1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. व्हाइट हाउस की अधिकारी पर ट्विटर की कार्रवाई, अकाउंट पर लगाई रोक

व्हाइट हाउस की अधिकारी पर ट्विटर की कार्रवाई, अकाउंट पर लगाई रोक

ट्विटर ने व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायली मैकनेनी के निजी अकाउंट ‘लॉक’ कर दिया है क्योंकि उन्होंने डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन के बेटे के कथित भ्रष्टाचार से जुड़ा समाचार साझा किया था। 

Bhasha Bhasha
Published on: October 15, 2020 14:10 IST
व्हाइट हाउस की अधिकारी पर ट्विटर की कार्रवाई, अकाउंट पर लगाई रोक- India TV Hindi
Image Source : FILE व्हाइट हाउस की अधिकारी पर ट्विटर की कार्रवाई, अकाउंट पर लगाई रोक

वाशिंगटन: ट्विटर ने व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायली मैकनेनी के निजी अकाउंट ‘लॉक’ कर दिया है क्योंकि उन्होंने डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन के बेटे के कथित भ्रष्टाचार से जुड़ा समाचार साझा किया था। राष्ट्रपति ट्रंप तथा उनके अभियान की ओर से आरोप लगाया गया कि ट्विटर ने यह कदम न्यूयार्क पोस्ट की एक खबर मैकनेनी द्वारा साझा करने के चलते उठाया है, जिसमें आरोप लगाया गया था कि बाइडेन के बेटे हंटर बाइडेन ने यूक्रेन की एक कंपनी के बोर्ड के सदस्य के रूप में भुगतान पाने के लिए अपने पिता के ओहदे का फायदा उठाया, जो तब उप-राष्ट्रपति थे और खासतौर पर यूक्रेन तथा रूस संबंधी मामलों के प्रभारी थे। 

ट्रंप अभियान की ओर से ट्वीट किया गया, ‘‘ट्विटर ने व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायली मैकनेनी का निजी अकाउंट पर इसलिए लॉक कर दिया क्योंकि उन्होंने ऐसा समाचार साझा किया था जो डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्यों को पसंद नहीं आया।’’ अगर किसी का ट्विटर एकाउंट लॉक किया जाता है जो उसके फीचर सीमित कर दिए जाते हैं। आयोवा में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा, ‘‘उन्होंने उनका (मैकनेनी) अकाउंट बंद कर दिया। वह व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव हैं। चूंकि वह सच बता रही थीं, इसलिए उन्होंने उनका अकाउंट बंद कर दिया। देखते हैं कि अब क्या होता है।’’ 

ट्रंप ने कहा, ‘‘एक अच्छे अखबार द्वारा प्रकाशित विस्फोटक दस्तावेजों से हमें पता चला कि जो बाइडेन अपने बेटे के भ्रष्ट कारोबारी लेनदेन में अपनी भागीदारी के बारे में साफ झूठ बोलते आए।’’ उन्होंने कहा,‘‘हाल में सामने आई ई-मेल से खुलासा हुआ कि यूक्रेन की कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने हंटर को 50,000 डॉलर का मासिक भुगतान किया लेकिन अब ऐसा लगा रहा है कि उन्हें 183,000 डॉलर का मासिक भुगतान किया गया और यह बहुत बड़ी रकम है।’’ 

राष्ट्रपति ने दावा किया, ‘‘तथ्य यह है कि उन्हें (हंटर को) ऊर्जा क्षेत्र की कोई जानकारी और उससे जुड़ा कोई अनुभव नहीं है। फिर भी अधिकारी ने हंटर से उप राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात करवाने को कहा।’’ व्हाइट हाउस के आधिकारिक अकाउंट से मैकनेनी ने ट्वीट किया,‘‘सेंसरशीप की निंदा की जानी चाहिए’’ और यह ‘‘अमेरिकी तरीका’’ नहीं है।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X