1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. गैलरी
  4. इनक्रेडिबल इंडिय
  5. दिल्ली के बेहद करीब बने 10 खूबसूरत हिल स्टेशन

दिल्ली के बेहद करीब बने 10 खूबसूरत हिल स्टेशन

India TV News Desk India TV News Desk
Updated on: June 06, 2016 11:16 IST
  • ऋषिकेश अपने सौन्दर्य के साथ आध्यात्म का केंद्र कहलाता है, गंगा नदी के तट पर स्थित यह शहर साधुओं, योग, ध्यान व आयुर्वेद का भी केन्द्र  है। यह एडवेंचर स्पोर्ट्स के हब के रुप में भी जाना जाता है। आध्यात्म और एडवेंचर के अलावा यहां पर हर जगह के जायके का भी स्वाद ले सकते हैं।
    ऋषिकेश अपने सौन्दर्य के साथ आध्यात्म का केंद्र कहलाता है, गंगा नदी के तट पर स्थित यह शहर साधुओं, योग, ध्यान व आयुर्वेद का भी केन्द्र है। यह एडवेंचर स्पोर्ट्स के हब के रुप में भी जाना जाता है। आध्यात्म और एडवेंचर के अलावा यहां पर हर जगह के जायके का भी स्वाद ले सकते हैं।
  • रानीखेत:  दिल्ली से 279 किमी दूर व समुद्र तल से 1,869 मीटर की दूरी पर स्थित है। रानीखेत आसपास के घने जंगलों, वन्य जीवों, झूला देवी मन्दिर, राम मन्दिर के लिए अत्यधिक प्रसिद्ध है। रानीखेत का वातावरण गर्मियों में सामान्य रहता है।
    रानीखेत: दिल्ली से 279 किमी दूर व समुद्र तल से 1,869 मीटर की दूरी पर स्थित है। रानीखेत आसपास के घने जंगलों, वन्य जीवों, झूला देवी मन्दिर, राम मन्दिर के लिए अत्यधिक प्रसिद्ध है। रानीखेत का वातावरण गर्मियों में सामान्य रहता है।
  • मसूरी:  इसे लोग पर्वतों की रानी के नाम से भी जानते हैं, इसका प्राकृतिक सौन्दर्य व मनोरम जलवायु लोगों के आकर्षण का केन्द्र है। शिवालिक पर्वतमाला व दून घाटी इसे और भी सुन्दर व आकर्षक बनाती है। लोग यहां पर ट्रेकिंग, नौका विहार, रोपवे सवारी करने के लिए आते हैं।
    मसूरी: इसे लोग पर्वतों की रानी के नाम से भी जानते हैं, इसका प्राकृतिक सौन्दर्य व मनोरम जलवायु लोगों के आकर्षण का केन्द्र है। शिवालिक पर्वतमाला व दून घाटी इसे और भी सुन्दर व आकर्षक बनाती है। लोग यहां पर ट्रेकिंग, नौका विहार, रोपवे सवारी करने के लिए आते हैं।
  •  कुफरी:   हिमाचल प्रदेश का एक और जीवंत और मनोरम कुफरी शहर शिमला से केवल 13 किमी की दूरी पर स्थित है। वन्य जीव प्रेमियों के लिए और अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए सबसे अच्छी जगह है। यहां के साहसिक खेल, याक सफारी व चिडियाघर लोगों को अत्यधिक आकर्षित करते हैं।
    कुफरी: हिमाचल प्रदेश का एक और जीवंत और मनोरम कुफरी शहर शिमला से केवल 13 किमी की दूरी पर स्थित है। वन्य जीव प्रेमियों के लिए और अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए सबसे अच्छी जगह है। यहां के साहसिक खेल, याक सफारी व चिडियाघर लोगों को अत्यधिक आकर्षित करते हैं।
  • उत्तराखंड की राजधानी देहरादून, दिल्ली के पास की सबसे शान्त जगह है। इसकी पर्वतीय व प्राकृतिक सुन्दरता एवम शान्त वातावरण लोगों के आकर्षण का केन्द्र है, इसके अलावा राजाजी नेशनल पार्क, तपकेश्वर मन्दिर व वन अनुसंधान संस्थान भी लोगों के आकर्षण का केन्द्र है। यहां के मोमोज लोगों को अत्यधिक पसंद है।
    उत्तराखंड की राजधानी देहरादून, दिल्ली के पास की सबसे शान्त जगह है। इसकी पर्वतीय व प्राकृतिक सुन्दरता एवम शान्त वातावरण लोगों के आकर्षण का केन्द्र है, इसके अलावा राजाजी नेशनल पार्क, तपकेश्वर मन्दिर व वन अनुसंधान संस्थान भी लोगों के आकर्षण का केन्द्र है। यहां के मोमोज लोगों को अत्यधिक पसंद है।
  • डलहौजी में आप ढलान और फूलों की तलहटी पर व बर्फ की पहाडियों से ढका हआ एक मनोरम शहर है, यहां की प्राकृतिक सुन्दरता व सुखदायक वातावरण लोगों को अपनी ओर अत्यधिक आकर्षित करता है। यहां पर पांच विभिन्न प्रकार की पहाड़ियां शामिल हैं। यह सुन्दर चंबा घाटी का प्रवेश द्वार है।
    डलहौजी में आप ढलान और फूलों की तलहटी पर व बर्फ की पहाडियों से ढका हआ एक मनोरम शहर है, यहां की प्राकृतिक सुन्दरता व सुखदायक वातावरण लोगों को अपनी ओर अत्यधिक आकर्षित करता है। यहां पर पांच विभिन्न प्रकार की पहाड़ियां शामिल हैं। यह सुन्दर चंबा घाटी का प्रवेश द्वार है।
  • भीमताल सुन्दर झील और सुरम्य वातावरण के लिए प्रसिद्ध है, यह शहर समुद्र से 1370 मीटर ऊपर व घने जंगलो से घिरा हुआ शहर है। भीमताल में प्रकृति के साथ प्राचीन मन्दिरों के भी अद्भुत दर्शन होते हैं। भीमताल में आप चाइनीज, मैक्सिकन और कॉन्टिनेन्टल जायकों का आन्नद ले सकते हैं
    भीमताल सुन्दर झील और सुरम्य वातावरण के लिए प्रसिद्ध है, यह शहर समुद्र से 1370 मीटर ऊपर व घने जंगलो से घिरा हुआ शहर है। भीमताल में प्रकृति के साथ प्राचीन मन्दिरों के भी अद्भुत दर्शन होते हैं। भीमताल में आप चाइनीज, मैक्सिकन और कॉन्टिनेन्टल जायकों का आन्नद ले सकते हैं
  • कसौल बर्फ से ढका, साफ नीले आसमान को पहने हुए हिमालय की बहुत खूबसूरत जगह है, पार्वती घाटी की गोद में बसी यह जगह ट्रेकर और बैकपेपर के लिए वरदान है। लोग यहां पर शहर के शोरशराबे से दूर आराम करने के लिए आते हैं। यहां पर घूमने के लिए कई पुराने चर्च है।
    कसौल बर्फ से ढका, साफ नीले आसमान को पहने हुए हिमालय की बहुत खूबसूरत जगह है, पार्वती घाटी की गोद में बसी यह जगह ट्रेकर और बैकपेपर के लिए वरदान है। लोग यहां पर शहर के शोरशराबे से दूर आराम करने के लिए आते हैं। यहां पर घूमने के लिए कई पुराने चर्च है।
  • कोसानी उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में स्थित व 1,890 मीटर का ऊंचाई में स्थित है, यहां पर सर्वोपरि चोटियों के दर्शन करने को मिलते हैं। यहां पर चाय के बागान, प्राचीन मन्दिर व आश्रम देखने को मिलेंगे। जुलाई से सितम्बर व दिसम्बर से जनवरी यहां पर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय है।
    कोसानी उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में स्थित व 1,890 मीटर का ऊंचाई में स्थित है, यहां पर सर्वोपरि चोटियों के दर्शन करने को मिलते हैं। यहां पर चाय के बागान, प्राचीन मन्दिर व आश्रम देखने को मिलेंगे। जुलाई से सितम्बर व दिसम्बर से जनवरी यहां पर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय है।
  • हरिद्वार अपने घाटों व मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है, यह शहर आध्यात्म व धार्मिक महत्व के कारण त्योहारों में लोगों को बड़ी संख्या में आकर्षित करता है। शहर आयुर्वेदिक उपचार व योग के लिए भी प्रसिद्ध है। यह शहर अपने शाकाहारी भोजन के लिए भी जाना जाता है।
    हरिद्वार अपने घाटों व मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है, यह शहर आध्यात्म व धार्मिक महत्व के कारण त्योहारों में लोगों को बड़ी संख्या में आकर्षित करता है। शहर आयुर्वेदिक उपचार व योग के लिए भी प्रसिद्ध है। यह शहर अपने शाकाहारी भोजन के लिए भी जाना जाता है।
navratri-2022