Farmer Protest: किसान फिर आंदोलन की राह पर, लखीमपुर खीरी हिंसा के विरोध में आज से 20 अगस्त तक करेंगे धरना-प्रदर्शन

Farmer Protest: यूपी सूबे के सभी जिलों और पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान सहित अन्य राज्यों में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। यूपी सूबे के सभी जिलों और पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान सहित अन्य राज्यों में धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Updated on: August 18, 2022 8:53 IST
Farmer Protest- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Farmer Protest

Highlights

  • लखीमपुर खीरी में 18 अगस्त से 20 अगस्त तक संयुक्त रूप से धरना
  • पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी धरना प्रदर्शन
  • पंजाब के हजारों किसान भी प्रदर्शन में लेंगे हिस्सा

Farmer Protest: संयुक्त किसान मोर्चा यूपी सहित देश के कई राज्यों में 75 घंटे का धरना प्रदर्शन करेगा। संयुक्त मोर्चे की ​ओर से स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में लखीमपुर खीरी में 18 अगस्त से 20 अगस्त तक संयुक्त रूप से धरना दे रहा है। इस दौरान केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खासत करने की मांग भी की जाएगी। संयुक्त मोर्चा की ओर से मोर्चा की तरफ से यूपी सूबे के सभी जिलों और पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान सहित अन्य राज्यों में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। संयुक्त किसान मोर्चे की मांग है कि लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त किया जाए। इस मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा आरोपी हैं। 

पंजाब के 10 हजार किसान भी प्रदर्शन में लेंगे हिस्सा

भारतीय किसान यूनियन (एकता-उग्रहान) के अध्यक्ष जोगिंदर सिंह उग्रहान के अनुसार वे एसकेएम के आह्वान पर लखीमपुर खीरी जा रहे हैं। वहां 72 घंटे तक चलने वाले धरने में हिस्सा लेंगे। बीकेयू (एकता-उग्रहान) के महासचिव सुखदेव सिंह कोकरीकलां ने कहा कि करीब 2 हजार किसान विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए यूपी के लिए रवाना हुए हैं। इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। बीकेयू (दोआबा) के अध्यक्ष मनजीत सिंह राय ने कहा कि पंजाब के 10 हजार किसान इस विरोध प्रदर्शन में भाग लेंगे।

आंदोलन के दौरान दर्ज केस वापस लेने की डिमांड

संयुक्त किसान मोर्चा ने इससे पूर्व लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले में सरकार के खिलाफ 18 से 20 अगस्त तक विरोध प्रदर्शन का निर्णय लिया था। किसान कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के दौरान दर्ज मामलों को केंद्र से वापस लेने की भी डिमांड कर रहे हैं। इसके अलावा एसकेएम ने प्रदर्शन के दौरान मारे गए किसानों के परिजनों को मुआवजा देने तथा फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी देने की भी डिमांड भी की है।

लखीमपुर खीरी हिंसा में 4 किसानों सहित 8 की हुई थी मौत

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में वर्ष 2021 में यानी पिछले साल 3 अक्टूबर को हिंसा के दौरान 4 किसानों सहित 8 लोगों की मृत्यु हो गई थी। इस मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा 'टेनी' के पुत्र ​आशीष मिश्रा को गिरफ्तार किया गया था। इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ पीठ ने पिछले दिनों लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र 'टेनी' के बेटे आशीष मिश्र उर्फ मोनू की जमानत याचिका खारिज कर दी थी।

Latest India News

navratri-2022