1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. योगी के राज में यूपी में बढ़ रहे विदेशी निवेश, इन 9 सेक्टर में अमेरिकन कंपनियां लगाएंगी पैसा

योगी के राज में यूपी में बढ़ रहे विदेशी निवेश, इन 9 सेक्टर में अमेरिकन कंपनियां लगाएंगी पैसा

यूपी में विकास की रफ्तार तेज हो चुकी है। कई विदेशी कंपनियां अब यूपी के अलग-अलग सेक्टर में निवेश करने का ऐलान कर रही हैं। इससे आने वाले समय में राज्य में लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

Vikash Tiwary Edited By: Vikash Tiwary @ivikashtiwary
Published on: November 26, 2022 16:07 IST
योगी के राज में यूपी में बढ़ रहे विदेशी निवेश- India TV Paisa
Photo:PTI योगी के राज में यूपी में बढ़ रहे विदेशी निवेश

Invest UP: उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर इन्वेस्टमेंट के लिए अमेरिकी कंपनियों में उत्सुकता बढ़ने लगी है। राज्य के 9 सेक्टर ऐसे हैं, जहां अमेरिकी कंपनियों की दिलचस्पी ज्यादा है। इसमें आईटी से लेकर कृषि उद्योग तक अमेरिकी कंपनियों के टॉप चार्ट में हैं। जीआईएस-2023 की नोडल एजेंसी इन्वेस्ट यूपी के मुताबिक, प्रदेश में भारी निवेश के लिए अमेरिकी कंपनियों पर विशेष फोकस है। सरकार बड़ी संख्या में अमेरिकी कंपनियों को यूपीजीआईएस 2023 के लिए निमंत्रण भेज चुकी है। इसके अलावा अमेरिका के विभिन्न व्यापारिक संगठनों से भी सरकार के अधिकारी लगातार संपर्क में हैं।

यूपी में सर्वाधिक एमएसएमई

सरकार की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, अमेरिकी कंपनियों की ओर से जिन सेक्टर्स में विशेष रुचि दिखाई गई है उनमें आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स, कृषि और खाद्य प्रसंस्करण, रक्षा और एयरोस्पेस, फार्मास्युटिकल और चिकित्सा उपकरण, ऊर्जा, रिटेल और ऑटोमोबाइल। इसके अलावा बड़ी संख्या में वेंचर कैपिटलिस्ट भी यूपी में निवेश को इच्छुक हैं। यूपी में सर्वाधिक 90 लाख से भी ज्यादा एमएसएमई क्लस्टर है, जहां निवेश के लिए अमेरिकन वेंचर कैपिटलिस्ट्स के साथ सरकार के स्तर से लगातार संपर्क साधा जा रहा है। सरकार को उम्मीद है कि प्रदेश के स्टार्टअप्स में अमेरिकी निवेशकों की हिस्सेदारी होने से यूपी में यूनिकॉर्न की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि होगी। साथ ही राज्य से हो रहे रोजगार को लेकर पलायन को रोकने में भी काफी मदद मिलेगी।

ये कंपनियां करेंगी निवेश?

इनमें Apple, Microsoft Corporation, Alphabet (Google), Amazon, Meta, Visa, Intel, Cisco, Oracle और Adobe शामिल हैं। इसके अलावाा यूएस स्माल बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एसबीए), नेशनल वूमेन बिजनेस काउंसिल, स्कोर बिजनेस मेंटरिंग, वेटरन्स बिजनेस आउटरीच सेंटर (वीबीओसी), यूएस चेंबर ऑफ कॉमर्स स्माल बिजनेस काउंसिल, यूएस एक्सपोर्ट असिस्टेंस सेंटर, यूनाइटेड स्टेट माइनॉरिटी चेंबर ऑफ कॉमर्स, आंत्रप्रेन्योर ऑर्गनाइजेशन, नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडिपेंडेंट बिजनेस (एनएफआईबी), इंटरनेशनल फ्रेंचाइजीस एसोसिएशन (आईएफए), नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन, नेशनल रिटेल फेडरेशन, अमेरिकन मार्केटिंग एसोसिएशन (एएमए), यूनाइटेड स्टेट टेलिकॉम एसोसिएशन भी दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

अफसरों की टीम को दी गई है जिम्मेदारी

अमेरिकी कंपनियों के उत्तरप्रदेश में निवेश के लिए सरकार ने अफसरों की लंबी चौड़ी टीम को काम पर लगा दिया है। इनमें सचिव स्तर से ऊपर के दो अफसर, आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स और स्वास्थ्य विभाग के दो अधिकारी, योजना विभाग से एक अधिकारी, उद्योग विभाग से एक अधिकारी को लगाया गया है। इसके अलावा सीएम कार्यालय से एक अधिकारी व इन्वेस्ट यूपी के तीन अधिकारियों को अमेरिकी कंपनियों से डील फाइनल करने के काम में मिशन मोड में कार्य करने के लिए कहा गया है।

Latest Business News