Friday, March 01, 2024
Advertisement

Made in India ऐप स्टोर Indus से Google-Apple को मिलेगी कड़ी टक्कर, कंपनी ने शुरू की लॉन्च की तैयारी

एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर्स गूगल प्ले स्टोर से जबकि आईफोन यूजर्स एप्पल ऐप स्टोर से ऐप्स को डाउनलोड करते हैं। एंड्रॉयड यूजर्स को बहुत जल्द ऐप स्टोर का एक नया ऑप्शन मिलने वाला है। फोनपे बहुत जल्द मेड इन इंडिया ऐप स्टोर Indus को लॉन्च करने जा रहा है। कंपनी ने इसके लिए डेवलपर्स को इनवाइट करना शुरू कर दिया है।

Gaurav Tiwari Written By: Gaurav Tiwari
Published on: December 05, 2023 13:21 IST
phonepe indus app store, फोनपे ऐप स्टोर, एंड्रॉइड ऐप स्टोर, गूगल vs फोनपे, गूगल प्ले स्टोर, ऐप डेवलप- India TV Hindi
Image Source : फाइल फोटो गूगल और एप्पल का वर्चस्व खतरे में पड़ सकता है।

Made in India App Store: एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर्स अपने फोन में गूगल प्ले स्टोर से ऐप्स इंस्टाल करते हैं तो वहीं आईफोन यूजर्स एप्पल ऐप स्टोर का इस्तेमाल करते है। गूगल और एप्पल दोनों ही अपने प्लेटफॉर्म में ऐप्स को ऐड कराने के लिए ऐप्स डेवलपर्स से मोटा चार्ज वसूलते हैं लेकिन, जल्द ही दोनों कंपनियों को कड़ी टक्कर मिलने वाली है। गूगल और एप्पल दोनों टेक जायंट को एक भारतीय कंपनी कड़ी टक्कर देने जा रही है। 

दरअसल भारतीय कंपनी फोनपे अपना खुद का एक ऐप स्टोर Indus लॉन्च करने जा रही है। Indus ऐप पूरी तरह से एक मेड इन इंडिया ऐप स्टोर होगा। कंपनी ने इस ऐप को लॉन्च करने की तैयारी भी शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि कंपनी ने तमाम ऐप डेवलपर्स से अपने ऐप को लिस्ट करने के लिए कहा गया है। 

12 भाषाओं में ऐप्स की होगी लिस्टिंग

Indus ऐप में ऐप्स को लिस्ट करने के लिए कंपनी ने डेवलपर्स को अंग्रेजी के साथ साथ 12 अन्य भाषाओं की इजाजत दी है। Indus App Store के लॉन्च होने के बाद यूजर्स को ऐप्स डाउनलोड करने के लिए एक और ऑप्शन मिल जाएगा। इससे गूगल और एप्पल के वर्चस्व को भी कड़ी टक्कर मिलेगी। 

डेवलपर्स से नहीं लिया जाएगा कोई चार्ज

कंपनी दुनिया भर के ऐप डेवलपर्स को Indus App Store में ऐप्स को लिस्ट करने के लिए इनवाइट सेंड कर रही है। बताया जा रहा है कि पहले साल इंडस में ऐप लिस्टिंग पूरी तरह से फ्री होगी यानी कंपनी डेवलपर्स से किसी भी तरह का चार्ज नहीं वसूलेगी। इसके बाद दूसरे साल कंपनी डेवलपर्स से मामूली चार्ज लेगी। आपको बता दें कि अभी गूगल और एप्पल की तरफ से ऐप स्टोर पर ऐप लिस्ट करने के लिए करीब 15 से 30 प्रतिशत तक का कमीशन लिया जाता है। 

यह भी पढ़ें- WhatsApp ला रहा है तगड़ा प्राइवेसी फीचर, बिना मोबाइल नंबर के ही किसी को भी कर पाएंगे सर्च

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Tech News News in Hindi के लिए क्लिक करें टेक सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement