1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. असम समेत पूरे पूर्वोत्तर के लिए सौगात, पीएम मोदी ने किया दो बड़े पुलों का शिलान्यास

असम समेत पूरे पूर्वोत्तर के लिए सौगात, पीएम मोदी ने किया दो बड़े पुलों का शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो बड़े पुलों का शिलान्यास करने के साथ ही आज असम समेत पूरे पूर्वोत्तर को नई सौगात दी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: February 18, 2021 14:49 IST
असम समेत पूरे पूर्वोत्तर के लिए सौगात, पीएम मोदी ने किया दो बड़े पुलों का शिलान्यास- India TV Hindi
Image Source : ANI/TWITTER असम समेत पूरे पूर्वोत्तर के लिए सौगात, पीएम मोदी ने किया दो बड़े पुलों का शिलान्यास

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो बड़े पुलों का शिलान्यास करने के साथ ही आज असम समेत पूरे पूर्वोत्तर को नई सौगात दी है। नरेन्द्र मोदी ने डिजिटल माध्यम से असम में 3,231 करोड़ रुपये की लागत वाली ‘‘महाबाहु-ब्रह्मपुत्र’’ परियोजना का लोकार्पण किया, दो पुलों की आधारशिला रखी । इस अवसर पर उन्होंने कहा कि असम और पूर्वोत्तर के अलग अलग हिस्सों को जोड़ने के अभियान को और आगे बढ़ाया गया है, आज से 2 और बड़े पुलों पर काम शुरू हो रहा है। 

पढ़ें:- खुशखबरी! रेल यात्रियों को मिलेगी और राहत, इन स्पेशल ट्रेनों का हुआ ऐलान, जानिए रूट, टाइमिंग, स्टॉपेज

पीएम मोदी ने कहा- 'मुझे खुशी है कि सर्वानंद सोनवाल जी की सरकार ने इन मुश्किलों को कम करने के लिए पूरी निष्ठा से प्रयास किया है, मजुली में असम का पहला हैलीपॉड बन गया है और अब सड़क का भी तेज और सुरक्षित विकल्प मिलने जा रहा है। वर्षों पुरानी मांग पुल के भूमिपूजन के साथ शुरू हो गई है। 8 किलोमीटर का यह पुल मजुली के हजारों परिवारों की जीवन रेखा बनेगा। सुविधा और संभावनाओं का सेतु बनने वाला है। असम और पूर्वोत्तर के अलग अलग हिस्सों को जोड़ने के अभियान को और आगे बढ़ाया गया है, आज से 2 और बड़े पुलों पर काम शुरू हो रहा है।'

पढ़ें:गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने बनाई आंदोलन की नई रणनीति, अब करेंगे यह काम

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा-'धुबरी से मेघालय में फुलबारी तक 19 किलोमीटर लंबा पुल जब तैयार हो जाएगा तो इससे बराग खाटी की कनेक्टिविटी मजबूत होगी और मेघालय मणिपुर तथा मिजोरम और त्रिपुरा की असम से दूरी और कम हो जाएगी। मेघालय और असम के बीच अभी सड़क मार्ग से जो दूरी करीब 250 किलोमीटर है वह भविष्य में सिर्फ 19-20 किलोमीटर रह जाएगी। अन्य देसों के साथ अंतरराष्ट्रीय यायायात के लिए भी यह पुल महत्वपूर्ण होगा।' 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X