Wednesday, April 17, 2024
Advertisement

राजस्थानः गोकशी मामले में SHO समेत थाना लाइन हाजिर, 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड

सूत्रों ने बताया कि एक सहायक उपनिरीक्षक, एक हेड कांस्टेबल और दो कांस्टेबल को निलंबित किया गया है जबकि थानेदार सहित अन्य को वहां से हटाया गया है। थाने में 38 पुलिसकर्मी थे।

Mangal Yadav Written By: Mangal Yadav @MangalyYadav
Updated on: February 20, 2024 16:16 IST
किशनगढ़ बास पुलिस थाना- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV किशनगढ़ बास पुलिस थाना

अलवर: राजस्थान के भिवाड़ी जिले में कुछ लोगों को कथित तौर पर खुले में संदिग्ध गोमांस बेचते हुए पकड़ जाने के बाद किशनगढ़ वास पुलिस थाने के चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया और थाने के अन्य सभी स्‍टाफ को लाइन हाजिर कर दिया है। सूत्रों ने बताया कि एक सहायक उपनिरीक्षक, एक हेड कांस्टेबल और दो कांस्टेबल को निलंबित किया गया है जबकि थानेदार सहित अन्य को वहां से हटाया गया है। थाने में 38 पुलिसकर्मी थे।

कई लोगों को हिरासत में लिया गया 

पुलिस महानिरीक्षक जयपुर उमेश दत्ता ने बताया कि रेंज के चार जिलों में आज से शुरू हुए ‘‘घेराबंदी अभियान’’ के लिए कई टीम बनाई गई हैं। किशनगढ़ बास इलाके में कथित तौर पर गोकशी और गोमांस बेचे जाने की सूचना के बाद पुलिस हरकत में आई और कई लोगों को हिरासत में लेकर संदिग्‍ध मांस बरामद किया। उन्होंने कहा, ‘‘ हमने कुछ मांस बरामद किया है जिसकी वैज्ञानिक जांच की जा रही है। कुछ संदिग्धों को पकड़ा गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

जांच के आदेश

उन्होंने कहा कि कथित तौर पर गोमांस बिक्री की शिकायतों पर कार्रवाई नहीं करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। यह जांच संबंधित जिले से बाहर के अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) स्तर के अधिकारी से करायी जायेगी। जिस इलाके में तलाशी अभियान को अंजाम दिया गया वह हरियाणा की सीमा से सटा है और गो तस्करी के लिए कुख्यात है। 

 डीएसपी कार्यालय का घेराव 

इधर, विश्व हिंदू परिषद सहित कई संगठनों ने किशनगढ़ बास में डीएसपी कार्यालय का घेराव किया। गो तस्कर और गोकशी में शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। पुलिसकर्मियों पर गोतस्करी को बढ़ावा देने का आरोप लगाया गया। यहां सबसे बड़ी बात यह है कि यह इलाका मेवात से लगता हुआ है जहां गोकशी कर कर उसका मांस बेचा जाता है फिर उसे मेवात इलाके में सप्लाई किया जाता है।

यह है पूरा मामला

बता दें कि रूंध गिदावडों में हैरान करने वाली तस्वीर सामने आने के बाद यहां गोकशी का बड़ा रैकेट उजागर हुआ है। जहां पर खुलेआम बीफ की मंडी चलती दिखाई दी। व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से कई गांवों तक रोजाना बीफ की होम डिलीवरी दी जा रही थी।  रोजाना गाय वहीं पर काटकर बेची जा रही है । ग्रामीण लोग मोटरसाइकिलों पर गाय का मांस खरीद कर ले जाते हैं।

मंत्री संजय शर्मा घटनास्थल पर पहुंचे

 वहीं, वन एवं पर्यावरण मंत्री संजय शर्मा किशनगढ़बास के गांव रुंध दिगावाड़ा के बीहड़ में पहुंचे हैं। घटनास्थल पर दौरे के दौरान बीहड़ में बंधे सात गोवंश को बीहड़ से मुक्त कराकर गोशाला भी भिजवाया गया है। इसके अलावा संजय शर्मा ने पुलिस अधिकारियों को बीहड़ में गहन सर्च अभियान चलाने के निर्देश दिए। इस दौरान यह पाया गया कि उस इलाक़े में स्थानीय लोगों ने सरकारी जमीन पर काफ़ी बड़े क्षेत्र में क़ब्ज़ा किया हुआ है और बेख़ौफ़ होकर खेती कर रहे हैं। वहां लोगों ने बिजली कनेक्शन भी दिये हुए है।

संजय शर्मा ने बीहड़(सरकारी) जमीन पर अवैध कब्जे कर मकान,खेती,बोरिंग, ट्रांसफार्मर आदि मिलने पर  तुरन्त अवैध कनेक्शन काटने के निर्देश भी दिये। इसके बाद मौके पर बिजली विभाग की टीम  को बुलाया गया जिसने अवैध विधुत कनेक्शन काटे। संजय शर्मा का कहना है कि कहा दोषियों को किसी भी सूरत में नही बख्सा नही जावेगा और गोकशी में संलिप्त अधिकारी/कर्मचारियों के विरुद्ध भी सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में पुलिस ने अभी तक दो लोगों को गिरफ़्तार किया है हालांकि पुलिस फ़िलहाल इस गिरफ़्तारी की पुष्टि नहीं कर रही है।

 

रिपोर्ट- राजेश

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें राजस्थान सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement