1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सिर्फ एक ट्वीट से हिट हुआ ये खास शहद, जानिए क्यों 1 दिन में बिका महीनों का स्टॉक

सिर्फ एक ट्वीट से हिट हुआ ये खास शहद, जानिए क्यों 1 दिन में बिका महीनों का स्टॉक

सुंदरबन के मैंग्रोव वन में मिलने वाले बनफूल शहद की मांग इतनी ज्यादा रही कि शहद एक दिन में आउट ऑफ स्टॉक हो गया। वहीं ये शहद एक दिन में इतना बिका, जितना बिकने में महीनों लग जाते थे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: December 06, 2020 22:49 IST
सिर्फ एक ट्वीट से हिट हुआ ये खास शहद, जानिए क्यों 1 दिन में बिका महीनों  का स्टॉक- India TV Paisa
Photo:TWITTER

सिर्फ एक ट्वीट से हिट हुआ ये खास शहद, जानिए क्यों 1 दिन में बिका महीनों  का स्टॉक

नई दिल्ली। सेहत से जुड़े खाने पीने के सामान को लेकर लोगों की जागरुकता इतनी बढ़ गई है कि वो ऐसे किसी भी उत्पाद को खरीदने में एक पल नहीं लगाते जो शुद्धता और गुणों से भरपूर हो। हाल ही में ऐसा ही एक शहद ब्रैंड के साथ देखने को मिला है। ये शहद इतना खास था कि लोगों ने एक ही दिन में इस शहद को आउट ऑफ स्टॉक कर दिया।

कैसे एक ट्वीट ने बढ़ाई बिक्री

एक आईएफएस अधिकारी प्रवीण कासवान ने एक ट्वीट के जरिए लोगों को सुंदरबन के इस खास बनफूल शहद के बारे में जानकारी दी थी। दरअसल ट्वीट में उन्होने हाल में आई एक कथित रिपोर्ट का जिक्र किया जो बाजार में मिलने वाले शहद की शुद्धता को लेकर थी। कासवान ने इसी के साथ बनफूल शहद की जानकारी दी थी। अपने ट्वीट में अधिकारी ने इस शहद की खासियत से लेकर ग्राहक इस शहद को कैसे खरीद सकते हैं इन सब बातों का जिक्र किया था।

जानिए क्या रहा लोगों का रिस्प़ॉन्स

अपने पोस्ट के सिर्फ एक दिन बाद ही कासवान ने जानकारी दी कि शहद की मांग इतनी ज्यादा रही कि शहद आउट ऑफ स्टॉक हो गया है। उनके मुताबिक शहद एक दिन में इतना बिका, जितना बिकने में महीनों लग जाते थे। वहीं एक अन्य आईएएस अधिकारी एम वी राव ने भी बनफूल सुंदरबन शहद की ऊंची बिक्री को लेकर ट्वीट किया।  

क्या खासियत है सुंदरबन शहद की  

सुंदरबन के मैंग्रोव वन से मिलने वाले शहद को बनफूल जंगली शहद कहा जाता है। पश्चिम बंगाल सरकार ने बनफूल को बेचने के लिए एक अलग ब्रांड बनाया है। आईएफएस अधिकारी के मुताबिक ये शहद सुंदरबन के पारंपरिक शहद संग्राहकों के द्वारा इकट्ठा किया जाता है। इनकी मदद संयुक्त वन प्रबंधन समिति करती है, जो कि एक कोऑपरेटिव है। ये कोऑर्परेटिव न केवल स्थानीय लोगों को आजीविका प्रदान करती है साथ ही संरक्षण में भी मदद करती है।     

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X