1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. DCB बैंक जुटाएगा 300 करोड़ रुपए

DCB बैंक जुटाएगा 300 करोड़ रुपए

DCB बैंक निजी नियोजन के तहत ऋण प्रतिभूतियों को जारी कर 300 करोड़ रुपए जुटाएगा। इस बारे में फैसला बैंक के निदेशक मंडल की पूंजी जुटाने वाली समिति ने किया है।

Abhishek Shrivastava Abhishek Shrivastava
Published on: October 29, 2016 15:38 IST
Paisa Quick: DCB बैंक जुटाएगा 300 करोड़ रुपए, हेरिटेज फूड्स खरीदेगी रिलायंस का दूध कारोबार- India TV Paisa
Paisa Quick: DCB बैंक जुटाएगा 300 करोड़ रुपए, हेरिटेज फूड्स खरीदेगी रिलायंस का दूध कारोबार

नई दिल्ली। DCB बैंक निजी नियोजन के तहत ऋण प्रतिभूतियों को जारी कर 300 करोड़ रुपए जुटाएगा। बैंक ने बंबई शेयर बाजार को भेजी जानकारी में कहा है कि इस बारे में फैसला बैंक के निदेशक मंडल की पूंजी जुटाने वाली समिति ने किया है।

  • समिति ने निजी नियोजन के जरिये 300 करोड़ रुपए तक की पूंजी असुरक्षित गैर-परिवर्तनीय टीयर-दो बांड के जरिये जुटाने को मंजूरी दी है।
  • यह राशि एक अथवा दो किस्तों में जुटाई जा सकती है।
  • समिति ने बैंक के चेयरमैन, प्रबंध निदेशक और सीईओ अथवा मुख्य वित्‍त अधिकारी को विभिन्न शर्तों जैसे इश्यू के आकार, अवधि, ब्याज दर और परिपक्वता तथा ब्याज भुगतान की शर्तों के बारे में निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया है।

 हेरिटेज फूड्स खरीदेगी रिलायंस रिटेल का दूध कारोबार

हेरिटेज फूड्स लिमिटेड ने कहा कि वह रिलायंस रिटेल के डेयरी व्यवसाय का अधिग्रहण करेगी। यह सौदा एक मुश्त-कीमत के आधार पर होगा। हेरिटेज फूड्स लिमिटेड ने बीएसई को सूचित किया है कि उसने इसके लिए एक पक्का अनुबंध कर लिया है। अब इसके लिए नियामकीय मंजूरी लेनी होगी।

  • दोनों कंपनियों के प्रबंधन का मानना है कि रिलायंस रिटेल लिमिटेड (आरआरएल) के डेयरी व्यवसाय और हेरिटेज फूड्स के बीच काफी तालमेल है।
  • इससे पंजाब, मुंबई और दिल्ली-एनसीआर जैसे कुछ मौजूदा बाजारों में अच्छी वृद्धि की संभावनाएं हैं।
  • इसके साथ पंजाब, उत्तराखंड और राजस्थान जैसे राज्यों में नए अवसर भी हैं।
  • इस अधिग्रहण के बाद भी रिलायंस रिटेल डेयरी उत्पादों का कारोबार जारी रखेगी।
  • वह अपने खुदरा और थोक ब्रिकी नेटवर्क से हेरिटेज के उत्पादों का भी कारोबार करेगी।

सेबी ने बांबे कमोडिटी एक्सचेंज को शेयर कारोबार से निकलने की अनुमति दी 

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने बांबे कमोडिटी एक्सचेंज को शेयर कारोबार के व्यवसाय से बाहर निकलने की अनुमति दे दी। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने इस साल फरवरी में बांबे कमोडिटी एक्सचेंज लिमिटेड (बीसीईएल) को सूचित किया कि उसके प्लेटफॉर्म पर 12 महीने से अधिक समय से कोई कारोबार नहीं हुआ है इसलिए वह इस कारोबार से हट सकता है।

  • सेबी ने एक आदेश में कहा है, बांबे कमोडिटी एक्सचेंज कारोबार से बाहर निकलने की नियामक की शर्तों को पूरा करता है।
  • ऐसे में पूंजी बाजार के कारोबार से निकलने का उपयुक्त मामला बनता है।
  • सेबी ने इसके साथ ही बांबे कमोडिटी एक्सचेंज से कहा है कि वह अपने कर दायित्वों को पूरा करते हुए अब अपने नाम के साथ स्टॉक एक्सचेंज शब्दों का इस्तेमाल नहीं करे।

प्रदूषण बोर्ड के नोटिस के बाद बॉश ने जयपुर संयंत्र बंद किया 

ऑटो उपकरण बनाने वाली कंपनी बॉश लिमिटेड ने राजस्थान प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा कंपनी के जयपुर संयंत्र को अपशिष्ट जल शोधन मानदंडों के कथित उल्लंघन के आरोप में नोटिस दिये जाने के बाद आज से वहां परिचालन बंद कर दिया।

  • कंपनी को राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा एक नोटिस जारी किया गया जिसमें संयंत्र के परिचालन के लिए दी गई अनुमति सहमति वापस ले ली गई है।
  • उक्त कारणों से कंपनी 28 अक्‍टूबर  2016 से जयपुर संयंत्र में परिचालन को बंद करने को बाध्य है।
  • बॉश ने कहा कि बंद के कारण उसकी उत्पादन हानि करीब 2.5 करोड़ रुपए प्रति दिन की है।
  • उसने कहा है कि संयंत्र को 28 फरवरी 2017 तक के लिए लाइसेंस मिला था।
Write a comment
X