Tuesday, April 16, 2024
Advertisement

महिलाओं में बिगड़ते हार्मोंस बैलेंस के ये हैं लक्षण, शरीर देने लगता है कुछ ऐसे संकेत

Women Health: महिलाओं के शरीर में समय-समय पर हार्मोंस में बदलाव आते रहते हैं। हालांकि लंबे समय तक हार्मोंस में गड़बड़ी रहना सेहत पर बुरा असर डालता है। जानिए हार्मोंस बैलेंस बिगड़ने पर शरीर में क्या लक्षण नज़र आते हैं। जिससे आप इसे समझ सकते हैं।

Bharti Singh Written By: Bharti Singh
Updated on: March 02, 2024 9:13 IST
hormonal imbalance- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK hormonal imbalance

8 मार्च को पूरी दुनिया अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाती है। जिसमें महिलाओं की सेहत को लेकर भी कई अवेयरनेस कार्यक्रम चलाए जाते हैं। महिलाओं को सेहतमंद रखना है तो उनके स्वास्थ्य का ख्याल रखना सबसे ज्यादा जरूरी हो जाता है। उम्र के साथ महिलाओं के शरीर में कई बार हार्मोंस में बदलाव आता है। हार्मोन शरीर के अलग अलग कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, लेकिन जब शरीर में हार्मोंस असंतुलन होता है तो कई तरह की समस्याएं पैदा होने लगती हैं। लगातार और लंबे समय तक हार्मोनल असंतुलन महिलाओं के चिंताजनक हो सकता है। जानिए शरीर में हार्मोंस बैलेंस बिगड़ने पर क्या लक्षण नजर आते हैं?

हार्मोंस बैलेंस बिगड़ने पर शरीर में दिखते हैं ये लक्षण

  1. पीरियड्स में अनियमितता- अगर आपको काफी दिनों तक पीरियड की डेट में बदलाव नजर आएं, जैसे समय से पहले आना या देरी होना हार्मोन में बदलाव के संकेत हो सकते हैं। आपको पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) या थायरॉयड जैसी समस्याओं के लिए चेकअप करवाना चाहिए।

  2. वजन बढ़ना या घटना- अगर लाइफ में कुछ बड़ा बदलाव नहीं होने पर भी तेजी से वजन बढ़ रहा है या कम हो रहा है तो हार्मोनल असंतुलन का संकेत हो सकते हैं। बेहतर हार्मोनल स्वास्थ्य के लिए वजन में बदलाव पर ध्यान दें। थायरॉइड डिसफंक्शन या इंसुलिन प्रतिरोध जैसी हार्मोनल समस्याओं के लिए जांच करवाएं।

  3. त्वचा संबंधी समस्याएं- हार्मोंस में बदलाव के संकेत त्वचा पर भी नजर आने लगते हैं। जिसमें मुंहासे, तैलीय त्वचा या बहुत ड्राईनेस होना भी हार्मोनल संतुलन के संकेत हो सकते हैं। अगर आपको ऐसी समस्याएं ज्यादा हो रही हैं तो एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

  4. मूड स्विंग्स- हार्मोनल असंतुलन की वजह से मूड में उतार-चढ़ाव, चिड़चिड़ापन, चिंता या डिप्रेशन भी हो सकता है। इसका मूल कारण जानने के लिए एक मूड डायरी रखें और पैटर्न नोट करें। ज्यादा समस्या होने पर डॉक्टर से थेरेपी या सलाह जरूर लेनी चाहिए।

  5. थकान और नींद कम आना- लगातार थकान, ऊर्जा में कमी और ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होना भी हार्मोनल असंतुलन के संकेत हो सकते हैं। अपनी लाइफस्टाइल पर ध्यान दें, जैसे नींद के पैटर्न और स्ट्रेस की वजह जानने की कोशिश करें। ज्यादा परेशानी होने पर डॉक्टर से सलाह लें।

  6. बालों का झड़ना- बालों का झड़ना, पतला होना, या बालों की बनावट में बदलाव आना भी हेल्थ समस्याओं के कारण हो सकता है। इसकी एक वजह हार्मोनल परिवर्तन भी हो सकती है। इसके लिए हेल्दी डाइट लें और तनाव से दूर रहें। ज्यादा समस्या बढ़ने पर डॉक्टर को दिखा लें।

मोटापे की दुश्मन है ये चीज, 1 कटोरा भरकर खाएंगे तो भी महीनेभर में कम हो जाएगा वजन

(ये आर्टिकल सामान्य जानकारी के लिए है, किसी भी उपाय को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें)

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement