1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. त्योहारों की खरीदारी में हो घरेलू उत्पादों पर जोर, खादी की खरीद का बने नया रिकॉर्ड: पीएम के 'मन की बात'

त्योहारों की खरीदारी में हो घरेलू उत्पादों पर जोर, खादी की खरीद का बने नया रिकॉर्ड: पीएम के 'मन की बात'

2020-21 में खादी और ग्रामोद्योग आयोग ने 95,741.74 करोड़ रुपये का टर्नओवर दर्ज किया। जो कि अबतक का सबसे ज्यादा कारोबार है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: September 26, 2021 16:27 IST
प्रधानमंत्री के मन...- India TV Paisa
Photo:PTI

प्रधानमंत्री के मन की बात में खादी पर जोर

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री मोदी ने आज मन की बात में खादी और घरेलू उत्पादों को अपनाने पर जोर दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि त्योहार आने वाले हैं, इस अवसर पर होने वाली खरीद में लोग देश में बने उत्पादों पर ज्यादा से ज्यादा जोर दे। यही नहीं प्रधानमंत्री ने लोगों से आह्वान किया कि 2 अक्टूबर पर भारत में खादी की बिक्री का एक नया रिकॉर्ड बने। 

त्योहारों में खादी की शॉपिंग का आह्वान

मन की बात में प्रधानमंत्री ने कहा कि आज खादी और हैंडलूम का उत्पादन कई गुना बढ़ा है और उसकी मांग भी बढ़ी है। ऐसे कई अवसर आए हैं जब दिल्ली के खादी शोरूम में एक दिन में एक करोड़ रूपए से ज्यादा का कारोबार हुआ है। प्रधानमंत्री ने लोगों से आह्वान किया कि 2 अक्टूबर पर एक बार एक नया रिकॉर्ड बनाएं। उन्होने भारतीयों से कहा कि उनकी हर खरीदारी वोकल फॉर लोकल अभियान को मजबूत करने वाली हो, साथ ही पुराने सारे रिकॉर्ड तोड़ने वाली भी हो।

रिकॉर्ड स्तरों पर पहुंचा केवीआईसी का कारोबार 
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लगातार स्वदेशी अपनाने की अपील करते रहते हैं। कोविड-19 महामारी के बावजूद खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने बीते वित्त वर्ष में अपना अब तक का सबसे अधिक कारोबार दर्ज किया है। आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2020-21 में आयोग ने 95,741.74 करोड़ रुपये का ग्रॉस टर्नओवर दर्ज किया। ये पिछले वर्ष यानी 2019-20 में हुए 88,887 करोड़ रुपए के कारोबार के मुकाबले 7.71 प्रतिशत ज्यादा है। आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2015-16 की तुलना में, 2020-21 में खादी और ग्रामोद्योग क्षेत्रों में कुल उत्पादन में 101 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई है, जबकि इस अवधि के दौरान कुल बिक्री में 128.66 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। ग्रामोद्योग ने 2019-20 में 65,393.40 करोड़ रुपए के खादी उत्पादन की तुलना में 2020-21 में 70,329.67 करोड़ रुपए का उत्पादन किया। इसी तरह से वित्त वर्ष 2020-21 में ग्रामोद्योग उत्पादों की बिक्री 92,214.03 करोड़ रुपए की हुई। जबकि 2019-20 में यह आंकड़ा 84,675.29 करोड़ का था। अधिकारियों की माने तो स्वदेशी उत्पादों को खरीदने की प्रधानमंत्री की अपील के बाद खादी और ग्रामोद्योग उत्पादों की बिक्री में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई। वहीं खादी ई-पोर्टल, खादी मास्क, खादी फुटवियर, खादी प्राकृतिक पेंट और खादी हैंड सैनिटाइज़र आदि के लॉन्च, नई प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) इकाइयों की रिकॉर्ड संख्या की स्थापना, नए स्फूर्ति क्लस्टर, स्वदेशी' के लिए सरकार की पहल और खादी आयोग का अर्धसैनिक बलों को सामग्री आपूर्ति करने के समझौते से फायदा मिला है।

Petrol Diesel Price: डीजल में फिर दर्ज हुई बढ़त वहीं पेट्रोल में राहत, जानिये आज कहां पहुंची कीमतें

 

Write a comment
Click Mania
bigg boss 15