1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. जून तिमाही परिणाम: डॉ रेड्डीज का मुनाफा 36% घटा, मोरपेन लैब के मुनाफे में 57% बढ़त

जून तिमाही परिणाम: डॉ रेड्डीज का मुनाफा 36% घटा, मोरपेन लैब के मुनाफे में 57% बढ़त

मोरपेन लेबोरेटरीज ने स्पुतनिक वी वैक्सीन के निर्माण के लिए रूस के सॉवरेन वेल्थ फंड आरडीआईएफ के साथ एक करार किया है और छह सप्ताह के भीतर वैक्सीन का वाणिज्यिक उत्पादन शुरू करने की उम्मीद जताई है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: July 27, 2021 14:25 IST
डॉ रेड्डीज का मुनाफा...- India TV Paisa
Photo:PTI

डॉ रेड्डीज का मुनाफा 36% घटा

नई दिल्ली। डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज ने मंगलवार को कहा कि 30 जून 2021 को समाप्त तिमाही के दौरान उसका शुद्ध लाभ अधिक खर्च की वजह से 36 प्रतिशत गिरकर 380.4 करोड़ रुपये रह गया। दवा कंपनी ने एक साल पहले इसी अवधि में 594.6 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। डॉ रेड्डीज ने शेयर बाजार को बताया कि चालू वित्त वर्ष की जून तिमाही के दौरान कुल आय 5,053 करोड़ रुपये रही, जो एक साल पहले की समान अवधि में 4,513.6 करोड़ रुपये के मुकाबले 12 प्रतिशत अधिक है। समीक्षाधीन अवधि के दौरान कुल खर्च 4,513.8 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 3,620.8 करोड़ रुपये था। 

मोरपेन लेबोरेटरीज का मुनाफा 57 फीसदी बढ़ा 

वहीं दवा कंपनी मोरपेन लेबोरेटरीज ने मंगलवार को बताया कि 30 जून 2021 को समाप्त तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 57 फीसदी बढ़कर 30.47 करोड़ रुपये हो गया। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में कंपनी को 19.37 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। मोरपेन लेबोरेटरीज ने शेयर बाजार को बताया कि इस दौरान उसकी शुद्ध आय 388.31 करोड़ रुपये रही, जो एक साल पहले की समान अवधि के 258.97 करोड़ रुपये के मुकाबले 50 प्रतिशत अधिक है। कंपनी ने स्पुतनिक वी वैक्सीन के निर्माण के लिए रूस के सॉवरेन वेल्थ फंड आरडीआईएफ के साथ एक करार किया है। मोरपेन लेबोरेटरीज ने चार से छह सप्ताह के भीतर इस वैक्सीन का वाणिज्यिक उत्पादन शुरू करने की उम्मीद जताई है। 

जिंदल स्टेनलेस मुनाफे में लौटी
जिंदल स्टेनलेस लिमिटेड (जेएसएल) ने अप्रैल-जून तिमाही में फिर से लाभ में आ गयी है और उसने अपनी आय में उल्लेखनीय वृद्धि के सहारे 271.42 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ अर्जित किया। स्टेनलेस स्टील निर्माता ने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भविष्य की वृद्धि पर ध्यान देने के लिए अपनी जाजपुर (ओडिशा) इकाई की क्षमता को दोगुना करके 20.1 लाख टन प्रति वर्ष करने के लिए 2,150 करोड़ रुपये की निवेश योजना की भी घोषणा की। एक साल पहले इसी तिमाही में कंपनी को 86.50 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। कंपनी ने बताया कि अप्रैल-जून 2021 तिमाही में उसकी कुल आय अप्रैल-जून 2020 के 1,271 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,851 करोड़ रुपये हो गई। अप्रैल-जून 2021 में कंपनी का व्यय 3,433 करोड़ रुपये रहा जो एक साल पहले 1,410 करोड़ रुपये था। 

Write a comment
Click Mania