1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अक्षय तृतीया पर चौपट रहा ज्वैलर्स का कारोबार, कोविड से पहले के मुकाबले सिर्फ 10 प्रतिशत हुई बिक्री

अक्षय तृतीया पर चौपट रहा ज्वैलर्स का कारोबार, कोविड से पहले के मुकाबले सिर्फ 10 प्रतिशत हुई बिक्री

कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के चलते रत्न और आभूषण उद्योग को लगातार दूसरे साल अक्षय तृतीया के अवसर पर ब्रिकी में भारी गिरावट का सामना करना पड़ा।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: May 15, 2021 10:14 IST
अक्षय तृतीया पर चौपट...- India TV Paisa
Photo:FILE

अक्षय तृतीया पर चौपट रहा ज्वैलर्स का कारोबार, कोविड से पहले के मुकाबले सिर्फ 10 प्रतिशत हुई बिक्री

नयी दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के चलते रत्न और आभूषण उद्योग को लगातार दूसरे साल अक्षय तृतीया के अवसर पर ब्रिकी में भारी गिरावट का सामना करना पड़ा। कारोबारियों ने बताया कि इस साल अक्षय तृतीया पर बिक्री कोविड से पहले 2019 के मुकाबले सिर्फ 10 प्रतिशत रही और स्थानीय लॉकडाउन के चलते ग्राहकों की सीमित आवक थी। आम साल में उद्योग अक्षय तृतीया के दिन 25-30 टन का कारोबार करता था, लेकिन इस साल इसके मुश्किल से 3-4 टन तक पहुंचने का अनुमान है, क्योंकि ऑफलाइन बिक्री बुरी तरह से प्रभावित हुई है। 

पढें-  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें-  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

कल्याण ज्वैलर्स जैसे कुछ संगठित कारोबारियों ने सोने की ऑनलाइन बुकिंग की, जिसे बाद में ग्राहकों तक पहुंचाया जाएगा। अखिल भारतीय रत्न और आभूषण घरेलू परिषद (जीजेसी) के अध्यक्ष आशीष पेठे ने कहा, ‘‘देश भर में पिछले साल की तुलना में महामारी की दूसरी लहर में भारी नुकसान हो रहा है। इससे कुल मिलाकर ग्राहकों में नकारात्मक भावनाएं पैदा हुईं।’’ 

पढें-  Aadhaar के बिना हो जाएंगे ये काम, सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर जरूरत को किया खत्म

पढें-  बैंक के OTP के नाम हो रहा है फ्रॉड, खाली हो सकता है अकाउंट, ऐसे रहे सावधान

उन्होंने कहा कि लगभग 90 प्रतिशत राज्यों में लॉकडाउन लगाए गए हैं, जहां खुदरा आभूषण स्टोर बंद हैं और किसी भी तरह की बिक्री की इजाजात नहीं है। पेठे ने कहा कि इस साल अक्षय तृतीया पर कारोबार पिछले साल 3-4 टन कारोबार की उम्मीद है, जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 2-2.5 टन और 2019 में 25-30 टन था। उन्होंने कहा कि कुछ ग्राहक ऑनलाइन या फोन के जरिए सोना खरीद रहे हैं और हालात ठीक होने पर उन्हें आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने कहा कि आभूषण विक्रेताओं को अक्षय तृतीया पर 10-15 प्रतिशत बिक्री की उम्मीद है।

Latest Business News