1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. घर के मालिक हैं तो न करें कमाई की फिक्र, सालों तक ऐसे पा सकते हैं हर महीने एक निश्चित रकम

घर के मालिक हैं तो न करें कमाई की फिक्र, सालों तक ऐसे पा सकते हैं हर महीने एक निश्चित रकम

बैंक के द्वारा आय की योजना नया नहीं है। रिटायरमेंट के बाद नियमित आय के लिये बैंकों ने रिवर्स मॉर्गेज की योजना शुरू की थी। देश के सभी प्रमुख बैंक इस योजना को चला रहे हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: May 16, 2021 19:07 IST
घर बैठे ऐसे पाये...- India TV Paisa
Photo:PTI

घर बैठे ऐसे पाये नियमित रकम

नई दिल्ली। अक्सर लोग जिंदगी भर पैसा जोड़कर एक घर बनाते हैं और उसके बाद उन्हें उस घर को चलाने में ही मुश्किलें आने लगती हैं। पूरी जमा पूंजी खर्च कर रिटायरमेंट के बाद आय का कोई जरिया न होने से बुढ़ापे में ऐसी स्थितियां अक्सर बन जाती हैं। और अगर कोई शख्स अपने बच्चों या किसी और से मदद भी नहीं मांगना चाहता तो जिंदगी और कठिन हो जाती है। लेकिन अब हम आपको ऐसी योजना के बारे में बता रहे हैं, जिसमें पूरी पूंजी लगाकर आपने जो घर खड़ा किया है वो ही बुढ़ापे में आपके लिये आजीविका का साधन बन जायेगा।

क्या है ये योजना

यह योजना है रिवर्स मोर्गेज की, दूसरे शब्दों में जिस तरह से लोग घर गिरवी रखकर एक मुश्त रकम लेतें हैं और ईएमआई चुका कर लोन वापस करते हैं। रिवर्स मोर्गेज में घर का मालिक बैंक को घऱ देकर एक मुश्त रकम की जगह नियमित रिवर्स ईएमआई पाता है। इससे घर पर उस शख्स का मालिकाना हक भी बना रहता है, और वो उस घर में आराम से रह भी सकता है। 

क्या है इस योजना की शर्तें
इस योजना के तहत आवेदक की उम्र कम से कम 60 साल होनी चाहिये
अगर आवेदक ज्वाइंट रूप में आवेदन कर रहा है तो साथी की उम्र कम से कम 58 साल होनी चाहिये
आवेदक की उम्र के आधार पर 10 से 15 साल की अवधि तक लोन मिलेगा
कर्ज की रकम कम से कम 3 लाख रुपये और अधिक से अधिक 1 करोड़ रुपये होगी। 
घर बेहतर स्थिति में होना चाहिये और आवेदक के पास ही उसका पूरा मालिकाना हक होना चाहिये
कमर्शियल प्रापर्टी के लिये योजना का फायदा नहीं मिलता

क्या है फायदा
आवेदक मासिक, तिमाही, छमाही, सालाना या एकमुश्त रकम पा सकता है।
आवेदक को RML को वापस करने की जरूरत नहीं होती, इसकी जगह वह बैंक के पास रखे घर में रह सकता है।
आवेदक चाहे तो RML को वापस कर अपने घर को वापस हासिल कर सकता है।
आवेदक के न रहने पर उसके परिवार वाले RML को वापस कर घर हासिल कर सकते हैं।
ज्वाइंट आवेदन में आवेदक के न रहने पर जीवनसाथी को नियमित आय होती है। 
कर्ज की रकम, किसी भी वक्त आउटस्टेंडिंग, मिलने वाली ईएमआई की गणना वैसे ही होती है जैसे बैंक के द्वारा दिये जाने वाले अन्य कर्ज की गणना होती है।

कैसे कर सकते हैं आवेदन
योजना को एसबीआई सहित देश के सभी प्रमुख बैंक ऑफर कर रहे हैं।
आप ऑनलाइन या ब्रांच में जाकर योजना के लिये एप्लीकेशन देनी होगी
अन्य आम दस्तावेजों के साथ आपको अपने घर से जुड़े सभी दस्तावेज भी जमा करने होंगे।

 

यह भी पढ़ें: PM Kisan: अभी तक आपके खाते में नहीं आई है रकम, ऐसे पता कर सकते हैं कि कहां अटका है आपका पैसा

यह भी पढ़ें: खुशखबरी: कोरोना संकट के बीच एयरटेल का करोड़ों भारतीयों को बड़ा तोहफा, मुफ्त में मिलेगा ये प्लान-पढ़ें पूरी जानकारी

यह भी पढ़ें: बीते हफ्ते इन 8 कंपनियों में निवेशकों ने गंवाये 1.13 लाख करोड़ रुपये, जानिये कहां हुई कमाई

 

 

 

Write a comment
X