1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. यात्री वाहनों की खुदरा बि‍क्री अक्‍टूबर में 9 प्रतिशत घटी, फाडा ने कहा आपूर्ति में रही बाधा

यात्री वाहनों की खुदरा बि‍क्री अक्‍टूबर में 9 प्रतिशत घटी, फाडा ने कहा आपूर्ति में रही बाधा

अक्टूबर माह में दो-पहिया वाहनों की बिक्री 26.82 प्रतिशत घटकर 10,41,682 इकाई रही। अक्टूबर, 2019 में 14,23,394 वाहनों की बिक्री हुई थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 09, 2020 13:51 IST
ऑटोमोबाइल डीलर्स कर्मचारी वाहनों केे बीच मेें खड़ा हुुुुुआ। (च‍ि‍त्र प्रतीकात्‍मक)- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

ऑटोमोबाइल डीलर्स कर्मचारी वाहनों केे बीच मेें खड़ा हुुुुुआ। (च‍ि‍त्र प्रतीकात्‍मक)

नई दिल्‍ली। ऑटोमोबाइल्‍स डीलर्स की संस्‍था फाडा ने सोमवार को कहा कि अक्‍टूबर में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री सालाना आधार पर 8.8 प्रतिशत की गिरावट के साथ 2,49,860 इकाई रही। फाडा ने कहा कि आपूर्ति मुद्दे के कारण रजिस्‍ट्रेशन में कमी आई है। फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) 1464 क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों में से 1257 से आंकड़े एकत्रित करती है। फाडा के मुताबिक अक्‍टूबर 2019 में 2,73,980 यात्री वाहन बिके थे।

अक्‍टूबर माह में दो-पहिया वाहनों की बिक्री 26.82 प्रतिशत घटकर 10,41,682 इकाई रही। अक्‍टूबर, 2019 में 14,23,394 वाहनों की बिक्री हुई थी। वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री भी अक्‍टूबर 2020 में 30.32 प्रतिशत घटकर 44,480 इकाई रही,जो अक्‍टूबर 2019 में 63,837 इकाई रही थी। इसी प्रकार थ्री-पहिया वाहनों की बिक्री 64.5 प्रतिशत घटकर 22,381 इकाई रही, जो अक्‍टूबर 2019 में 63,042 इकाई रही थी।

फाडा के मुताबिक अक्‍टूबर, 2020 में ट्रैक्‍टर की बिक्री में उछाल आया और यह 55 प्रतिशत बढ़कर 55,146 इकाई रही। पिछले साल समान माह में 35,456 ट्रैक्‍टर की बिक्री हुई थी। सभी श्रेणियों में कुल बिक्री में 23.99 प्रतिशत की गिरावट आई और कुल 14,13,549 वाहनों की बिक्री हुई। पिछले साल समान माह में कुल 18,59,709 वाहनों की बिक्री हुई थी।

बिक्री आंकड़ों पर बोलते हुए फाडा के अध्‍यक्ष विनिकेश गुलाटी ने कहा कि नवरात्रि के दिनों में वाहनों के रजिस्‍ट्रेशन में खूब उछाल देखने को मिला लेकिन फि‍र भी अक्‍टूबर में गिरावट को नहीं रोका जा सका। उन्‍होंने कहा कि यात्री वाहन श्रेणी में नए लॉन्‍च हुए मॉडल की मांग लगातार बनी हुई है। दो-पहिया श्रेणी में एंट्री-लेवल मोटरसाइकिल की डिमांड कमजोर रही।

आपूर्ति में व्‍यवधान की वजह से अधिकांश यात्री वाहन डीलरों के पास सबसे ज्‍यादा बिकने वाले मॉडल्‍स का सीमित स्‍टॉक था, जिसकी वजह से उपभोक्‍ता मांग को पूरा नहीं किया जा सका। 

Write a comment