Saturday, March 02, 2024
Advertisement

चुनाव रिजल्ट आने से पहले जोधपुर में EVM गायब, प्रशासन की फूली सांसें; सेक्टर ऑफिसर सस्पेंड

जिला निर्वाचन अधिकारी को जब इस बात की जानकारी मिली कि सेक्टर अधिकारी के पास एवं कंट्रोल पैनल मशीन नहीं मिल रही है तो उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लिया और तुरंत प्रभाव से सेक्टर अधिकारी पंकज जाखड़ को निलंबित करने के आदेश जारी किए।

Khushbu Rawal Edited By: Khushbu Rawal @khushburawal2
Updated on: December 01, 2023 9:05 IST
ईवीएम कंट्रोल यूनिट- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO ईवीएम कंट्रोल यूनिट

राजस्थान के सबसे दूसरे बड़े जिले जोधपुर में मतदान शांतिपूर्वक हो गए लेकिन मतदान के बाद ईवीएम की कंट्रोल यूनिट के गायब हो जाने से प्रशासन में हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि सेक्टर अधिकारी ने विभिन्न बूथ से मतदान पूर्ण होने के बाद कलेक्टर परिसर से ईवीएम मशीन और सहायक सामग्री को संकलित किया था। लेकिन जब वह पॉलिटेक्निक कॉलेज जमा करवाने पहुंचे तो एक ईवीए कंट्रोल पैनल कम पाया गया। कंट्रोल पैनल के गम हो जाने की खबर से प्रशासन के सांस खुल गई। गनीमत रही कि यह रिजर्व यूनिट का कंट्रोल पैनल था जो कि मतदान के दौरान काम नहीं लिया गया नहीं तो प्रशासन के लिए बड़ी परेशानी का सबब बन जाता।

कंट्रोल पैनल के गायब होने की सूचना मिलते ही सेक्टर अधिकारी ने इसकी लिखित शिकायत उदय मंदिर थाने में पेश की जिसके बाद उदय मंदिर थाना पुलिस मामले की जांच में जुटी है। फिलहाल इस बात का पता नहीं चल पाया है कि यह कंट्रोल पैनल चोरी हुआ है या सेक्टर अधिकारी ने कहीं भुलवश गुम कर दिया।

क्या है कंट्रोल यूनिट?

ईवीएम यानी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन दो यूनिटों से तैयार की जाती है। पहला कंट्रोल यूनिट और दूसरा बैलट यूनिट। इन यूनिटों को आपस में केबल से एक दूसरे से जोड़ा जाता है। ईवीएम की कंट्रोल यूनिट मशीन पीठासीन अधिकारी या मतदान अधिकारी के पास रखा जाता है और बैलेटिंग यूनिट मशीन को मतदाताओं द्वारा मत डालने के लिए वोटिंग कंपार्टमेंट के भीतर रखा जाता है। दरअसल ऐसा यह सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है कि मतदान अधिकारी मतदाता की पहचान की पुष्टि कर सके। ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) के साथ, मतदान पत्र जारी करने के बजाय, मतदान अधिकारी बैलेट बटन को दबाता है,  जिससे मतदाता अपना मत डाल सकता है। मशीन पर अभ्यर्थी के नाम और प्रतीकों की एक सूची उपलब्ध होती है जिसके बराबर में नीले बटन होते है। मतदाता जिस अभ्यर्थी को वोट देना चाहते हैं उनके नाम के सामने में दिए बटन दबा कर वोट डालता है।

सेक्टर अधिकारी को किया सस्पेंड

जिला कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी हिमांशु गुप्ता को जब इस बात की जानकारी मिली कि सेक्टर अधिकारी के पास एवं कंट्रोल पैनल मशीन नहीं मिल रही है तो उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लिया और तुरंत प्रभाव से सेक्टर अधिकारी पंकज जाखड़ को निलंबित करने के आदेश जारी किए। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी फुटेज और अन्य माध्यमों से इस बात की जानकारी जुटाना में लगी है कि क्या वाकई ईवीएम की कंट्रोल पैनल मशीन चोरी हो गई है या सेक्टर अधिकारी के हाथों कहीं गुम गई।

(रिपोर्ट- चंद्रशेखर व्यास)

यह भी पढ़ें-

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें राजस्थान सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement