Bangladesh News: 'मुझे हटाने के लिए साजिश करने वाले फिर हो रहे सक्रिय', बांग्लादेश की सीएम शेख हसीना का बड़ा बयान

Bangladesh News: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा है कि उन्हें सत्ता से बेदखल करने की साजिश तेज कर दी गई है।

Deepak Vyas Edited By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Published on: August 04, 2022 14:47 IST
Sheikh Hasina- India TV Hindi News
Image Source : FILE PHOTO Sheikh Hasina

Highlights

  • सत्ता से बेदखल करने की साजिश तेज कर दी गई है: प्रधानमंत्री हसीना
  • 'मुझे हटाने के लिए साजिशकर्ता फिर हो रहे सक्रिय'

Bangladesh News: भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में भी राजनीतिक उथल पुथल मची हुई है। ताजा मामला बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के बयान से जुड़ा है। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा है कि उन्हें सत्ता से बेदखल करने की साजिश तेज कर दी गई है। प्रधानमंत्री हसीना ने यह टिप्पणी उस समय की, जब बांग्लादेश रेड क्रिसेंट सोसाइटी के नवनिर्वाचित बोर्ड सदस्यों ने राजधानी में हसीना के आधिकारिक आवास गोनो भवन में उनसे शिष्टाचार भेंट की।यह कहते हुए कि वह अवामी लीग (एएल) सरकार के खिलाफ साजिश रचने वालों को जानती हैं, उन्होंने कहा, "मुझे पता है कि इस साजिश में कौन शामिल हैं और वे क्या कर रहे हैं। मैं उन्हें अच्छी तरह से जानती हूं।"

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि अगर 21 साल पहले साबित हो चुकी सत्ता पर बुरी ताकतों ने कब्जा कर लिया तो बांग्लादेश के लोगों को नुकसान उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा, '"एक बेटी के लिए यह एक बड़ा संघर्ष था, जिसने 15 अगस्त, 1975 की रात अचानक परिवार के अधिकांश सदस्यों को खो दिया था। ...और यह बुरी ताकतों की एक बड़ी हार थी। पार्टी अपने सर्वोच्च नेता की हत्या के बाद असमंजस में थी, तब कहा गया कि बंगबंधु की बेटी शेख हसीना पार्टी की कमान संभालेंगी।'

हसीना ने यह भी कहा, राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान और उनके परिवार के अधिकांश सदस्यों की हत्या के पीछे जो बुरी ताकतें थीं, वे बंगबंधु के परिवार के एक सदस्य के नेतृत्व में शांतिपूर्ण बांग्लादेश की प्रगति के खिलाफ हैं।

मुझे हटाने के लिए साजिशकर्ता फिर हो रहे सक्रिय

हसीना ने कहा, '2014 और 2018 में राष्ट्रीय चुनाव से पहले मुझे हटाने के लिए साजिश रची गई थी। अब साजिशकर्ता फिर से सक्रिय हो रहे हैं।' उन्होंने कहा, 'हत्यारों को बीएनपी के संस्थापक, सैन्य तानाशाह जियाउर रहमान ने मुआवजा दिया था। उन्हें विदेशी मिशनों में नौकरी देकर उनका पुनर्वास किया गया था। यहां तक कि 75 के बाद की सरकारों ने हत्यारों के लिए राजनीति चलाने और उन्हें सामाजिक रूप से पुनर्वासित करने का मार्ग तैयार किया।'

Latest World News

navratri-2022