1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन की घोषणा के बाद आई अच्‍छी खबर, भारत का जुलाई में पाम तेल आयात 43% घटा

राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन की घोषणा के बाद आई अच्‍छी खबर, भारत का जुलाई में पाम तेल आयात 43% घटा

भारत मुख्यता इंडोनेशिया और मलेशिया से पाम तेल का आयात करता है और सोयाबीन तेल सहित क्रूड सॉफ्ट ऑइयल की एक छोटी से मात्रा का आयात अर्जेंटीना से किया जाता है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: August 16, 2021 15:23 IST
India's July palm oil imports dip over 43 pc to 4.65 lakh tonne- India TV Paisa
Photo:PTI

India's July palm oil imports dip over 43 pc to 4.65 lakh tonne

नई दिल्‍ली। भारत का पाम तेल आयात वार्षिक आधार पर जुलाई में 43.55 प्रतिशत घटकर 4.65 लाख टन रह गया। उद्योग संगठन सॉलवेंट एक्‍सट्रैक्‍टर्स एसोसिएशन (एसईए) ने सोमवार को बताया कि आयात में गिरावट का मुख्‍य कारण उच्‍च घरेलू स्‍टॉक है। भारत दुनिया का प्रमुख खाद्य तेल खरीदार है। जुलाई 2020 में भारत ने 8.24 लाख टन पाम तेल का आयात किया था। उल्‍लेखनीय है कि पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को दाल और खाद्य तेलों के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्‍य से राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन ऑयल पाम मिशन की घोषणा की थी और इसमें 11 हजार करोड़ रुपये से अधिक के निवेश का ऐलान किया था।  

देश का कुल खाद्य तेल आयात इस साल जुलाई में 37 प्रतिशत घटकर 9.17 लाख टन रहा, जो एक साल पहले समान अवधि में 15.17 लाख टन था। देश के कुल खाद्य तेल आयात में पाम तेल की हिस्‍सेदारी 60 प्रतिशत से अधिक है। एसईए के मुताबिक, घरेलू बाजार में अधिक स्‍टॉक के कारण पिछले महीने की तुलना में जुलाई में आयात घटा है।

सरकार ने 30 जून को आरबीडी पामोलीन और पाम तेल के अप्रतिबंधित आयात को इस साल दिसंबर तक जारी रखने का फैसला किया था। एसईए ने इसे घरेलू रिफाइनर्स और तिलहनों के लिए नुकसानदायक बताया है। एसईए ने कहा कि इस फैसले से साउथ एशियन फ्री ट्रेड एरिया (साफ्टा) एग्रीमेंट के तहत नेपाल और बांग्‍लादेश से शून्‍य ड्यूटी पर रिफाइड तेलों के आयात के लिए दरवाजे खुल जाएंगे।

पाम तेल उत्‍पादों में, कच्‍चे पाम तेल (सीपीओ) का आयात इस साल जुलाई में घटकर 4.51 लाख टन रह गया, जो एक साल पहले समान अवधि में 8.20 लाख टन था। क्रूड पाम कर्नेल तेल (सीपीकेओ) का आयात भी घटकर 250 टन रह गया, जो पिछले साल समान माह में 4800 टन था। हालांकि इस साल जुलाई में आरबीडी पामोलीन का आयात 13,895 टन रहा, जो एक साल पहले समान अवधि में शून्‍य था। 

सोयाबीन तेल का आयात भी जुलाई में घघ्‍टकर 3.79 लाख टन रहा, जो एक साल पहले समान अवधि में 4.84 लाख टन रहा था। इसी प्रकार सूरजमुखी तेल का आयात भी घटकर 71,838 टन रहा, जो एक साल पहले समान अवधि में 2.08 लाख टन था। 1 अगस्‍त तक देश में कुल खाद्य तेलों का स्‍टॉक 16.95 लाख टन था, जिसमें से 11.10 लाख टन का पाइपलाइन में रहने का अनुमान है।

भारत मुख्‍यता इंडोनेशिया और मलेशिया से पाम तेल का आयात करता है और सोयाबीन तेल सहित क्रूड सॉफ्ट ऑइयल की एक छोटी से मात्रा का आयात अर्जेंटीना से किया जाता है। सूरजमुखी तेल का आयात युक्रेन और रूस से होता है।

यह भी पढ़ें: देशवासियों को सस्‍ते परिवहन की सुविधा प्रदान करने के लिए Rapido ने जुटाये 385 करोड़ रुपये

यह भी पढ़ें: SBI ने देशवासियों को दिया 75वें स्‍वतंत्रता दिवस का तोहफा...

यह भी पढ़ें: भारत के नक्‍शेकदम पर विकास की राह पर आगे बढ़ रहा है पाकिस्‍तान...

यह भी पढ़ें: Maruti Suzuki ने दी चेतावनी सरकार ने नहीं मानी ये बात तो जल्‍द और महंगे होंगे वाहन

Write a comment
Click Mania
Modi Us Visit 2021