Friday, July 19, 2024
Advertisement

प्रज्वल रेवन्ना के MLC भाई ने दो लोगों पर दर्ज कराई FIR, यौन शोषण के झूठे मामले में बदनाम करने का लगाया आरोप

होलेनरसीपुर पुलिस ने शुक्रवार को दो व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की, जिन्होंने कथित तौर पर एमएलसी सूरज रेवन्ना से पैसे की मांग की थी और धमकी दी थी कि अगर उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वे उन्हें बदनाम कर देंगे।

Reported By : T Raghavan Edited By : Mangal Yadav Updated on: June 22, 2024 8:21 IST
JDS एमएलसी सूरज रेवन्ना- India TV Hindi
Image Source : FILE-ANI JDS एमएलसी सूरज रेवन्ना

हासन: जेडीएस एमएलसी और पूर्व प्रधान मंत्री एचडी देवगौड़ा के पोते ने सूरज रेवन्ना ने पुलिस में शिकायत की है कि उनकी पार्टी का एक कार्यकर्ता उनसे पैसे ऐंठने के लिए उनके खिलाफ झूठा यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज करने की धमकी दे रहा है। सूरज रेवन्ना के करीबी सहयोगी शिवकुमार ने शुक्रवार को शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के बाद होलेनरसीपुरा पुलिस ने चेतन केएस और उनके बहनोई के खिलाफ शुक्रवार को प्राथमिकी दर्ज की। चेतन ने भी सूरज रेवन्ना पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।

सूरज ने शिकायत में लगाया ये आरोप

सूरज होलेनारसीपुरा विधायक एचडी रेवन्ना के बेटे और हासन के पूर्व सांसद प्रज्वल रेवन्ना के बड़े भाई हैं जो कथित तौर पर कई महिलाओं के यौन उत्पीड़न के आरोप में पुलिस हिरासत में हैं। शिकायत के मुताबिक, शिवकुमार ने आरोप लगाया कि चेतन उनका दोस्त बन गया और 'सूरज रेवन्ना ब्रिगेड' के लिए काम करने लगा। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि हाल ही में चेतन ने अपने परिवार को चलाने के लिए पैसे मांगे लेकिन जब शिवकुमार ने उसे पैसे देने से इनकार कर दिया तो उसने सूरज के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराने की धमकी दी कि उसने उसका यौन उत्पीड़न किया।

पुलिस ने दो लोगों पर दर्ज किया मामला

शिवकुमार के अनुसार, चेतन ने 5 करोड़ रुपये की मांग की और बाद में मांग घटाकर 2 करोड़ रुपये कर दी। पुलिस ने चेतन और उसके बहनोई के खिलाफ धारा 384 (जबरन वसूली), 506 (आपराधिक धमकी) और 34 (साजिश में दूसरों को शामिल करना) के तहत मामला दर्ज किया है।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement