यूपी में पकड़ा गया जैश-ए-मोहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान से जुड़ा आतंकी, कहा- मुझे नूपुर शर्मा को मारने का जिम्मा मिला था

उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते ने सहारनपुर जिले के कुंडा कला गांव के 25 वर्षीय मोहम्मद नदीम को गिरफ्तार किया है।

Reported By : Ruchi Kumar Edited By : Vineet KumarPublished on: August 12, 2022 20:05 IST
Nupur Sharma, Nupur Sharma News, Nupur Sharma Controversy, Nupur Sharma Mohammed- India TV Hindi News
Image Source : FILE/INDIA TV एटीएस की गिरफ्त में आए नदीम ने कहा है कि उसे नूपुर शर्मा को मारने का जिम्मा मिला था।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (ATS) ने शुक्रवार को सहारनपुर से जैश-ए-मोहम्मद एवं तहरीक-ए-तालिबान से जुड़े एक कथित आतंकवादी को गिरफ्तार किया है। सूबे के एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि सहारनपुर जिले में गंगोह थाना क्षेत्र के कुंडा कला गांव के 25 वर्षीय मोहम्मद नदीम को एटीएस ने गिरफ्तार किया है। बयान में दावा किया गया है कि नदीम ने पूछताछ में कबूल किया है कि उसे जैश-ए-मोहम्मद एवं तहरीक-ए-तालिबान के आतंकी ने नूपुर शर्मा की हत्या करने का जिम्मा दिया था।

पहले भी हो चुकी हैं कई खौफनाक वारदातें

बता दें कि बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा हजरत पैगंबर पर कथित विवादित टिप्पणी के बाद सुर्खियों में आई थीं। देश के कई हिस्सों से नूपुर शर्मा का समर्थन करने की वजह से लोगों पर हमले की खबर सामने आई है। उदयपुर का कन्हैयालाल हत्याकांड और अमरावती का उमेश कोल्हे हत्याकांड कई दिनों तक अखबारों की सुर्खियां बना था। वहीं, नूपुर शर्मा की हत्या के इरादे से सीमा पार कर आया एक पाकिस्तानी शख्स भी बीएसएफ के हतथे चढ़ा था। ऐसे में नदीम का भी नूपुर की हत्या के मकसद से पकड़े जाना काफी चिंताजनक है।

Nupur Sharma, Nupur Sharma News, Nupur Sharma Controversy, Nupur Sharma Mohammed

Image Source : INDIA TV
यूपी एटीएस की गिरफ्त में मोहम्मद नदीम।

बम बनाना सीख रहा था मोहम्मद नदीम! 
नदीम के पास से पुलिस ने एक मोबाइल, दो सिम और विभिन्न प्रकार का बम बनाने का ट्रेनिंग मैन्युअल बरामद किया है। उसके खिलाफ लखनऊ के एटीएस थाने में यूएपीए समेत सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। प्रशांत कुमार ने बताया कि नदीम नदीम जैश-ए-मोहम्मद एवं तहरीक-ए-तालिबान से प्रभावित होकर फियादीन हमले की तैयारी कर रहा था। उनके मुताबिक, गिरफ्तारी के बाद नदीम के पास से बरामद मोबाइल फोन की शुरुआती जांच में पुलिस को पाकिस्तान और अफगानिस्तान के आतंकियों से चैट और वॉइस मैसेज भी मिले।

2018 से ही आतंकी गुटों के संपर्क में था नदीम
बयान में कहा गया है कि पूछताछ में नदीम ने यह बात मानी है कि वह 2018 से जैश-ए-मोहम्मद एवं तहरीक-ए-तालिबान के आतंकियों के सीधे संपर्क में था। उसने यह भी स्वीकार किया कि उसे जैश-ए-मोहम्मद एवं तहरीक-ए-तालिबान के आतंकी स्पेशल ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान बुला रहे थे जिस पर वह वीजा लेकर पाकिस्तान और सीरिया जाने की प्लानिंग कर रहा था।

Latest Uttar Pradesh News

navratri-2022