1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. EPFO के 6 करोड़ सब्‍सक्राइर्ब्‍स के लिए खुशखबरी, 4 मार्च को होगी 2020-21 के लिए EPF पर ब्‍याज दर की घोषण

EPFO के 6 करोड़ सब्‍सक्राइर्ब्‍स के लिए खुशखबरी, 4 मार्च को होगी 2020-21 के लिए EPF पर ब्‍याज दर की घोषण

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि ईपीएफओ वित्त वर्ष 2020-21 के लिए ईपीएफ जमा पर ब्याज की दर में कुछ कटौती कर सकती है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 16, 2021 15:06 IST
EPFO likely to declare rate of interest on EPF deposits for 2020-21 on March 4- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

EPFO likely to declare rate of interest on EPF deposits for 2020-21 on March 4

नई दिल्‍ली। रिटायरमेंट फंड बॉडी ईपीएफओ (EPFO) वित्‍त वर्ष 2020-21 के लिए प्रोविडंट फंड डिपोजिट पर ब्‍याज दर की घोषणा 4 मार्च को कर सकती है। इस दिन सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्‍टीज की बैठक श्रीनगर में आयोजित होगी। सूत्रों ने बताया कि कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (EPFO)  4 मार्च को होने वाली सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्‍टीज (CBT) की बैठक में वित्‍त वर्ष 2020-21 के लिए ब्‍याज दर की घोषणा कर सकता है।

ईपीएफओ के एक ट्रस्‍टी केई रघुनाथन ने समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए कहा कि सोमवार को ही उन्‍हें जानकारी मिली है कि सीबीटी की अगली बैठक 4 मार्च को श्रीनगर में आयोजित होगी और इस बैठक के एजेंडा की जानकारी भी जल्‍द ही सबको भेजी जाएगी। उन्‍होंने बताया कि प्रारंभिक सूचना मेल में 2020-21 के लिए ब्‍याज दर तय करने पर चर्चा को लेकर कोई जानकारी नहीं दी गई है।

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि ईपीएफओ वित्‍त वर्ष 2020-21 के लिए ईपीएफ जमा पर ब्‍याज की दर में कुछ कटौती कर सकती है। वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिए 8.5 प्रतिशत ब्‍याज दर की घोषणा की गई है और लाखों अंशधारकों को अभी तक उनके खाते में ब्‍याज की राशि प्राप्‍त नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें: EPFO update: क्‍या 8.5% ब्‍याज अभी तक नहीं हुआ आपके खाते में जमा? यह हो सकता है कारण

सूत्रों ने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के कारण वित्‍त वर्ष 2020-21 में सदस्‍यों द्वारा निकासी अधिक और अंशदान कम किया गया है, जिसके चलते इस बार ब्‍याज दर में कटौती हो सकती है।

पिछले साल मार्च में ईपीएफओ ने 2019-20 के लिए ईपीएफ में जमा राशि पर ब्‍याज की दर घटाकर 8.5 प्रतिशत की दी थी, जो पिछले सात साल का सबसे कम दर थी। इससे पहले 2018-19 में 8.65 प्रतिशत ब्‍याज दिया गया था। 2019-20 में ईपीएफ पर दी जाने वाली ब्‍याज दर 2012-13 के बाद सबसे कम 8.5 प्रतिशत है।

यह भी पढ़ें: आप भी State Bank of India की इस स्‍कीम से हर महीने कमा सकते हैं 10,000 रुपये

ईपीएफओ ने 2016-17 के लिए अपने अंशधारकों को 8.65 प्रतिशत ब्‍याज दिया था। 2017-18 में ब्‍याज की दर 8.55 प्रतिशत थी। 2015-16 में अंशधारकों को 8.8 प्रतिशत ब्‍याज का भुगतान किया गया था। 2013-14 और 2014-15 में में ईपीएफओ ने 8.75 प्रतिशत ब्‍याज दिया था। 2012-13 में अंशधारकों को 8.5 प्रतिशत ब्‍याज दर का भुगतान किया गया था।

यह भी पढ़ें: केवल 7500 रुपये में घर ले जाएं नई मोटरसाइकिल, Honda लेकर आई ये शानदार ऑफर

Write a comment