Wednesday, May 29, 2024
Advertisement

IOA चीफ पीटी ऊषा ने कार्यकारी सदस्यों को लिखा पत्र, कहा - मुझे दरकिनार करने का हो रहा प्रयास

भारतीय ओलंपिक एसोसिएशन (आईओए) की अध्यक्ष पीटी उषा ने एक कार्यकारी सदस्यों को एक लेटर लिखा है जिसमें ये सामने आया है कि उन्हें दरकिनार किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। पीटी उषा ने कार्यकारी सदस्यों की इस हरकत पर निराशा व्यक्त करते हुए उन्हें उनकी जिम्मेदारियों को सही तरह से निभाने की सलाह दी है।

Written By: Abhishek Pandey
Updated on: April 10, 2024 13:36 IST
पीटी उषा- India TV Hindi
Image Source : PTI पीटी उषा

इंडियन ओलंपिक संघ (आईओए) की अध्यक्ष पीटी उषा ने 8 अप्रैल को एसोसिएशन के कार्यकारी परिषद के सदस्यों को एक पत्र लिखा जिसमें उन्होंने रिटायर्ड कैप्टन अजय कुमार नारंग को उनके पद से हटाए जाने पर आपत्ति जताई है। आईओए के कार्यकारी परिषद के सदस्यों की तरफ से अजय कुमार नारंग को 4 मार्च और उसके बाद 11 मार्च को दूसरा लेटर लिखा गया जिसमें उन्हें उनके पद से टर्मिनेट करने के बारे में जानकारी दी गई। आईओए चीफ पीटी उषा को कार्यकारी परिषद के सदस्यों के इस कदम के बारे में कोई भी जानकारी नहीं थी, जिसको लेकर अब उन्होंने अपनी निराशा को एक पत्र के जरिए व्यक्त किया है और ये भी लिखा कि इससे मुझे दरकिनार करने का प्रयास किया जा रहा है।

आपकी हर हरकत मुझे दरकिनार करने का प्रयास

पीटी उषा ने कार्यकारी सदस्यों को लिखे पत्र में लिखा कि ये देखकर मुझे काफी दुख होता है कि हम अभी भी एक टीम के रूप में काम नहीं कर पा रहे हैं और आपकी तरफ से उठाए जा रहे इस तरह के कदम मुझे दरकिनार करने का प्रयास है। मैं आप लोगों को जानकारी देना चाहती हूं कि कैप्टन अजय कुमार नारंग को मैंने पिछले साल अपने कार्यकारी सहायक के तौर पर नियुक्त किया था और एक अध्यक्ष होने के नाते उन्हें सिर्फ मुझे रिपोर्ट करना था, अध्यक्ष आईओए के सभी पत्राचार/यात्रा/नियुक्तियों/बैठकों आदि में भाग लेना था। इस तरह से ये बात साफ हो जाती कि किसी को नियुक्त करने या उसे हटाने के लिए मेरा फैसला मान्य होगा न कि कार्यकारी परिषद के सदस्य इस पर कोई फैसला लेंगे। अजय कुमार नारंग के टर्मिनेशन लेटर में मेरे द्वारा साइन किए हुए उनके नियुक्ति पत्र के क्लॉज 10 के बारे में बताया गया है। मैं अभी अजय कुमार नारंग के काम से संतुष्ट हूं और मुझे उनकी सेवाएं खत्म करने या टर्मिनेट करने का कोई कारण नहीं दिखता है।

भर्ती या बर्खास्तगी कार्यकारी परिषद का काम नहीं

अपने इस लेटर में पीटी उषा ने आगे लिखा कि मैं सभी लोगों को ये याद दिलाना चाहती हूं कि कार्यकारी परिषद का प्रशासनिक कार्य से किसी तरह का कोई काम नहीं है जिसमें भर्ती और बर्खास्तगी भी है। उन्हें अपने कर्तव्यों पर ध्यान देना चाहिए तो आईओए को और आगे लेकर जाना है। मेरा सभी से अनुरोध है कि वह आईओए की तरफ से उन्हें दी गईं जिम्मेदारियों के अनुसार ही कार्य करें न कि किसी तरह का कोई उल्लंघन। आईओए स्टाफ को निर्देश दिया जाता है कि वे आईओए भवन के भीतर लगाए गए नोटिस की किसी भी प्रति को हटा दें। इसके अलावा आईओए स्टाफ को मेरे कार्यकारी सहायक के माध्यम से मेरे कार्यालय से मार्गदर्शन और निर्देशों का पालन करने का निर्देश दिया जाता है।

ये भी पढ़ें

IPL ऑक्शन में इतने खिलाड़ी हो सकेंगे रिटेन! टीमों की हो जाएगी बल्ले-बल्ले

IPL 2024: पर्पल कैप की रेस में अर्शदीप सिंह की लंबी छलांग, क्लासेन ने भी रियान पराग को छोड़ा पीछे

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Other Sports News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन

Advertisement

लाइव स्कोरकार्ड

Advertisement
Advertisement