1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. गुजरात
  4. 'कांग्रेस नेताओं को श्रीराम से दुश्मनी और हिंदुओं से नफरत क्यों है?' हार्दिक पटेल ने किया पलटवार

'कांग्रेस नेताओं को श्रीराम से दुश्मनी और हिंदुओं से नफरत क्यों है?' पूर्व केंद्रीय मंत्री के 'कुत्ते' वाले बयान पर हार्दिक पटेल का पलटवार

सोलंकी के बयान पर हार्दिक पटेल ने कहा, मैं कांग्रेस और उसके नेताओं से पूछना चाहता हूं कि आपको भगवान श्री राम से क्या दुश्मनी है? हिंदुओ से क्यों इतनी नफरत है?

Rituraj Tripathi Written by: Rituraj Tripathi @rocksiddhartha7
Updated on: May 25, 2022 7:01 IST
Hardik Patel- India TV Hindi
Image Source : PTI Hardik Patel

Highlights

  • हार्दिक पटेल ने कांग्रेस हाईकमान पर साधा निशाना
  • कहा- आपको भगवान श्री राम से क्या दुश्मनी है?
  • कांग्रेस हिंदू धर्म की आस्था को नुकसान पहुंचाने का प्रयास करती है: हार्दिक पटेल

Hardik Patel: गुजरात में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कांग्रेस हाईकमान पर जमकर निशाना साधा है। गौरतलब है कि हार्दिक ने हालही में पार्टी छोड़ी है। उन्होंने ट्वीट कर पूर्व केंद्रीय मंत्री भरत सिंह सोलंकी के उस बयान की निंदा की, जिसमें उन्होंने कहा था कि 'लोगों को राम के नाम पर धोखा दिया गया और कुत्ते अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में इस्तेमाल की जाने वाली ईंटों पर पेशाब करते हैं।'

सोलंकी के बयान पर हार्दिक पटेल (Hardik Patel) ने कहा, 'मैं कांग्रेस और उसके नेताओं से पूछना चाहता हूं कि आपको भगवान श्री राम से क्या दुश्मनी है? हिंदुओ से क्यों इतनी नफरत है? सदियों बाद अयोध्या में भगवान श्रीराम का मंदिर बन रहा है, फिर भी कांग्रेस के नेता भगवान श्रीराम के खिलाफ अनाप-शनाप बयान देते रहते हैं।'

कांग्रेस के नेताओं का काम हमेशा से हिंदू विरोधी विचारधारा के साथ रहा: पटेल

पटेल (Hardik Patel) ने कहा, 'मैंने पहले भी कहा था की कांग्रेस पार्टी जनता की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम करती है, हमेशा हिंदू धर्म की आस्था को नुकसान पहुंचाने का प्रयास करती है। आज पूर्व केन्द्रीय मंत्री और गुजरात कांग्रेस के नेता ने बयान दिया की राम मंदिर की ईंटों पर कुत्ते पेशाब करते हैं..!'

पटेल ने ये भी कहा कि कांग्रेस के नेताओं का काम हमेशा से हिंदू विरोधी विचारधारा के साथ रहा है। मैंने पहले भी कहा है कि अगर आप हिन्दुओं के समर्थन में कुछ नहीं कर सकते तो उसके खिलाफ तो काम मत कीजिए। एक बात स्पष्ट होती है कि सत्ता तो दूर इनको विपक्ष में भी बैठाने के लिए जनता अब तैयार नहीं है।