1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Kisan Andolan Live: प्रदर्शनकारी किसान निकाल रहे हैं ट्रैक्टर रैली, टिकैत बोले- 2024 तक जारी रहेगा आंदोलन

Kisan Andolan Live: प्रदर्शनकारी किसान निकाल रहे हैं ट्रैक्टर रैली, टिकैत बोले- 2024 तक जारी रहेगा आंदोलन

Kisan Andolan: राकेश टिकैत ने मीडिया से बातचीत में कहा, "हम ट्रैक्टर रैली निकालेंगे। पहले हम 9 बजे डासना से अलीगढ़ वाले रुट तक जाएंगे, दूसरा जत्था नोएडा से पलवल तक जाएगा। सरकार को सांकेतिक संदेश दे रहे हैं कि हमारी बात सुनी जाए।"

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 07, 2021 20:55 IST
Kisan andolan farmer protests tractor rally today delhi NCR haryana punjab singhu border hindi news - India TV Hindi
Image Source : PTI Kisan Andolan Live: किसान आज निकालेंगे ट्रैक्टर रैली, कृषि मंत्री बोले- बड़ी संख्या में किस

नई दिल्ली. देश की राजधानी नई दिल्ली की सीमाओं पर नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों का आंदोलन लगातार जारी है। किसान नेताओं ने आज नए कृषि कानूनों के खिलाफ ट्रैक्टर मार्च निकाल रहे हैं। पश्चिमी यूपी के किसान नेता राकेश टिकैत ने मीडिया से बातचीत में कहा, "ट्रैक्टर रैली 26 जनवरी की तैयारी है। हमारा रूट यहां से डासना है उसके बाद अलीगढ़ रोड पर हम रुकेंगे वहां लंगर होगा फिर वहां से हम वापस आएंगे और नोएडा वाले ट्रैक्टर पलवल तक जाएंगे। हम सरकार को समझाने के लिए ये कर रहे हैं।"

पढ़ें- Kisan Andolan: नड्डा ने ट्वीट किया राहुल गांधी का पुराना वीडियो, पूछा- ये क्या जादू हो रहा है

वहीं दूसरी तरफ सरकार ने आंदोलनकारी किसान संगठनों से तीन नए कृषि कानूनों के जरिए सुधार की भावनाओं को समझने का निवेदन किया है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बुधवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि देशभर से बड़ी संख्या में किसान तीन कृषि कानूनों के समर्थन में सामने आ रहे हैं। तोमर ने विश्वास जताया कि प्रदर्शनकारी संघ किसानों के हितों पर ध्यान केंद्रित करेंगे और रचनात्मक बातचीत के जरिए किसी समाधान पर पहुंचने में सरकार की मदद करेंगे। कानूनों का समर्थन करने वाले एक समूह के साथ बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए तोमर ने कहा कि सरकार देश के किसानों और उनके हितों के प्रति प्रतिबद्ध है। मंत्री ने कहा, "हम उन किसानों से मिल रहे हैं जो तीन कानूनों के समर्थन में आ रहे हैं। साथ में अधिनियमों का विरोध करने वालों के साथ वार्ता जारी रखे हुए हैं।"

पढ़ें- Kisan Andolan: किसानों ने प्रदर्शन स्थल पर ही लगाई फसल, बोले- अभी और भी फसलें बोएंगे

आपको बता दें कि बड़ी संख्या में पंजाब के किसान सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे हैं, जबकि चिल्ला और गाजीपुर बॉर्डर पर भी यूपी वेस्ट और पंजाब के किसान संगठनों किसानों का प्रदर्शन एक महीने से ज्यादा समय से जारी है। केंद्र सरकार और किसानों के प्रतिनिधियों के बीच सात दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन ये आंदोलन को खत्म कराने में नाकाम रही हैं। सरकार ने इन कृषि कानूनों को तीन बड़े सुधारों के तौर पर पेश किया है जिनका लक्ष्य किसानों की आय बढ़ाना और उनकी जिंदगी में सुधार करना है जबकि प्रदर्शनकारी किसानों का दावा है कि ये तीन कानून उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने वाले हैं और एमएसपी और मंडी व्यवस्था के खिलाफ हैं। प्रदर्शनकारी किसानों के साथ अगले दौर की वार्ता आठ जनवरी को होनी है जबकि सरकार कानूनों का समर्थन करने वाले विभिन्न किसान समूहों के साथ बैठक कर रही है।

Live updates : Kisan Andolan Live

Auto Refresh
Refresh
  • 5:48 PM (IST) Posted by Lakshya Rana

    टैक्टरों पर सवार होकर किसान आज प्रदर्शन स्थल से बाहर निकले, और पूरे मार्च के दौरान ट्रैक्टरों पर लगे स्पीकर गानों के जरिए उनकी हौसला अफजाई कर रहे थे। मार्च में शामिल कुछ ट्रैक्टरों पर तिरंगा लहरा रहा था। सड़कों के किनारे खड़े अन्य प्रदर्शनकारी किसान अपने साथियों को अखबार से लेकर चाय और नाश्ता दे रहे थे।

  • 5:47 PM (IST) Posted by Lakshya Rana

    पंजाब में होशियारपुर के हरजिंदर सिंह ने कहा, ‘‘सरकार बैठकों पर बैठकें कर रही है। उन्हें पता है कि हमें क्या चाहिए। हम चाहते हैं कि कानूनों को वापस लिया जाए, लेकिन हमें सिर्फ बातें सुनने को मिल रही हैं। इस रैली के जरिए हम उन्हें बताना चाहते हैं कि हम क्या कर सकते हैं और 26 जनवरी को हम क्या करेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज रैली सिर्फ दिल्ली की सीमाओं पर हो रही है, लेकिन जब हमारे किसान नेता तय करेंगे कि दिल्ली में प्रवेश करना है, तो हम ऐसा ही करेंगे।’’

  • 5:45 PM (IST) Posted by Lakshya Rana

    हरियाणा-दिल्ली की सीमा, सिंघू बॉर्डर पर सड़कों पर सिर्फ ट्रैक्टर, उनपर सवार किसान, उनपर बंधे लाउडस्पीकर दिख रहे थे और पंजाबी धुनों/गीतों के साथ नारे सुनाई दे रहे थे। दिल्ली-हरियाणा की सीमा पर पिछले करीब डेढ़ महीने से प्रदर्शन कर रहे हजारों किसानों ने कृषि कानूनों के खिलाफ अपने विरोध को मजबूत करने के लिए ट्रैक्टर मार्च निकाला। ट्रैक्टर मार्च चार अलग-अलग जगहों- सिंघू से टिकरी बॉर्डर, टिकरी से कुंडली, गाजीपुर से पलवल और रेवासन से पलवल, निकाला गया।

  • 5:11 PM (IST) Posted by Lakshya Rana

    दिल्ली: नए कृषि क़ानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों ने आज महामाया फ्लाईओवर से चिल्ला बॉर्डर तक भी ट्रैक्टर मार्च निकाला।

  • 2:30 PM (IST) Posted by Yashveer Singh

    Farmer Protest

    Image Source : PTI
    Farmer Protest

  • 2:29 PM (IST) Posted by Yashveer Singh

    विरोध प्रदर्शन को आगे बढ़ाते हुए किसानों ने गुरुवार को ट्रैक्टर मार्च निकाला। वहीं मार्च के दौरान जब किसानों को भूख लगी तो ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर ही किसानों ने अपना लंगर शुरू कर दिया। दरअसल किसानों के ट्रैक्टर मार्च में अलग से गाड़ियों में किसानों के लिए खाने का इंतजाम किया गया है। इन गाड़ियों में पानी की व्यवस्था, खाने के लिए रोटी सब्जी और फल रखे गए हैं।

    किसानों के एक जत्थे ने ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर ही अन्य किसान भाइयों के लिए खाने की व्यवस्था करते हुए बीच मार्ग पर ही लंगर सेवा शूरु कर दी। किसानों ने जमीन पर बैठ कर खाना खाया और फिर अपने अन्य साथियों के मार्च में शामिल हो गए। दरअसल गुरुवार सुबह 11 बजे गाजीपुर से किसान नेशनल हाईवे-24 से होकर डासना से पेरिफेरल एक्सप्रेसवे से पलवल पहुंचे। हालांकि इस मार्च को देखते हुए पुलिस प्रसाशन भी सख्त दिखा। प्रशासन द्वारा किसानों के इस मार्च पर पूरी नजर बनी रही, पुलिस विभाग के बड़े अधिकारी भी किसानों के साथ इस मार्च में साथ साथ चलते रहे।

  • 2:27 PM (IST) Posted by Yashveer Singh

    संयुक्त किसान मोर्चा के तत्वाधान में गाजीपुर सीमा से हरियाणा के पलवल तक किसानों की ओर से आज ट्रैक्टर यात्रा निकाली गयी। भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के नेतृत्व में यह यात्रा निकाली गयी। टिकैत आज दोपहर 12 बजे के करीब खुद नीले रंग के ट्रैक्टर पर सवार होकर ट्रैक्टर रैली में शामिल हुए। किसानों ने बताया कि यह ट्रैक्टर यात्रा इस्टर्न पेरीफेरल रोड पर गाजियाबाद के दुहाई, डासना, व गौतमबुद्ध नगर के बील अकबरपुर, सिरसा होते हुए पलवल तक जाएगी और वहां से वापस आएगी।

  • 1:14 PM (IST) Posted by Yashveer Singh

    हरियाणा के पलवल से ट्रैक्टर रैली निकाली

  • 12:11 PM (IST) Posted by Yashveer Singh

    Tractor Rally

    Image Source : PTI
    Tractor Rally

  • 12:09 PM (IST) Posted by Yashveer Singh

    भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) के प्रमुख जोगिंदर सिंह उगराहां ने कहा कि 3500 से ज्यादा ट्रैक्टरों और ट्रॉलियों के साथ किसान मार्च में हिस्सा ले रहे हैं। प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों ने कहा कि 26 जनवरी को हरियाणा, पंजाब और उत्तरप्रदेश के विभिन्न हिस्सों से राष्ट्रीय राजधानी में आने वाले ट्रैक्टरों की प्रस्तावित परेड के पहले यह ‘‘रिहर्सल’’ की तरह है। 

  • 11:45 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    जिस तरह कम्यूनिस्ट लोग राजनीति के लिए आग में घी डाल रहे हैं। वे नहीं चाहते कि देश में शांति हो। मैं किसान यूनियन के भाईयों से कहना चाहता हूं कि शांति बनाए रखें। सरकार वार्ता के लिए हमेशा तैयार है। कल की तारीख भी तय है। कल निश्चित रूप से समाधान निकलेगा: केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

  • 11:44 AM (IST) Posted by Yashveer Singh
  • 11:16 AM (IST) Posted by Yashveer Singh
  • 11:14 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    नूंह में किसानों के ट्रैक्टर मार्च को देखते हुए KMP टोल प्लाज़ापर सुरक्षा बढ़ा दी गई है

    हरियाणा: नूंह में किसानों के ट्रैक्टर मार्च को देखते हुए कुंडली-मानेसर-पलवल टोल प्लाज़ा (KMP) पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सब इंसपेक्टर ने बताया, "प्रशासन ने पूरा प्रबंध किया है। किसान रैली का कोई भी ट्रैक्टर KMP पर नहीं चढ़ने दिया जाएगा, टोल पर ही रोक लिया जाएगा।" #FarmersProtest

  • 11:13 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "जब तक कानून रद्द नहीं होगा तब तक हम यहां बैठे रहेंगे।"

  • 11:12 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    बुराड़ी में किसानों के ट्रैक्टर मार्च को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है

    उत्तर-पश्चिम की DCP ने बताया, "हमारी टीम तैनात है ताकि कानून-व्यवस्था बनी रहे। हम किसान संगठनों से भी बात कर रहे हैं कि अब तक जैसे उन्होंने शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन किया वैसे आगे भी करते रहें।"

  • 11:11 AM (IST) Posted by Yashveer Singh
  • 11:10 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने आईएएनएस को बताया, ये सरकार के खिलाफ किसान भाइयों का गुस्सा है, सरकार को किसानों की बात सुननी चाहिए। ट्रैक्टर मार्च निकाला जा रहा है। ये तो सरकार को सोचना है कि कितनी जल्दी बात खत्म कर सकते हैं। हम तो बस कानून वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

  • 10:07 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    ट्रैक्टर मार्च को देखते हुए बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात

  • 10:07 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    राकेश टिकैत बोले- ट्रैक्टर रैली 26 जनवरी की तैयारी

    ट्रैक्टर रैली 26 जनवरी की तैयारी है। हमारा रूट यहां से डासना है उसके बाद अलीगढ़ रोड पर हम रुकेंगे वहां लंगर होगा फिर वहां से हम वापस आएंगे और नोएडा वाले ट्रैक्टर पलवल तक जाएंगे।हम सरकार को समझाने के लिए ये कर रहे हैं: गाज़ीपुर बॉर्डर से राकेश टिकैत,भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता

  • 10:06 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    किसानों ने ट्रैक्टर रैली शुरू की

    गाज़ीपुर बॉर्डर से किसानों ने ट्रैक्टर रैली शुरू की। किसान आज पूर्वी और पश्चिमी पेरीफेरल एक्सप्रेसवे समेत दिल्ली की चार बॉर्डर पर ट्रैक्टर रैली निकालेंगे।

  • 8:28 AM (IST) Posted by Yashveer Singh
  • 8:27 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    प्रधानमंत्री खुद किसानों के आंदोलन को देखें। अगर किसान चाहते हैं कि कृषि क़ानून रद्द हो तो रद्द करें, अगर नया क़ानून बनाना है तो किसानों के साथ बैठकर नया क़ानून बनाए। सब कह रहे हैं कि सरकार इन क़ानूनों को रद्द करें तो उन्हें रद्द करना चाहिए: कैप्टन अमरिंदर सिंह, पंजाब मुख्यमंत्री

  • 8:26 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    हम ट्रैक्टर रैली निकालेंगे- राकेश टिकैत

    हम ट्रैक्टर रैली निकालेंगे। पहले हम 9 बजे डासना से अलीगढ़ वाले रुट तक जाएंगे दूसरा जत्था नोएडा से पलवल तक जाएगा। सरकार को सांकेतिक संदेश दे रहे हैं कि हमारी बात सुनी जाए। हमने प्रशासन को अपने रुट के बारे में बता दिया है: राकेश टिकैत, भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment