1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. धनतेरस के दिन सोने में शुरू होने जा रही है ऑप्शन ट्रेडिंग, जानिए कैसे खरीद सकेंगे यहां सोना

धनतेरस के दिन सोने में शुरू होने जा रही है ऑप्शन ट्रेडिंग, जानिए कैसे खरीद सकेंगे यहां सोना

एमसीएक्स की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म पर सोने में ऑप्शन ट्रेडिंग की शुरुआत करेंगे

Manoj Kumar Manoj Kumar @kumarman145
Published on: October 12, 2017 13:47 IST
धनतेरस के दिन सोने में शुरू होने जा रही है ऑप्शन ट्रेडिंग, जानिए कैसे खरीद सकेंगे यहां सोना- India TV Paisa
धनतेरस के दिन सोने में शुरू होने जा रही है ऑप्शन ट्रेडिंग, जानिए कैसे खरीद सकेंगे यहां सोना

मुंबई। धनतेरस के दिन देश सोना खरीदना है तो आपके लिए एक नया विकल्प मिलने जा रहा है। देश के सबसे बड़े कमोडिटी एक्सचेंज एमसीएक्स पर धनतेरस के दिन यानि 17 अक्टूबर को सोने में ऑप्शन ट्रेडिंग शुरू होने जा रही है। एमसीएक्स की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म पर सोने में ऑप्शन ट्रेडिंग की शुरुआत करेंगे।

ऑप्शन ट्रेडिंग एक तरह का डेरिवेटिव ट्रेडिंग टूल है, अभी तक देश में कमोडिटीज में ऑप्शन ट्रेडिंग की इजाजत नहीं थी, कमोडिटीज में डेरिवेटिव ट्रेडिंग के नाम पर सिर्फ फ्यूचर ट्रेडिंग होती है, लेकिन अब ऑप्शन ट्रेडिंग की शुरुआत होने जा रही है, 17 अक्टूबर को सोने के साथ देश में कमोडिटी ऑप्शन ट्रेडिंग शुरू हो जाएगी।

कैसे होती है ऑप्शन ट्रेडिंग?

मान लीजिए आपको पता चले कि सोने की कीमतों में इजाफा होने वाला है और ऐसी स्थिति में आप ज्वैलर के पास जाकर सिर्फ 2-3 फीसदी टोकन मनी देकर सोना बुक करा लेते हैं। ऑप्शन ट्रेडिंग में यह टोकन मनी आपका मार्जिन कहलाया जाएगा। पूरी पेमेंट चुकाने से पहले सोने का भाव बढ़ने की खबर सार्वजनिक हो जाती है और उसकी कीमतें आसमान छूने लगती हैं तो ऐसी स्थिति में आप क्योंकि ज्वैलर के साथ पहले डील कर चुके हैं तो ज्वैलर को पुराने भाव पर ही आपको सोने की डिलिवरी देनी होगी जो आपके लिए फायदे का सौदा होगा। लेकिन इसके विपरीत अगर सोने का भाव बढ़ने के बजाय घट जाता है तो आप ज्वैलर के साथ वह डील नहीं करेंगे और टोकन मनी के तौर पर दिया हुआ 2-3 फीसदी मार्जिन ज्वैलर को छोड़ देंगे। यही ऑप्शन ट्रेडिंग है जिसमें कम मार्जिन का रिस्क उठाकर बड़ा सौदा किया जा सकता है।

एक्सचेंज पर मौजूदा समय में होने वाली फ्यूचर ट्रेडिंग में भी कम मार्जिन पर ज्यादा सोना खरीदने का विकल्प है लेकिन फ्यूचर ट्रेडिंग में जबतक आप सौदे में बने हुए हैं तबतक रिस्क बना रहता है, ऑप्शन ट्रेडिंग में आपके पास सौदा छोड़ देने का ऑप्शन है, इसलिए इसे ऑप्शन ट्रेडिंग कहा जाता है।

एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म पर जो ऑप्शन ट्रेडिंग होगी उसमें आपको किसी ज्वैलर के पास नहीं जाना पड़ेगा बल्कि एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म पर ही सोना बेचने और खरीदने वाले ट्रेडर्स मौजूद होंगे।

Write a comment
X