1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. होम लोन: एचडीएफसी ने 0.05% कम की आरपीएलआर की ब्याज दरें, नए व पुराने दोनों ग्राह‍कों का होगा फायदा

होम लोन: एचडीएफसी ने 0.05% कम की आरपीएलआर की ब्याज दरें, नए व पुराने दोनों ग्राह‍कों का होगा फायदा

आवास ऋण कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड ने ब्याज की दर 0.05 प्रतिशत कम करने की घोषणा की है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 04, 2020 11:58 IST
HDFC, HDFC Ltd, HDFC Ltd reduce rate, HDFC reduce home loan rate, HDFC home loan rate- India TV Paisa

एचडीएफसी ने अपनी खुदरा आवास ऋण पर प्रधान ब्याज दर (आरपीएलआर) को 0.05 प्रतिशत कम की

नयी दिल्ली। अगार आप होम लोन लेना चाहते हैं या आपने एचडीएफसी लिमिटेड से होमलोन ले रखा है तो ये खबर आपके फायदे की है। आवास ऋण कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड ने ब्याज की दर 0.05 प्रतिशत कम करने की घोषणा की है। बैंक का यह फैसला नए और पुराने दोनों तरह के ग्राहकों के लिए लागू होगा। इससे पहले भारतीय स्टेट बैंक बाह्य मानक पर आधारित अपनी ब्याज दर को पहली जनवरी से 8.05 प्रतिशत से घटाकर 7.80 प्रतिशत कर चुका है। 

एचडीएफसी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि उसने अपनी खुदरा आवास ऋण पर प्रधान ब्याज दर (आरपीएलआर) को 0.05 प्रतिशत कम किया है। संशोधित दर 6 जनवरी 2020 से लागू होगी। यहां बता दें कि HDFC बैंक अपने आवास ऋणों पर परिवर्तनशील दर को आरपीएलआर के आधार पर तय करता है। बहरहाल, नयी दरें 8.20 प्रतिशत से नौ प्रतिशत के दायरे में रहेंगी। 

एसबीआई ने भी ब्‍याज दर में की है कटौती

इससे पहले स्टेट बैंक इंडिया (एसबीआई) ने भी होम और ऑटो लोन पर ब्‍याज दरें कम कर दी हैं। अब नए मकान खरीदने वालों को बैंक 7.90 फीसदी की ब्याज दर पर लोन देगा। पहले ब्याज दर 8.15 फीसदी थी। बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क बेस्ड रेट (EBR) को 8.05 फीसदी से घटाकर 7.80 फीसदी कर दिया है। यह एक आधार दर है जो इस बात का सूचक होता है कि लोन की दर इससे कम नहीं हो सकती।

रेपो रेट में इस बार नहीं हुई थी कटौती

बीते दिसंबर महीने में आरबीआई की मौद्रिक समीक्षा बैठक में रेपो रेट कटौती नहीं की गई थी। हालांकि, इससे पहले लगातार 5 बार रेपो रेट पर आरबीआई ने कैंची चलाई थी लेकिन बैंकों ने उम्‍मीद के मुताबिक इस कटौती का फायदा ग्राहकों को नहीं पहुंचाया। बता दें कि रेपो रेट के आधार पर ही बैंकों को अपने एक्सटर्नल बेंचमार्क रेट में हर तीन महीने में एक बार बदलाव करनी होती है। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा तय रेपो रेट 5.15 फीसदी है।

Write a comment