1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. VIDEO: संसद की नई बिल्डिंग की कितनी ज़रूरत? स्पीकर ओम बिरला ने इंडिया टीवी के साथ की खास बातचीत

संसद की नई बिल्डिंग की कितनी ज़रूरत? 17वीं लोकसभा के 2 साल पूरे होने पर स्पीकर ओम बिरला ने की इंडिया टीवी के साथ खास बातचीत

17वीं लोकसभा के 2 साल पूरे होने पर अध्यक्ष ओम बिरला ने इंडिया टीवी के साथ विशेष बातचीत में कहा कि सदन के सफल संचालन के लिए सभी सदस्यों का योगदान जरूरी है। सदस्यों के सहयोग से लोकसभा की 167 प्रतिशत प्रोडक्टिव रही।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: June 18, 2021 17:32 IST
17वीं लोकसभा के 2 साल पर लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने इंडिया टीवी के साथ की खास बातचीत- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV 17वीं लोकसभा के 2 साल पर लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने इंडिया टीवी के साथ की खास बातचीत

नई दिल्ली। 17वीं लोकसभा के 2 साल पूरे होने पर अध्यक्ष ओम बिरला ने इंडिया टीवी के साथ विशेष बातचीत में कहा कि सदन के सफल संचालन के लिए सभी सदस्यों का योगदान जरूरी है। सदस्यों के सहयोग से लोकसभा की 167 प्रतिशत प्रोडक्टिव रही। सत्ता पक्ष और विपक्ष से लगातार संवाद से कामयाबी मिली। सीनियर सदस्यों के अनुभव से मार्गदर्शन मिला है। सदन के सभी सदस्यों को बराबर मौक़ा देने की कोशिश रही।

नए भवन को लेकर लोकसबा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि पिछले 2 साल में हमने 400 करोड़ रुपए बचाए हैं। नई बिल्डिंग (सेंट्रल विस्टा) की 40 प्रतिशत लागत हमने बचत से निकाली है। नई संसद से कई तरह के खर्चे कम होंगे। 90 प्रतिशत सदस्य अब ई-नोटिस से अपने प्रश्न भेजते हैं। लोकसभा में डिजिटाइजेशन से करोड़ों रुपए की बचत होगी। नए भवन को लेकर आलोचना का अधिकार सबको है। नया संसद भवन बनाने की लागत 971 करोड़ रुपए है। आजादी के 75वें साल मं देश को नया संसद भवन मिलेगा। 

ओम बिरला ने आगे कहा कि, मौजूदा संसद भवन एक ऐतिहासिक इमारत है। मौजूदा संसद भवन में और विस्तार संभव नहीं है। देश को नए संसद भवन की ज़रूरत लंबे समय से है।मौजूदा संसद भवन 100 साल पुराना हो चुका है, कार्यकुशलता बढ़ाने के लिए नया संसद भवन चाहिए। मौजूदा संसद भवन में डिजिटलीकरण संभव नहीं, संसद की उत्पादकता बढ़ाने के लिए नई इमारत चाहिए। नए संसद भवन में ज़्यादा सांसद बैठ सकेंगे।

जानिए सरकार और ट्विटर विवाद को लेकर क्या कहा

सोशल मीडिया के जमाने में ट्विटर और सरकार के बीच विवाद को लेकर पूछे गए एक सवाल पर ओम बिरला ने कहा कि ट्विटर पर संसदीय समिति ही फैसला करेगी। संसदीय समिति की सिफारिशों पर फैसला सरकार करेगी। 

LJP विवाद पर बिरला बोले- लोकसभा में पार्टी नहीं देश का संविधान चलता है

LJP विवाद को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में बिरला ने कहा कि सासंद ही संसदीय दल का नेता चुनते आए हैं। LJP के सांसदों ने संसदीय दल का नया नेता चुना। LJP विवाद में स्पीकर की कोई भूमिका नहीं है। किसी पार्टी के आंतरिक विवाद से स्पीकर का संबंध नहीं। किसी दल के अंदरुनी कामकाज में दखल नहीं देते। चिराग पासवान की चिट्ठी पर भी विचार करेंगे। लोकसभा में पार्टी नहीं देश का संविधान चलता है। हमने संसदीय दल का रिकॉर्ड अपडेट किया है। हम सिर्फ़ संसदीय दल की जानकारी अपडेट करते हैं, किसी दल के अंदरूनी काम-काज में दखल नहीं देते हैं।

संसद का मानसून सत्र चलेगा- ओम बिरला

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को कहा कि मानसून सत्र का फैसला मंत्रिमंडलीय उपसमिति करती है, मुझे संभावना लगती है कि लोकसभा इसके लिए पूरी तरह से तैयार है। लोकसभा कोविड गाइडलाइंस का पालन करेगी, पूरी तैयारियां हमने की हैं। संसद का मानसून सत्र चलेगा। सारी तैयारियां की गई हैं। 445 सांसदों को वैक्सीन की डोज़ लगी है। सचिवालय के सभी कर्मचारियों का भी वैक्सीनेशन हो गया है। जिन सांसदों और संसद में काम करने वाले लोगों को वैक्सीन की डोज़ नहीं लगी है उन्हें 21 जून से डोज़ लगेगी।

देखिए पूरा VIDEO

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X