1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. Skoda ने पेश किया 9.49 लाख रुपए में Rapid का ऑटोमैटिक वेरिएंट, Toyota ने भारतीय बाजार में निवेश की जताई प्रतिबद्धता

Skoda ने पेश किया 9.49 लाख रुपए में Rapid का ऑटोमैटिक वेरिएंट, Toyota ने भारतीय बाजार में निवेश की जताई प्रतिबद्धता

कंपनी ने कहा कि उसकी नई सी-श्रेणी की सेडान नौ प्रतिशत अधिक ईंधन की बचत करती है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 18, 2020 12:24 IST
Skoda launches automatic version of Rapid- India TV Paisa
Photo:MOTOR1

Skoda launches automatic version of Rapid

नई दिल्‍ली। स्कोडा इंडिया ने त्यौहारी मौसम से पहले अपनी लोकप्रिय कार रैपिड का स्वचालित ट्रांसमिशन संस्करण को भारतीय बाजार में पेश किया है। इसकी शुरुआती एक्सशोरूम कीमत 9.49  लाख रुपए रखी गई है। कंपनी ने इसके मैनुअल संस्करण को इसी साल मई में पेश किया था। दोनों ही संस्करण में टर्बोचार्ज स्ट्रैटिफाइड इंजेक्शन इंजन है। यह ईंधन की खपत कम करता है और कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन को कम करता है।

कंपनी ने कहा कि उसकी नई सी-श्रेणी की सेडान नौ प्रतिशत अधिक ईंधन की बचत करती है। स्कोडा इंडिया ऑटो के ब्रांड निदेशक जैक हॉलिस ने एक वर्चुअल कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत दुनिया के सबसे कड़े लॉकडाउन से बाहर आया है। अब यह त्यौहारी मौसम की तरफ बढ़ रहा है। हमारी जून में बिक्री फरवरी की तुलना बढ़ गई और जुलाई की बिक्री जून से भी बेहतर रही। हॉलिस ने कहा कि जुलाई में हमने 922 कार की बिक्री की और अगस्त में यह 1,000 के आंकड़े को पार कर गई।

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने भारतीय बाजार को लेकर अपनी प्रतिबद्धता दोहराई

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने गुरुवार को कहा कि वह भारतीय बाजार और उसके राष्ट्रीय उद्देश्यों को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध है। इसके साथ ही कंपनी ने एक बार फिर अपने एक वरिष्ठ अधिकारी के इस दावे का खंडन किया कि टोयोटा अत्यधिक करों के चलते भारत में अपने विस्तार को रोक देगी। इनोवा और फॉर्च्यूनर जैसे मॉडलों की बिक्री करने वाली ऑटो निर्माता ने कहा कि उसे भारत की आर्थिक विकास क्षमता में पूरा विश्वास है और वह इस दिशा में योगदान देने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

टीकेएम के प्रबंध निदेशक मासाकाजू योशिमुरा ने एक बयान में कहा कि भारत की वृद्धि, भारत के साथ वृद्धि के अपने दृष्टिकोण के तहत देश में अपनी उपस्थिति के पिछले दो दशक के दौरान कंपनी ने स्किल इंडिया और मेक इन इंडिया जैसी पहलों के अनुरूप विश्वस्तरीय प्रतिभाएं तैयार करने के लिए निवेश किया है और स्थानीय आपूर्तिकर्ताओं के विकास के लिए अथक परिश्रम किया है। उन्होंने कहा कि भारत में कंपनी का संचालन उसकी दीर्घकालिक वैश्विक रणनीति का एक अभिन्न हिस्सा है।

योशिमुरा ने कहा कि इन प्रयासों के तहत टोयोटा समूह घरेलू और निर्यात बाजार, दोनों के लिए आने वाले वर्षों में भारत में 2,000 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश करेगा। उन्होंने कहा कि कंपनी बाजार में नई, पर्यावरण के अनुकूल और विश्व स्तरीय प्रौद्योगिकी तथा सेवाओं को बढ़ावा देने का इरादा रखती है। टीकेएम जापान की टोयोटा मोटर कंपनी और किर्लोस्कर समूह के बीच एक संयुक्त उद्यम है। इससे पहले टीकेएम के वाइस चेयरमैन और पूर्णकालिक निदेशक शेखर विश्वनाथन शेखर ने एक साक्षात्कार में कहा था कि कंपनी भारत में अपना विस्तार रोक देगी। उन्होंने यह कहते हुए भविष्य के निवेश को भी खारिज कर दिया था कि भारत में कारों और मोटरबाइक पर कर इतने अधिक हैं कि कंपनी के लिए आगे बढ़ना काफी मुश्किल है।

 

Write a comment
X