CBI Raids CM Ashok Gehlot's Brother: अपने भाई पर CBI की कार्रवाई को लेकर CM गहलोत ने दिया बड़ा बयान, जानें क्या कहा

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत से जुड़े उर्वरक घोटाले के सिलसिले में राजस्थान में कई स्थानों पर CBI ने शुक्रवार को छापेमारी की। जोधपुर में अग्रसेन गहलोत के आवास के परिसरों की भी तलाशी ली गई।

Khushbu Rawal Written by: Khushbu Rawal @khushburawal2
Published on: June 17, 2022 15:45 IST
Ashok Gehlot- India TV Hindi News
Image Source : PTI Ashok Gehlot

Highlights

  • जोधपुर में अग्रसेन गहलोत के आवास के परिसरों की तलाशी ली गई
  • 2012-13 में हुआ था पोटाश घोटाले का खुलासा
  • अग्रसेन गहलोत और 14 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज

CBI Raids CM Ashok Gehlot's Brother: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने भाई अग्रसेन के घर पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) द्वारा छापा मारे जाने को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए शुक्रवार को कहा कि इससे वे घबराने वाले नहीं हैं और इस तरह की कार्रवाई का नुकसान अंतत: भाजपा और केंद्र सरकार को ही होगा। गहलोत ने कहा कि दिल्ली में उनकी हालिया सक्रियता का बदला केंद्र सरकार उनके भाई के खिलाफ छापेमारी करके ले रही है। उन्होंने बताया कि अन्य स्थानों पर भी छापेमारी की जा रही है।

'मैंने राहुल गांधी के आंदोलन में भाग लिया तो इसका बदला मेरे भाई से क्यों लिया जाता है'

सीबीआई ने शुक्रवार को अग्रसेन गहलोत के जोधपुर स्थित आवास पर भ्रष्टाचार के एक मामले में छापा मारा है। उल्लेखनीय है कि 2020 में प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम ने भी अग्रसेन गहलोत के यहां छापेमारी की थी। दिल्ली से लौटने पर मुख्यमंत्री गहलोत ने यहां हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं अगर दिल्ली में सक्रिय हूं या मैंने राहुल गांधी के आंदोलन में भाग लिया तो इसका बदला मेरे भाई से क्यों लिया जाता है? यहां हमारी सरकार पर संकट साल 2020 में भी आया, तब भी भाई के यहां ईडी की छापेमारी हुई।’’

'मैं छापा मारने से घबराने वाला नहीं'
उन्होंने कहा कि इसे उचित नहीं कहा जाता सकता और इससे वह घबराने वाले नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके भाई का राजनीति से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने सरकार के रवैये को समझ से परे बताते हुए कहा कि पहले ईडी से छापेमारी कराई गई, अब सीबीआई से छापेमरी करा रहे हैं। गहलोत ने कहा कि इसे देश की जनता पसंद नहीं करती और धीरे-धीरे नुकसान भाजपा व केंद्र सरकार को ही होगा। उन्होंने कहा कि ये जितने ज्यादा देश में लोगों को तंग करेंगे उतना ज्यादा उल्टा असर इनके लिए होगा।

गहलोत ने कहा कि उन्होंने तो हाल ही में सीबीआई निदेशक, ED के निदेशक और आयकर विभाग के चेयरमैन से मिलने का समय मांगा था। उन्होंने कहा, ‘‘13 जून को समय मांगा, 15 को मुकदमा दर्ज हुआ और 17 जून को छापे पड़ गए। यह क्या रवैया है, यह समझ से परे हैं।’’ उल्लेखनीय है ईडी द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी को नोटिस जारी किए जाने के खिलाफ कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं के आंदोलन में भाग लेने के लिए मुख्यमंत्री गहलोत कई दिन से दिल्ली में थे।

क्या है मामला
गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत से कथित रूप से जुड़े उर्वरक घोटाले के सिलसिले में राजस्थान में कई स्थानों पर CBI ने शुक्रवार को छापेमारी की। जोधपुर में अग्रसेन गहलोत के आवास के परिसरों की भी तलाशी ली गई। एक सूत्र ने बताया, "अग्रसेन गहलोत का खाद का कारोबार है। यह ताजा मामला है, जिसमें हम छापेमारी कर रहे हैं।" उन पर पहले केंद्रीय जांच एजेंसियों द्वारा विदेशों में बड़ी मात्रा में म्यूरेट ऑफ पोटाश निर्यात करने का आरोप लगाया गया था, जिसे किसानों को रियायती दर पर बेचा जाना था। यह कथित घोटाला 2007 और 2009 के बीच हुआ था। ED इस मामले की जांच कर रही है।

raju-srivastava