1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. चीन से आयात होने वाले कुछ स्टील उत्पादों पर सरकार ने लगाया डंपिंग रोधी शुल्क

चीन से आयात होने वाले कुछ स्टील उत्पादों पर सरकार ने लगाया डंपिंग रोधी शुल्क

स्टील उत्पादों पर कम से कम शुल्क 13.70 डॉलर प्रति टन का है और अधिक से अधिक 173.10 डॉलर प्रति टन का शुल्क है। वियतनाम, चीन और दक्षिण कोरिया में तैयार होने वाले और इन देशों से भारत को निर्यात होने वाले कुछ स्टील उत्पादों पर यह शुल्क लागू किया गया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 23, 2020 21:26 IST
India imposes anti dumping duty on certain steel...- India TV Paisa
Photo:FILE

India imposes anti dumping duty on certain steel products imported from China Vietman and Korea

नई दिल्ली। घरेलू स्टील उद्योग को सस्ते आयातित स्टील की मार से बचाने के लिए केंद्र सरकार ने कदम उठाया है। सरकार ने चीन से आयात होने वाले कुछ स्टील उत्पादों पर डंपिंग रोधी शुल्क लागू कर दिया है। चीन के अलावा वियतनाम और दक्षिण कोरिया से आयात होने वाले कुछ स्टील उत्पादों पर भी डंपिंग रोधी शुल्क लगाया गया है। वित्त मंत्रालय के दायरे में आने वाले केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड की तरफ से इसको लेकर अधिसूचना जारी कर दी गई है। 

यह डंपिंग रोधी शुल्क अलग अलग उत्पादों पर अलग अलग है, कुछ उत्पादों पर 14.30 डॉलर प्रति टन का शुल्क लगाया गया है तो कुछ पर 56.96 डॉलर प्रति टन का। कम से कम शुल्क 13.70 डॉलर प्रति टन का है और अधिक से अधिक 173.10 डॉलर प्रति टन का शुल्क है। वियतनाम, चीन और दक्षिण कोरिया में तैयार होने वाले और इन देशों से भारत को निर्यात होने वाले कुछ स्टील उत्पादों पर यह शुल्क लागू किया गया है। 

सरकार के इस फैसले से घरेलू स्टील उत्पादकों को बड़ी राहत मिलेगी। विदेशों से आने वाले सस्ते स्टील की वजह से घरेलू स्टील उत्पादकों पर मार पड़ रही थी और साथ में घरेलू स्तर पर स्टील उत्पादन पर भी असर पड़ रहा था। हालांकि सरकार के इस कदम से कुछ स्टील उत्पादों के दाम में हल्की बढ़ोतरी जरूर हो सकती है लेकिन लंबी अवधि में यह फैसला घरेलू स्टील उद्योग के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। 

प्रधानमंत्री मोदी भी लंबे समय से मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम के जरिए घरेलू स्तर पर मैन्युफैक्चरिंग बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं और सरकार का यह कदम इसी दिशा में फायदेमंद साबित हो सकता है। 

 

Write a comment
X