coronavirus Kerala, Coronavirus Live Updates, Death toll rises to 304 in China, Coronavirus- India TV Hindi
Coronavirus Live Updates: Three confirmed cases in India, all from Kerala | PTI Representational

नई दिल्ली: चीन में 360 से ज्यादा लोगों को मौत की नींद सुला चुका कोरोनावायरस अब पूरी दुनिया में दहशत का नया नाम बन गया है। दुनिया के कई देशों में इससे संक्रमित लोगों के होने की पुष्टि हुई है। भारत में भी कोरोनावयरस से संक्रमित एक और व्यक्ति के सामने आने से कुल पीड़ित व्यक्तियों की संख्या तीन हो गई है। तीनों मामलों में कॉमन बात यह है कि इस वायरस से पीड़ित तीनों ही शख्स केरल से हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन सभी मरीजों को एकांत में रखा गया है और इनका उपचार किया जा रहा है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि हाल ही में चीन से केरल लौटा यह व्यक्ति कोरोनावायरस से संक्रमित है। मंत्रालय ने कहा, ‘मरीज के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उसे अस्पताल में आइसोलेशन में रखा गया है। मरीज की हालत स्थिर है और उसपर करीब से नजर रखा जा रहा है।’ मरीज चीन में कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित वुहान शहर की यात्रा पर गया था। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को अपने संशोधित यात्रा परामर्श में लोगों से कहा कि चीन के हुबेई प्रांत में जानलेवा कोरोना वायरस के महामारी बनने के मद्देनजर वे देश की यात्रा करने से बचें। 

मंत्रालय ने कहा है कि पड़ोसी देश से लौटने वाले लोगों पर यात्रा (उनके घूमने-फिरने पर) प्रतिबंध लगाया जा सकता है। यात्रा परामर्श रविवार को जारी हुआ था। बता दें कि वुहान से शुरू हुआ कोरोनावायरस संक्रमण अब तक कई देशों के नागरिकों को अपना निशाना बना चुका है। इस वायरस ने दुनिया के कई देशों में दहशत पैदा कर दी है। इस्राइल और अमेरिका समेत कई देशों ने चीनी नागरिकों और चीन से आने वाले लोगों को लेकर खास एहतियात बरतना शुरू कर दिया है। साथ ही तमाम देश अपने नागरिकों को चीन से निकालने में लगे हुए हैं।