1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. मध्य-प्रदेश
  4. Neemuch Violence : मध्य प्रदेश के नीमच में दो गुटों के बीच पथराव, धारा 144 लागू

Neemuch Violence : मध्य प्रदेश के नीमच में दो गुटों के बीच पथराव, धारा 144 लागू

अब तक चार मामले दर्ज कर नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एक पुलिस अधिकारी के घुटने में चोट आई है।

Niraj Kumar	Edited by: Niraj Kumar @nirajkavikumar1
Published on: May 17, 2022 14:28 IST
Neemuch Violence- India TV Hindi
Image Source : ANI Neemuch Violence

Highlights

  • दरगाह के पास मूर्ति स्थापित करने को लेकर दो गुटों के बीच तनाव
  • कहासुनी के बाद होने लगी पत्थरबाजी, गाड़ियों में तोड़फोड़
  • पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े, शहर में धारा 144 लागू

Neemuch Violence: मध्य प्रदेश के नीमच (Neemuch)  में एक दरगाह के पास मूर्ति स्थापित करने को लेकर दो गुटों के बीच विवाद होने से इलाके में तनाव पैदा हो गया जिसके बाद शहर के एक हिस्से में निषेधाज्ञा लगा दी गई है। अधिकारी ने बताया कि सोमवार रात दो समूहों में कहासुनी और फिर उनके बीच पथराव होने के बाद पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। बाद में अतिरिक्त जिलाधिकारी नेहा मीणा ने नीमच शहर थाना सीमा में आपराधिक प्रक्रिया संहिता (CRPC) की धारा 144 (पांच या अधिक लोगों के जमा होने पर रोक) लगाने का आदेश दिया। 

नौ लोगों को किया गया गिरफ्तार 

नीमच के एसपी सूरज कुमार वर्मा ने पत्रकारों को बताया कि अब तक चार मामले दर्ज कर नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उनके अनुसार हिंसक घटना में एक पुलिस अधिकारी के घुटने में चोट आई है। उन्होंने कहा कि नीमच शहर थाना क्षेत्र में कुछ लोगों ने दरगाह के पास (भगवान हनुमान की) एक मूर्ति रख दी जिसके बाद वहां दो समूहों के लोग जमा हो गए और उनके बीच विवाद हो गया। 

उपद्रवियों ने दोपहिया वाहनों को  किया क्षतिग्रस्त

अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने दोनों समूहों के लोगों को चर्चा के लिए पुलिस नियंत्रण कक्ष में आने के लिए कहा लेकिन कुछ लोगों ने कथित तौर पर पथराव शुरु कर दिया और कुछ दोपहिया वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। उन्होंने बताया कि घटना में अब तक किसी नागरिक के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। बाद में इलाके में पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया गया और लोगों को घर में ही रहने की लिए कहा गया है। 

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े

अधिकारी ने कहा कि दोनों समूहों के लोग घटनास्थल पर जमा हो गए क्योंकि यह मिश्रित आबादी वाला इलाका है। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। अधिकारी ने कहा कि पुलिस इलाके के सीसीटीवी फुटेज की जांच करेगी और पथराव करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। इस घटना में किसी धार्मिक स्थल को नुकसान पहुंचाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसका पता लगाने के लिए इलाके की वीडियोग्राफी की जा रही है। (भाषा)