Monday, April 15, 2024
Advertisement

पुलिस के खिलाफ नक्सलियों की साजिश नाकाम, जमीन में छिपाया था प्रेशर कुकर बम, विस्फोटक हुआ बरामद

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में पुलिस ने नक्सलियों की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है। दरअसल यहां एक पुलिस स्टेशन के करीब नक्सलियों ने प्रेशर कुकर में 2 किलोग्राम विस्फोटक छिपाकर रखा था। विस्फोटक को जमीन में माइन की तरफ रखा गया था।

Reported By : Yogendra Tiwari Edited By : Avinash Rai Published on: February 19, 2024 20:02 IST
Gadchiroli Police exposed the conspiracy of Naxalites recovered a pressure cooker filled with explos- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV गढ़चिरौली पुलिस ने नक्सलियों की साजिश का किया खुलासा

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों की बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है। गढ़चिरौली पुलिस ने नक्सलियों द्वारा प्रेशर कुकर में रखे गए दो किलो विस्फोटक को बरामद किया है। इस बम को कुरखेड़ा इलाके के तहत आने वाले कोट गुल पुलिस स्टेशन से महज 500 मीटर की दूरी पर पहाड़ी इलाके से जंगल में जाने वाले रास्ते में छिपाया गया था। अगर ये प्रेशर कुकर बम किसी भी पुलिस की गाड़ी के नीचे आता तो बम की क्षमता इतनी थी कि पूरी गाड़ी धमाके में उड़ सकती थी। बता दें कि प्रेशर कुकर बम की सूचना पुलिस को गुप्तचर से मिली थी। इसके बाद पुलिस ने तलाशी अभियान शुरू कर दिया। 

प्रेशर कुकर बम बरामद

इस दौरान जब पुलिस स्टेशन से 500 मीटर दूर पहाड़ी से जंगल में जाने वाले रास्ते पर पुलिस की टीम जांच करने पहुंची, तो उन्हें एक संदिग्ध स्थान दिखा। यहां जमीन में डेढ़ से दो फीट के भीतर कुकर को दो किलो विस्फोटक के साथ रखा गया था। इसे इस तरह से प्लांट किया गया था कि ये बिल्कुल माइंस की तरह थे। पुलिस के मुताबिक बरामद विस्फोटक सामान्य विस्फोटक सामग्री नहीं है। बल्कि हाई क्लास एक्सप्लोसिव है। अच्छी बात ये रही कि किसी भी दुर्घटना के होने से पहले ही सही समय पर इसे बरामद कर लिया गया। इस बम को प्लांट करने वाले नक्सलियों की पुलिस तलाश कर रही है। 

सुरक्षाबलों ने नक्सलियों का किया एनकाउंटर

बता दें कि इससे पूर्व सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच गढ़चिरौली में मुठभेड़ देखने को मिली थी। इस दौरान सुरक्षाबलों ने 2 नक्सलियों को मार गिराया था। बता दें कि मारे गए नक्सलियों में से एक 2019 में हुए जंबुलखेड़ा ब्लास्ट में शामिल था। इन नक्सलियों की पहचना कसानसुर दलम (दस्ते) के डिप्टी कमांडर दुर्गेश वट्टी के रूप में हुई जो जंबुलखेड़ा विस्फोट की घटना के साजिशकर्ताओं में से एक था। इस घटना में गढ़चिरौली पुलिस को 15 जवान शहीद हो गए थे। दरअसल इस दौरान गुप्त सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों ने अभियान चलाया। जिसके बाद दोनों नक्सलियों से सुरक्षाबलों की मुठभेड़ शुरू हो गई और सुरक्षाबलों ने नक्सलियों को मार गिराया। 

 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें महाराष्ट्र सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement