Thursday, July 11, 2024
Advertisement

मंत्री बनते ही कीर्ति वर्धन सिंह को दी गई बड़ी जिम्मेदारी, कुवैत जाने का मिला आदेश

कुवैत आग त्रासदी के बाद भारत सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। पीएम मोदी के आदेश के बाद विदेश राज्य मंत्री कीर्ति वर्धन सिंह कुवैत यात्रा के लिए रवाना हुए।

Edited By: Malaika Imam @MalaikaImam1
Updated on: June 12, 2024 23:14 IST
विदेश राज्य मंत्री कीर्तिवर्धन सिंह- India TV Hindi
Image Source : PTI विदेश राज्य मंत्री कीर्तिवर्धन सिंह

कुवैत की एक इमारत में आग लगने से 41 लोगों की मौत हो गई, जिसमें 40 भारतीय नागरिक हैं, जबकि 30 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। इसे लेकर भारत सरकार की ओर से एक बड़ा फैसला लिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदेश के बाद विदेश राज्य मंत्री कीर्ति वर्धन सिंह कुवैत यात्रा के लिए रवाना हुए। विदेश राज्य मंत्री आग लगने की घटना में घायल लोगों की सहायता की निगरानी करने और मारे गए लोगों के शवों को जल्द वापस लाने के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ समन्वय करने के लिए तत्काल कुवैत की यात्रा पर रवाना हुए।

कुवैत के मंगाफ शहर की एक इमारत में आग लग गई। अधिकारियों ने बताया कि आग बुधवार तड़के कुवैत के दक्षिणी अहमदी गवर्नरेट के मंगाफ क्षेत्र में स्थित छह मंजिला इमारत के रसोईघर से लगी। बताया जा रहा है कि इमारत में करीब 160 लोग रहते थे, जो एक ही कंपनी के कर्मचारी हैं। सूत्रों ने बताया कि बचाव अभियान के दौरान पांच अग्निशमन कर्मी घायल हो गए। इसमें कहा गया है कि अधिकतर लोगों की मौत सोते समय धुएं के कारण दम घुटने से हुई। बड़ी संख्या में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। 

कुवैत में भारतीय दूतावास ने 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, "आज भारतीय श्रमिकों से जुड़ी दुखद आग दुर्घटना के संबंध में दूतावास ने एक आपातकालीन हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। सभी संबंधित लोगों से अनुरोध है कि वे अद्यतन जानकारी के लिए इस हेल्पलाइन पर संपर्क करें। दूतावास हरसंभव सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।" कुवैत की कुल जनसंख्या में भारतीय 21 प्रतिशत (10 लाख) और कार्यबल में 30 प्रतिशत (लगभग 9 लाख) हैं। 

पीएम मोदी-विदेश मंत्री ने जताया दुख 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने घटना पर गहरा दुख जताया है। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, "कुवैत सिटी में आग लगने की घटना की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ। खबर है कि 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 50 से ज्यादा लोग अस्पताल में भर्ती हैं। हमारे राजदूत मौके पर गए हैं। हम आगे की जानकारी का इंतजार कर रहे हैं।" उन्होंने कहा, "इस दुखद घटना में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। घायलों के शीघ्र और पूर्ण स्वस्थ होने की कामना करता हूं। हमारा दूतावास इस संबंध में सभी संबंधित लोगों को पूरी सहायता प्रदान करेगा।" 

भारतीय कर्मचारियों का इलाज जारी

भारतीय राजदूत आदर्श स्वैका ने दुर्घटना स्थल का दौरा किया और बाद में अस्पताल भी गए जहां अग्निकांड में घायल भारतीय कर्मचारियों का इलाज चल रहा है। भारतीय दूतावास ने कहा, "राजदूत आदर्श स्वैका ने स्थिति का जायजा लेने के लिए मंगाफ में आग लगने वाली जगह का दौरा किया। दूतावास आवश्यक कार्रवाई और आपातकालीन चिकित्सा स्वास्थ्य देखभाल के लिए प्रासंगिक कुवैती कानून प्रवर्तन, अग्निशमन सेवा और स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में है।" दूतावास के अनुसार, अल-अदन अस्पताल में भारतीय राजनयिक ने कई मरीजों से मुलाकात की और उन्हें दूतावास की ओर से पूरी सहायता का आश्वासन दिया। उसने बताया कि अस्पताल प्राधिकारियों के अनुसार लगभग सभी की हालत स्थिर बताई गई है। 

भारतीय दूतावास ने ‘एक्स’ पर एक अन्य पोस्ट में कहा कि राजदूत स्वैका ने फरवानिया अस्पताल का भी दौरा किया, जहां आज के अग्निकांड में घायल हुए छह श्रमिकों को भर्ती कराया गया था, जिनमें से अधिकतर के भारतीय होने की आशंका है। अस्पताल के अधिकारियों ने पुष्टि की है कि उनमें से चार को छुट्टी दे दी गई है, एक को जाहरा अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है और वार्ड में भर्ती एक की हालत स्थिर बताई जा रही है। 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement